किन्नर की दुनिया जन्म से मौत तक – Kinner Life & Death Story in Hindi

Hum aapke liye laye hai Kinner ki Life Story in Hindi aur Kinner Death Story in Hindi taki aap jaan sake ki kinner ke janm se maut tak ka safar kaisa hota hai.

Kinner Life Story in Hindi

ज़्यादातर लोग किन्नर की ज़िन्दगी और मौत से जुड़े पहलु नहीं जानते। आज भी भारतीय समाज में किन्नर की ज़िन्दगी एक रहस्य बानी हुई है लेकिन हम इस पोस्ट के ज़रिये आपको किन्नर की ज़िन्दगी से लेकर मौत तक की पूरी कहानी बताने जा रहे है.

कैसे होता है किन्नर का जन्म ?

Kinner Life Story in Hindi – भ्रूण के विकास के दौरान अगर शुक्राणु अस्पष्ट रूप से अंडे में हो तो किन्नर का जन्म होता है. किन्नर में एक औरत और मर्द की विशेषताएं होती है यानी किन्नरों में लिंग और योनि दोनों होती है लेकिन उनमे असामान्य सेक्स हॉर्मोन होते है जिसकी वजह से वे ना तो औरत में गिने जाते है और न मर्दो में. ज़्यादातर किन्नर मर्द की तरह दीखते है लेकिन उनका शरीर एक औरत की तरह होता है. भारतीय इतिहास में किन्नर पुरातनकाल से मुजूद है. ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति अपने इस जन्म में बहुत ज़्यादा पाप करता है वो अगले जन्म में किन्नर के रूप में पैदा होता है. Kinner Death Story in Hindi

किन्नर का आशीर्वाद

Kinner ki Life Story – किन्नर यदि किसी को दिल से आशीर्वाद दे दें तो उसके लिए बहुत शुभ होता है. इसीलिए किन्नर हमेशा शादी में नए जोड़े और बच्चे के जन्म के समय उसे अपना आशीर्वाद देने आते है. घर में आये किन्नर को कभी खाली हाथ नहीं भेजना चाहिए.

कई लोग अपनी मर्जी से भी किन्नर बनते है

Kinner Life Story in Hindi

जी हाँ, ये सुनने में थोड़ा अजीब है लेकिन सच है. कई लोग अपनी मर्जी से भी किन्नर बनते है और इसका भी एक अनुष्ठान है. इस रिवाज़ के अनुसार नपुंसक मर्द किन्नरों के पास जाता है और उनसे अनुरोध करता है कि किन्नर उसे अपना चेला बना ले. फिर रीती रिवाज़ो के अनुसार उस नपुंसक मर्द को औरत के कपडे व पूरा साज सिंगार करके कमाख्या माता की पूजा में बैठना होता है. भारत में कई ऐसे किस्से देखने को मिले है जिनमे एक मर्द को किन्नर बनाया जाता है. यही नहीं कई मर्द सर्जरी का सहारा लेकर अपना लिंग शरीर से निकलवा देते है ताकि वे पूरी तरह किन्नर बन सके. नीचे हमने दो videos दिखाई है जिससे आपको पता चल जाएगा कि कैसे किसी मर्द को किन्नर बनाया जाता है. 

किन्नर को अपनी मौत का पता चल जाता है

Kinner Death Story in Hindi

शायद कई लोगों को विश्वास ना हो लेकिन ये सच है कि किन्नर को अपनी आने वाली मौत का पहले से एहसास हो जाता है. जब भी किसी किन्नर को एहसास हो कि अब वो इस दुनिया को अलविदा कहने वाला है, वो अकेले रहने लगता है और ज़्यादातर समय घर के कोने में बैठा रहता है और भगवान् को याद करता रहता है. वो कुछ खाता नहीं और ना ही किसी से बात करता है, बस पूरा दिन भगवान् से प्रार्थना करता है कि अगले जन्म में उसे किन्नर ना बनाये. Ye thi kinner ki death ki kahani.

किन्नर की मौत का रहस्य

Kinner Life Story in Hindi

किन्नर का जनाज़ा रात के वक़्त निकाला जाता है ताकि कोई देख ना सके. किन्नर की मौत के दौरान किन्नर समाज शमशान घाट में पहले से सूचित कर देते है कि उस समय वहा कोई ना हो. मृत किन्नर को चप्पल से मारने का रिवाज़ भी है लेकिन अब ये कम हो गया है. अगर कोई हिन्दू किन्नर हो तो उसे सभी हिन्दू रीती रिवाज़ो की तरह अग्नि दी जाती है. ऐसा माना जाता है कि अगर कोई व्यक्ति किन्नर की आखिरी यात्रा देख ले तो उसके लिए बहुत शुभ होता है. किन्नर की मौत पर उसके साथ रहने वाले सभी किन्नर मित्र भगवान् से प्रार्थना करते है कि इस आत्मा को दोबारा किन्नर का शरीर ना दे. Kinner Death Story in Hindi

इसमें कोई दोराय नहीं कि किन्नर को आज भी समाज में अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता, हालाँकि लोगों का नजरिया किन्नरों के प्रति बदल रहा है लेकिन अभी भी बहुत सा बदलाव होना बाकी है. किन्नर समाज को लोगों और सरकार का समर्थन होना चाहिए ताकि ये लोग भी समाज में फल फूल सके.

Friends ye thi janm se maut tak kinner life story in Hindi. Agar aapko life aur Kinner death story in Hindi acchi lagi to SHARE zarur kare. Apke pas bhi is tarah ki kahaani ho to hame send, publish kiya jayega.

%d bloggers like this: