Best Happy Holi Shayari (Hindi)

Best Happy Holi Shayari (Hindi)

खुशियों से हो ना कोई दुरी रहे न कोई ख्वाहिश अधूरी रंगो से भरे इस मौसम में रंगीन हो आपकी दुनिया पूरी हैप्पी होली
होली का रंग तो कुछ पलो में धूल जाएगा दोस्ती और प्यार का रंग नहीं धुल पाएगा यही तो असली रंग है ज़िंदगी का जितना रंगोगे उतना ही गहरा होता जाएगा हैप्पी होली
राधा का रंग और कान्हा की पिचकारी प्यार के रंग से रंग दो दुनियाँ सारी यह रंग ना जाने कोई जात ना कोई बोली मुबारक हो आपको रंगों भरी होली हैप्पी होली
खुदा करे की इस बार होली ऐसी आए बिछडा हुवा मेरा प्यार मुझे मिल जाए मेरी दुनिया तो रंगीन है सिर्फ उस से काश वो आए और चुपके से गुलाल लगा जाए हैप्पी होली
रंगो से भरी इस दुनिया में, रंग रंगीला त्यौहार है होली गिले शिकवे भुलाकर खुशियां मनाने का त्यौहार है होली रंगीन दुनिया का रंगीन पैगाम है होली हर तरफ यहीं धूम है मची “बुरा ना मानो होली है होली” हैप्पी होली
रंग रंगीला माहौल हो, अपनों का साथ हो स्वादिष्ट पकवानो की मिठास पास हो फिर देरी किस बात की करते हो यारो उठाओ गुलाल और धमाल करो प्यारों हैप्पी होली

रंगों की ना होती कोई जात वो तो लाते बस खुशियों की सौगात हाथ से हाथ मिलाते चलो होली है होली रंग लगाते चलो हैप्पी होली
पिचकारी की आई बाज़ारों में बौछार हर कोई मांगे अनोखी पिचकारी हर बार बच्चों को होता त्यौहारों से प्यार वही तो बनाते त्यौहारों को गुलज़ार हैप्पी होली
रंगों के होते कई नाम कोई कहे पीला कोई कहे लाल हम तो जाने बस खुशियों की होली राग द्वेष मिटाओ और मनाओ होली हैप्पी होली

1दिलो के मिलने का मौसम है दूरियां मिटाने का मौसम है होली का त्यौहार ही ऐसा है रंगो में डूब जाने का मौसम है हैप्पी होली
होली के रंग मस्त बिखरेंगे क्योंकि पीया के संग अब हम भी तो भीगेंगे होली में इस बार और भी रंग होंगे क्योंकि मेरे पीया मेरे संग होंगे हैप्पी होली
गुझिया की महक आने से पहले रंगों में रंगने से पहले होली के नशे में डूबने से पहले हम आपसे कहते है हैप्पी होली सबसे पहले

मथुरा की खुशबु, गोकुल का हार वृंदावन की सुगंध, बरसाने की फुहार राधा की उम्मीद, कान्हा का प्यार मुबारक हो आपको होली का त्यौहार हैप्पी होली
खुदा करे हर साल चाँद बन कर आए दिन का उजाला शान बन के आए कभी ना दूर हो आपके चेहरे से हंसी ये होली का त्यौहार ऐसा मेहमान बन के आए होली मुबारक हो
खा के गुजिया पीके भंग लगा के थोड़ा थोड़ा सा रंग बजा के ढोलक और मृदंग खेले होली हम तेरे संग हैप्पी होली
इश्क की होलिया खेलनी छोड़ दी है हमने, वरना हर चेहरे पे रंग सिर्फ हमारा होता.

सुना हैं होली आ रही हैं, गोपियों हमसे जरा संभल के रहना, क्युकी हम गालों पे रंग लगाकर दिल का रंग चुरा लेते हैं |
होली में वो लड़किया भी अपने अंदर की होलिका जलाले, जो दशहरा में लड़को से अपने अंदर का रावण जलाने को कह रही थी !!
“दूरियाँ दिल की मिटें, हर कहीं अनुराग हो। न द्वेष हो, न राग हो, ऐसा यहाँ पर फाग हो।।
जमाने के लिए आज होली है, मुझे तो तेरी यादे रोज रंग देती है…!!

Leave a Reply