वैलेंटाइन डे का इतिहास | वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

Public Post valentines day

वैलेंटाइन डे का इतिहास | वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

Valentine History in Hindi - वैलेंटाइन डे का इतिहास | वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

वैलेंटाइन डे उस दिन के रूप में मनाया जाता है जिस दिन लोग अपने प्यार का इज़हार करते है। कुछ सालो में इस दिन का क्रेज बहुत ज्यादा बढ़ गया है। युवा वर्ग इस दिन का ख़ास इंतज़ार करते है ताकि वो अपने प्यार का इज़हार कर सके। लगभग पूरा युवा वर्ग इस दिन के बारे में जानता है लेकिन अगर उनसे पुछा जाए कि वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है तो ज्यादातर उत्तर ये ही मिलेगा कि पता नही। त्यौहार मना रहे है लेकिन क्यों ये पता नही है कि क्यों मना रहे है। अगर आप भी उनमे से है जिसे नही पता तो ये पोस्ट आप अंत तक जरुर पढ़े, ताकि जब आपका प्यार आपसे ये सवाल करे तो आपके पास इसका सही जवाब हो।
वैलेंटाइन डे 14 फरवरी को मनाया जाता है। ये वो दिन है जिस दिन पूरी दुनिया में आपको प्रेमी जोड़े इस दिन को सेलिब्रेट करते दिख जाएंगे।

वैलेंटाइन डे का इतिहास

वैलेंटाइन डे को मनाने के पीछे कई प्रचलित कहानियां और इतिहास है, चलिए इसके इतिहास को खंगालते है।
बात उस समय की है जब रोम साम्राज्य में क्लाउडियस गोथिकस द्वितीय नाम का राजा हुआ करता था। ऐसा माना जाता है कि ये राजा प्यार और शादी के पक्ष में नही था। राजा को लगता था कि जो लोग प्यार और शादी के चक्करों में पड़ते है वो अपने लक्ष्य और उद्देश्य से भटक जाते है। इस बात का पक्षधर होने के कारण उसने अपने सेना के सभी सैनिको को शादी करने से रोकने के लिए शादी न करने का कानून बना दिया।
इस राज्य में एक संत हुए जिनका नाम था वैलेंटाइन। उन्होंने राजा के इस कानून का विरोध किया। राजा ने उनके आदेश के विरोध में खड़े उस संत को मरवा दिया। जिस दिन उनको मरवाया गया था वो दिन था १४ फरवरी २०६९ एडी का। वैलेंटाइन संत के इस बलिदान को तभी से वैलेंटाइन डे के रूप में मनाया जाता है।

वैलेंटाइन डे किस लिए मनाया जाता है –

इसके पीछे एक और कहानी प्रचलित है। कहानी के अनुसार संत वैलेंटाइन जब जेल में बंद थे तब उन्होंने जेलर की पुत्री को एक ख़त लिखा था जिसमे आखिर मे लिखा था फ्रॉम योर वैलेंटाइन। जेलर की बेटी अंधी थी और वो वैलेंटाइन संत को फॉलो करती थी और ऐसा भी कहा जाता है वैलेंटाइन की प्रार्थना और चमत्कार से उनकी आँखों की रौशनी वापिस आ गयी थी। कुछ समय बाद उन्हें फंसी दे दी गई और तभी से इसे प्यार के दिन यानी वैलेंटाइन डे के रूप में मनाया जाता है।

वैलेंटाइन डे क्यों मनाया जाता है

इसके पीछे एक और कहानी है।
रोम का राजा एक स्ट्रोंग सेना बनाना चाहता था लेकिन उसे लगा परिवार वाले लोग और प्यार करने वाले लोग उसकी सेना में आना नही चाहते है। अपनी सेना को स्ट्रोंग बनाने के लिए उसने एक कानून बनाया जिसके अनुसार उसने सैनिको की शादी पर रोक लगा दी। ये कानून किसी को पसंद नही आया लेकिन राजा के डर से किसी ने इस बात का विरोध नही किया। इस समय सिर्फ संत वैलेंटाइन थे जिन्होंने इस बात का विरोध किया। ऐसा माना जाता है उन्होंने एक प्रेमी युगल की शादी चुप चाप करा दी थी जिसकी खबर राजा को लग गयी और उसने वैलेंटाइन को फांसी की सजा दे दी। जेल में उन्होंने प्यार करने वाले के लिए एक पत्र लिखा। तभी से इस दिन को वैलेंटाइन दे के रूप में मनाया जाता है।