मजबूरी में करना पड़ा गन्दा काम – Student Struggle Story in Hindi

Student Struggle Story in Hindi 

Submitted by : Nisha Dhaan

Frends, ye brave student story in Hindi kahani hai sangharsh ki, Sangharsh ek student ka. Har saal kai Indian students padhne ke liye apni city chod kar kisi dusre shehar jaate hai. Kai to successful ho jaate hai lekin kuch nahi. Aisi hi ek Student Life story in Hindi hum aapke liye lekar aaye hai jisme humne ek student ke sangharsh ko darshaya hai. We hope ki aapko ye kahani acchi lagegi.

Student Struggle Story in Hindi

Student Struggle Story in Hindi

मेरा नाम निशा धान (नाम बदला हुआ है) है और मैं हिमाचल के एक छोटे से गाँव से हूँ. मैं 2014 में चंडीगढ़ पढ़ने के लिए आयी थी. जब पहली बार इस शहर में आयी तो यहाँ की चकाचौंध देखकर दंग रह गयी. ऐसा लगता है यहाँ सब अमीर है, कोई गरीब नहीं। बड़ी बड़ी गाड़ियां और बड़ी बड़ी कोठियां देख कर मैं तो हैरान रह गयी थी. वाकई मुझे लगता है चंडीगढ़ शहर है करोड़पतियों का और गरीबो के लिए यहाँ कोई जगह नहीं.  

Student Struggle Story in Hindi

आपको बता दू कि मैं एक गरीब परिवार से हू और मेरे घरवालों ने मुझ बड़ी मुश्किल से 12 वीं तक पढ़ाया था. जब मैं पहली बार चंडीगढ़ आयी थी तो मेरा गुज़ारा बड़ी मुश्किल से होता था. मैंने अपने घरवालों को कई बार कहा कि मुझे महीने के थोड़े ज़्यादा पैसे भजा कर लेकिन वो हमेशा मुझे बोल देते कि घर में बहुत तंगी है, किसी तरह अपना गुज़ारा कर लो. मैंने किराये पर एक घर ले रखा था और मेरे साथ एक और लड़की रहती थी. उसने मुझे सलाह दी कि कोई पार्ट टाइम नौकरी कर लो. मैं पार्ट टाइम नौकरी के लिए एक शोरूम में भी गयी लेकिन हर एक ने मुझे यही कहा कि कम से कम 6 घंटे नौकरी करनी पड़ेगी. अब अगर मैं 6 घंटे नौकरी करुँगी तो पढूंगी कब??

Student Struggle Story in Hindi

मैंने जैसे तैसे एक महीना तो काट लिया, दूसरे महीने फिर पैसो की तंगी आ गयी. थक हार कर मैंने चंडीगढ़ में पढ़ने का इरादा छोड़ दिया और घर जाने की तैयारी करने लगी. जब मैं घर जाने के लिए अपना बैग बाँध रही थी तो मेरी rommate ने मुझे कहा “निशा… 2 दिन और रुक जाओ, मैं कुछ करती हू”

Student Struggle Story in Hindi

मुझे लगा की शायद मेरी rommate मेरे लिए कोई अच्छी नौकरी का इंतज़ाम कर ही दे. बस ये सोच कर मैं रुक गयी. अगले ही दिन मेरी rommate मुझे एक आंटी के पास लेकर गयी. वो आंटी देखने में बहुत सुन्दर तह, मेक उप भी अच्छा किया हुआ था. मैंने और मेरी फ्रेंड को उस आंटी ने बैठने के लिए कहा. हम बैठ गए और फिर वो आंटी 10 मिनट के बाद हमारे पास आयी और मेरी फ्रेंड को बोली ” हां बताओ कैसे आना हुआ?”

Student Struggle Story in Hindi

मेरी फ्रेंड ने बताया कि ये मेरी निशा है और इसे पैसो की ज़रूरत है. उसके बाद उस आंटी ने मुझे जो कहा वो सुन कर मेरे होश उड़ गए….

उस आंटी ने कहा ” देखो निशा…अगर तुम्हे पैसो की ज़रूरत है तो तुम बहुत कमा सकती हो लेकिन थोड़ा कोम्प्रोमाईज़ करना पड़ता है. मेरे पास कई अमीरज़ादे आते है जो सुन्दर लड़कियों के साथ रात बिताने के इच्छुक होते है. अगर तुम ये कर सकती हो तो एक महीने के 30 से 50 हज़ार रुपये कमा सकती हो.”

Student Struggle Story in Hindi

ये सुन कर मैंने अपनी फ्रेंड को फ़ौरन कहा “अरे तुम मुझे ये कहा ले आयी?”

मेरी फ्रेंड ने मुझे समझते हुए कहा “देखो निशा..इसमें कुछ गलत नहीं. चंडीगढ़ में जिन लड़कियों को पैसो की ज़रूरत होती है वो ये सब करती है और ये बड़ी आम बात है. इसमें को रिस्क नहीं और जब तुम को अच्छी नौकरी ढूंढ लोगी तो छोड़ देना ये सब. जब मैं चंडीगढ़  नयी नयी आयी थी तो मैंने भी किया था ये.”

मैंने आंटी को कहा कि मुझे सोचने का टाइम चाहिए। हम घर आ गए और बहुत सोचने के बाद मैंने ये काम करने का फैसला कर लिया क्यूंकि मैं जानती थी कि घर से मुझे कोई ख़ास financial support नहीं होगी, इसलिए थोड़े टाइम तक क्यों ना ये काम कर लिया जाए.

Student Struggle Story in Hindi

मैंने पूरे एक साल तक ये काम किया और आज मैंने एक अच्छी कंपनी में नौकरी करती हू लेकिन जब भी मैं अपनी स्टूडेंट लाइफ के स्ट्रगल के बारे में सोचती हू तो मुझे एहसास होता है कि कुछ पाने के लिए मैंने बहुत कुछ खो दिया. सिर्फ चंडीगढ़ ही नहीं बल्कि बड़े बड़े शहरों में लड़कियों ज़्यादा पैसे कमाने के लिए ये रास्ता चुन तो लेती है लेकिन उन्हें इस बात का एहसास नहीं होता कि कई बार इस रास्ते पर चलकर उनकी पूरी ज़िन्दगी भी बर्बाद हो सकती है.

मैं खुद को लकी समझती हू जो इस दलदल से सही वक़्त पर निकल गयी लेकिन सभी लड़कियों के साथ ऐसा नहीं होता.

%d bloggers like this: