तुम्हारे जैसा कोई नहीं – Motivational Hindi Story for Class 5

Friends ye motivational Hindi story for class 5 un sabhi students ke liye hai jo is samay apni padhai kar rahe hai. Ye story read karne ke baad aapko motivation jarur milegi. Is kahani ko akhiri tak zarur padhiye aur har bacche ke saath share kare.

Hindi Story for Class 5

एक बार एक स्कूल के प्रिंसिपल पांचवीं क्लास में आये. वो फ्री पीरियड था इसलिए प्रिंसिपल साहब ने सोचा क्यों न बच्चो के साथ कुछ बाते करे.

प्रिंसिपल साहब पांचवीं क्लास में दाखिल हुए, सब बच्चे हैरान थे कि आज प्रिंसिपल सर पीरियड लने कैसे आ गए. क्लास पूरी भरी हुई थी और प्रिंसिपल डर से एक तिनके की आवाज़ भी नहीं आ रही थी.

तभी प्रिंसिपल सर ने अपनी जेब से 2000 रुपये का नोट निकाला और हाथ ऊपर कर के बच्चो को दिखाया और कहा “बच्चो…ये 2000 रुपये कौन लेना चाहता है. सभी बच्चे हैरान थे और ख़ुशी में लगभग सबने अपना हाथ ऊपर कर दिया. प्रिंसिपल ने कहा “अरे…वाह सभी बच्चे इस नोट को लेना चाहते है लेकिन मैं ये किसी एक को ही दे सकता हू, अब देखते है किसे मिलेगा ये 2000 रुपये का नोट”

तुम्हारे जैसा कोई नहीं – Motivational Hindi Story for Class 5

Hindi Story for Class 5

इतना बोलकर प्रिंसिपल सर ने उस 2000 रुपये के नोट को अपने हाथो से मसल दिया और फिर कहा “अब कौन कौन इस नोट को लेना चाहता है?”

फिर लगभग सभी बच्चो ने अपने हाथ खड़े कर दिए. साफ़ था कि वो मसला हुआ नोट भी हर कोई लेना चाहता था.

उसके बाद प्रिंसिपल साहब ने उस 2000 के नोट को अपने पैरो से रौंद दिया. अब वो 2000 रुपये का नोट काफी गन्दा हो चूका था और एक बार फिर प्रिंसिपल सर ने बच्चो को पुछा ” अब भी कोई है जो इस नोट को लेना चाहता है?”

Hindi Story for Class 5

एक बार फिर सभी बच्चो ने हाथ ऊपर खड़े कर दिए.

अब प्रिंसिपल साहब ने बच्चो से जो कहा उसे सुन कर हर बच्चे के आँखों में ख़ुशी आ गयी. प्रिंसिपल ने कहा ” बच्चो तुम भी इस नोट की तरह हो… तुम्हारे जीवन में चाहे कितनी भी मुश्किलें दिक्कते आये तुम्हारी कीमत कभी कम नहीं होगी. मैंने इस 2000 के नोट को मसल दिया, गन्दा कर दिया लेकिन फिर भी इसकी कीमत कम नहीं हुई. इस दुनिया में ज़्यादातर लोग एक – दो नाकामयाबियों के बाद थक जाते है, हार मान लेते है और सिर्फ 1 प्रतिशत लोग ही अपना संघर्ष, अपनी कोशिशे जारी रखते है. तुम्हे उस 1 प्रतिशत में आना है.  जीवन में चाहे कुछ भी हो जाए, अपने कीमत कभी ना भूले और लगातार कोशिश करते रहे. हमेशा याद रखे कि इस दुनिया में आपके जैसा कोई नहीं, कोशिशों के बल पर आप कोई भी मुकाम हासिल कर सकते है. ऐसा कुछ भी नहीं इस दुनिया में जो आप नहीं कर सकते.

इसके बाद प्रिंसिपल ने बताया कि जीवन में अनुशासन बनाये और अपने लक्ष्य को सुबह उठते ही याद रखे ताकि आप कभी भी अपने लक्ष्य से भटके ना.

दोस्तों, ये Hindi Story for Class 5 हर किसी को याद रखनी चाहिए. अपना मूल्य कभी भी गिरने ना दे और हमेशा अपना लक्ष्य पाने की कोशिश कभी ना छोड़े।

धन्यवाद

%d bloggers like this: