कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा मैंने

कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा मैंने

रहकर तुझसे दूर कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा मैंने ना होंठ हिले;
ना आवाज़ आई फिर भी हर वक़्त तुझको पुकारा मैंने !!

Rahkar Tumse Dur Kuchh Yu Wakt Gujara Maine;
Na Hoth Hile Na Aawaz I Fir Bhi Har Wakt Tujhko Pukara Maine !!

Leave a Reply

%d bloggers like this: