हास्ये रस – Funny and Hilarious Shayari

इश्क़ ने इतना निकम्मा कर दिया
 

इश्क़ ने इतना निकम्मा कर दिया , ग़ालिब
माशूक़ का कुता भी अज़ीज़ हो गया .!
कम्बखत काटता है तो ,
उस में भी एक पैगाम नज़र आता है .!!


लोग इश्क़ करते हैं
 

लोग इश्क़ करते हैं बड़े शोक के साथ
हमने भी किया बड़े ज़ोरो के साथ ,
लकिन अब करेंगे थोड़े गौर के साथ ,
क्योंकि कल उसे देखा किसी और के साथ


खुदा माफ़ करे
 

हम हो गए तुम्हारे तुम्हे सोचने के बाद ,
अब न देखेंगे किसी को तुम्हे देखने के बाद ,
दुनिया छोड़ देंगे तुम्हे छोड़ने के बाद
खुदा माफ़ करे इतने झूठ बोलने के बाद


वाह री तेरी मुहब्बत
 

वाह री तेरी मुहब्बत की अंगड़ाई ,
खुद बैठी रहो सखियों में .!
और हम खुद को बस कटवाएं ,
इन भूखे मचारों में .!!

Leave a Reply