Bewafa Shayari in Hindi on Bure Hain Hum

तेरे ही नाम से ज़ाना जाता हूं मैं,
ना जाने ये शोहरत है या बदनामी,
बुरे हैं ह़म तभी तो ज़ी रहे हैं,
अच्छे होते तो द़ुनिया ज़ीने नही देती..

Leave a Reply