अकबर-बीरबल की कहानी: सबसे खूबसूरत बच्चा Akbar Birbal Story Beautiful Child in Hindi

Akbar Birbal Story Beautiful Child in Hindi

एक बार की बात हैं, बादशाह अकबर अपने शहजादे के साथ दरबार में पहुंचे। उनका शहज़ादा उनकी गोद में खेल रहा था जिसे देख दरबार में मौजूद हर कोई कह रहा था कि शहजादा दुनिया का सबसे खूबसूरत बच्चा है। सभी की बात सुनकर बादशाह अकबर ने भी कहा कि उनका शहजादा दुनिया का सबसे सुंदर बच्चा है. अकबर की इस बात पर सभी हामी भरते हैं, सिवा बीरबल के, तभी अकबर बीरबल से पूछते हैं कि तुम्हारा इस बारे में क्या कहना है, तुम चुप क्यों हो?

बीरबल : महाराज, शहजादा सुंदर है, लेकिन मेरे ख्याल से शहजादा पूरी दुनिया का सबसे सुंदर बच्चा नहीं है।

अकबर: तो तुम्हारे कहने का क्या मतलब है कि शहजादा सुंदर नहीं है?

बीरबल : नहीं नहीं, जहांपनाह मेरा कहने का मतलब यह नहीं था। आप मेरी बात का गलत मतलब न निकालें। हमारा शहजादा बहुत खूबसूरत है, लेकिन दुनिया में और भी सुंदर बच्चे होंगे।

अकबर : तो क्या हम यह समझें कि पूरी दुनिया का सबसे सुंदर बच्चा हमारा शहजादा नहीं है।

बीरबल : जी जहांपनाह, मेरी बातों का यही मतलब है।

अकबर : बीरबल अगर तुम्हारा यह कहना है कि दुनिया में शहजादे से भी ज्यादा खूबसूरत बच्चा है, तो तुम उसे हमारे समक्ष लेकर आओ।

बादशाह के आदेश पर बीरबल शहजादे से ज्यादा सुंदर बच्चे की तलाश में निकल जाता है। कुछ समय बीतने के बाद बीरबल राज दरबार आता है। बीरबल राज-दरबार में अकेले आता है, यह देख कर बादशाह कहता है, ‘क्यों बीरबल अकेले आये हो, मतलब तुम्हें शहजादे से अधिक खूबसूरत बच्चा नहीं मिला?’

बीरबल : जहांपनाह, मैं आपको इस बात की सूचना देने आया हूं कि मैंने शहजादे से भी अधिक सुंदर बच्चा खोज लिया है।

अकबर : अगर बच्चा मिल गया है, तो तुम उसे दरबार में क्यों नहीं लाए?

बीरबल : मैं उसे दरबार में लेकर नहीं आ सकता हूं, लेकिन मैं आपको उस तक लेकर जरूर जा सकता हूं।

अकबर : ऐसा कौन-सा कारण है, जिसकी वजह से तुम उसे दरबार में नहीं ला सकते?

बीरबल : यह तो आपको वहां जाकर ही पता चलेगा।

अकबर : ठीक है फिर, हम कल सुबह उस बच्चे को देखने जाएंगे।

बीरबल : जहांपनाह, उस बच्चे को देखने जाने के लिए हमे अपना भेष बदलना होगा।

अकबर: ठीक हैं बीरबल, उस बच्चे से मिलने के लिए हम यह भी कर लेंगे।

अगले दिन बादशाह अकबर और बीरबल अपना भेष बदलकर उस बच्चे को देखने के लिए चले जाते हैं। बीरबल अकबर को एक झोपड़ी में लेकर जाता है, जहां एक छोटा-सा बच्चा मिट्टी के साथ खेल रहा होता है।

बीरबल: बच्चे की ओर इसरा करते हुए, कहता है कि वो रहा सबसे सुंदर बच्चा।

अकबर: बीरबल, तुम्हारी यह हिम्मत कि तुमने एक बदसूरत और झोपड़ी में रहने वाले बच्चे को संसार का सबसे सुंदर बच्चा बता दिया।

अकबर की बातें सुनकर वह बच्चा जोर-जोर से रोने लगता है, जिसे सुनकर उसकी मां झोपड़ी के अंदर से आती है और अकबर को गुस्से में कहती है, ‘तुमने मेरे बच्चे को बदसूरत कैसे कह दिया? मेरा बच्चा संसार का सबसे सुंदर बच्चा है। अगर दोबारा मेरे बच्चे को बदसूरत कहा, तो मैं तुम दोनों की हड्डी-पसली एक कर दूंगी। यहां से चले जाओ और दोबारा यहां दिखाई नहीं देना।’ इतना कहने के बाद वो मां अपने बच्चे को खिलाने लगती है और कहती है, ‘मेरा बच्चा संसार का सबसे सुंदर बच्चा है।’ बादशाह अकबर उस मां की बात सुनकर खामोश हो जाते हैं।

बीरबल: जहांपनाह, अब आपको सब समझ में आ गया होगा। बच्चा कैसा भी हो, माता-पिता के लिए उनका बच्चा संसार का सबसे सुंदर बच्चा ही होता है।

अकबर: हां, अब मैं अच्छे से समझ गया हूं। बीरबल तुम सही बोल रहे हो, हर माता-पिता के लिए उनका बच्चा सुंदर ही होता है। बीरबल तुमने एक बार फिर हमारा दिल जीत लिया।

%d bloggers like this: