नहीं रही कोई आरज़ू दिल में, जब मेरे पास तुम हो

सफर सुहाना जो तुम साथ हो,
रहूँ दीवाना जो हाथों में हाथ हो
बस नहीं रही कोई आरज़ू दिल में,
जबसे मान लिया हमने मेरे पास तुम हो

~ Shahezad

%d bloggers like this: