Bewafa Shayari, Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai

Zindagi Se Bas Yahi Ek Gila Hai,
Khushi Ke Baad N Jane Kyon Gam Mila Hai,
Hamne To Ki Thi Wafa Unse Ji Bhar Ke,
Par Nahin Jaante The Ki Wafa Ke Badle Bewafaai Hi Sila Hai!

ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,
ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,
हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के..
पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।

Leave a Reply