Best 55+ Ansh Pandit Shayari With Images | अंश पंडित शायरी

हेलो दोस्तों अगर आप गूगल पर Ansh Pandit Shayari ढूंढ रहे हैं तो आप सही वेबसाइट पर आये हैं. इस वेबसाइट में आपको अंश पंडित की Love, Maa, Girl, Sad और Breakup पर शायरी का कलेक्शन मिलेगा. इस पोस्ट के एन्ड में इससे Related Post मिलेंगी आप उनको भी पढ़ सकते हैं.

Best 55+ Ansh Pandit Shayari With Images | अंश पंडित शायरी

Ansh Pandit Shayari Love

नफरतों की दीवार ऊंची कर लो
मेरे चाहने वालो की कतार लंबी हैं !!

देर से सही मगर ये लोग बदलते जरूर है
हम सही हो या गलत ये लोग परखते जरूर है !!

परख ना सकोगे ऐसी शख्सियत है मेरी
मैं उन्हीं के लिए हूं जो जाने कदर मेरी !!

छोटा सा नाम है पर मायने बहुत है
मासूम सा चेहरा लेकिन
चाहने वाले बहुत है !!

मेरे साथ जब मैं खुद खड़ा होता हूँ
तब मैं क़यामत के हर तूफ़ान से
बड़ा होता हूँ !!

वो वक़्त खेल का था जो बीत गया
अब हम खेलेंगे और वक़्त देखेगा !!

तबाहियो का दौर है साहब
शांति की उम्मीद हमसे ना रखो !!

बेवक़्त बेवजह बेहिसाब मुस्कुरा देता हूं
आधे दुश्मनों को तो यू ही जला देता हूं !!

Ansh Pandit Shayari Maa

मेरी ख़ामोशी में भी
हर लफ्ज को पहचानती है
वो माँ ही है जो हर मंदिर में
मेरे सलामती की दुआ मांगती है।

की है एक कर्ज जो सबपर सवार रहता है,
वो माँ का प्यार है जनाब
जो सबपर उधार रहता है।

तकलीफ मुझे होती है
और वो पूरी रात नहीं सोती,
कैसे बताऊ उसके बारे में
अरे यार माँ सब्दो में बयां नहीं होती।

मैंने बहुत गोर और काले इंसान को देखा है
बहोत अपने तो कई मेहमान को देखा है,
दौलत होते हुए भी नाकाम
और कमजोर को है,
माँ बाप के रूप में मैंने भगवन को देखा है

की उस पुराने पीपल की
छाव लेने मैं गाव जा रहा हूँ,
जल्दी बहोत है इसलिए नंगे पाँव जा रहा हूँ
और ये मोटर गाड़ी बंगला ये सब तुम रख लो
मैं माँ से मिलाने गाव जा रहा हूँ।

मोहब्बत शब्द से बस
एक माँ की याद आती है,
हम सिंगल है जनाब
हमें अपनी नींद बड़ी भाती है।

बस ठीक हूँ कह देने से
नही मानती है माँ,
जिगर के टुकड़े है उनके
वो सब जानती है माँ।

हर तकलीफ में,
हर मुश्किल का हल मिल जाता है,
माँ की दुवाओ से सब
तकलीफ हल हो जाता है।

हर आहट तक को पहचानती है
दिल मे क्या है माँ सब जानती है,
नाराज होती है, फिर प्यार से दुलारती है
खाना खिलाये बिना, किसी की नही मानती है।

Girl Ansh Pandit Shayari

नहीं निभाया जाता तो यूं बदनाम न कर
रिश्ता तेरा मेरा है इसे सरेआम ना कर

तुमने तो वादा किया था सपने मे मिलने का..,
अरे तुमने तो वादा किया था सपने मे मिलने का..,
यह तो हमारी ही बदनसीबी है कि हमे नींद नहीं आती

दर्द कितना है बता नहीं सकता..,
जख्म कितने है दिखा नहीं सकते..,
कि समझ सको हो तो समझ लो..,
आँसू गिरे है कितने गिना नहीं सकते.

ना इलाज है इसका न दवाई है..,
ना इलाज है इसका न दवाई है..,
देख इश्क तेरे टक्कर की बीमारी आई है.

सफलता के रास्ते होते नहीं बनाने पड़ते हैं..,
कहने से कुछ नहीं होता..,
कि कहने एक कुछ नहीं होता
अपने रास्ते खुद बनाने पड़ते हैं.

आंसू आ जाते हैं आंखों पर..,
लेकिन चेहरे पर हंसी रखनी पड़ती है..,
यह मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो..,
जिस से करते हैं उसी से छुपानी पड़ती है.

क्या क्या नहीं किया मैंने तेरी एक मुस्कान के लिए..,
कि क्या क्या नहीं मैंने तेरी एक मुस्कान के लिए..,
फिर भी अकेला छोड़ दिया उस अनजान के लिए.

Ansh Pandit Sad Shayari

एक उम्मीद मिली थी तुम्हारे आने से..,
पर शायद अब वह भी टूट गई
वफादारी की आदत थी हमें
अब शायद वह भी छूट गई.

LIFE मे कुछ बड़ा मिल जाए
तो छोटे को मत भूल जाना..,
क्योंकि जहां सुई काम आती है
वहाँ तलवार भकाम नहीं आती.

चाह के भी करीब नहीं जा सकता
न जाने कैसी मजबूरी है
हाँ मोहब्बत मेरी एकतरफा है
शायद इसीलिए अधूरी है.

राजा रानी तो हर कदम पे है
बनना है तो इक्का बनो
कि बनना है तो इक्का बनो
जो हर कदम पे बाजी बदल दे

हर बार हम पर इल्जाम
लगा देते हो मोहब्बत का
कभी खुद से पूछा है
इतनी खूबसूरत क्यों हो !!

मेरे साथ जब मैं खुद खड़ा होता हूँ
तब मैं क़यामत के हर तूफ़ान से
बड़ा होता हूँ !!

तेरे हिस्से की बहुत सारी बाते
बचा राखी है हमने
लॉकडाउन खुलेगा तो
तसली से बात करेंगे !!

तबाहियो का दौर है साहब
शांति की उम्मीद हमसे ना रखो !

Ansh Pandit Shayari Breakup

जान कर भी औह मुझे जान ना पाए
आज तक औह मुझे पहचान ना पाए
इसलिए खुद ही कर ली बेवफाई मैंने
ताकि उन पर कोई इल्जाम ना आए।

मोहब्बत में उससे दर्द सारे मैं सह गया
खून का हर एक कतरा आंसू बन कर बह गया
जिनके खातिर दर्द में भी हंसते रहे
वह हमें खुदगर्ज कितनी आसानी से कह गया

बिन देखे मैं तुमसे प्यार कर बैठा
बस यही गुना में एक बार कर बेटा,
मिलना तो तुझसे मुकद्दर में मनजुर ना था,
यह सब जानते हुए भी मैं मोहब्बत तुमसे बेशुमार कर बेटा

सागर की गहराई किनारों से पूछो
पतझड़ की तन्हाई इन बहारों से पूछो
चांद की बेवफाई इन सितारों से पूछो
मेरे प्यार की सच्चाई मेरे यारा से पूछो

यह मोहब्बत के हाथ से
अक्सर दिल को तोड़ देते हैं
तुम मंजिल की बात करते हो
लोग रासतो में ही साथ छोड़ देते हैं

हर बार हम पर इल्जाम लगा देती हो मोहब्बत का
कभी खुद से पुछा इतनी खूबसूरत क्यों हो

दिल में हर लम्हा तेरी ही सूरत है
तुझे हो ना हो मुझे तेरी जरूरत है

हरे क्या सफाई दूं दुनिया को अपने बारे में
में केसा हूं ऊपर वाले को सभ पता है मेरे बारे में

Ansh Pandit Shayari in English

Na Jana Kiya Kami Hein Mujhe Mein..
Na Jana Kiya Khubi Hein Ausama …
Bo Mujhe Yaad Nahi Karti…
Mein Ausako Bhul Nahi Pata

Mohabbat Ki Keemat Bhi Aaj Kal Bazar Se Karta Hai,
Chocolate Ka Size Aaj Kal Pyaar Se Karta Hai.

Are Hum Kha Aapke Brabar
Aap To Husne Mehtaab Ho
Aur Yaar Aapko Fool Ki Kya Zroorat
Aap To Khud Hi Ek Gulaab Ho.

Aap Rootha Na Karo Hamse
Dil Ki Dhadkane Bad Jaati Hai
Dil Toh Aapke Naam Kar Hi Chuke Hai
Ek Jaan Hi Hai Vo Bhi Nikal Jaati Hai

Jaan Tak Deny Ki Baat Karte Hain Yahan Log,
Jaan Tak Deny Ki Baat Karte Hain Yahan Log,
Per Such Kahun To Dua Tak Nahin Karte Dil Se Log.!

अंतिम शब्द

तो दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ कि इस वेबसाइट में शेयर की गयीं Ansh Pandit Shayari आपको बेहद पसंद आयी होंगी। अपनी पसंदीदा शायरी को कमेंट करके हमें जरूर बताएं और अपने दोस्तों, लवर के साथ अंश पंडित की शायरी को सोशल मीडिया साइट्स फेसबुक, व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम आदि पर शेयर करना ना भूलें

%d bloggers like this: