“असमंजस” स्कूल लव स्टोरी इन हिंदी

-निधि जैन

.          लखनऊ शहर के मशहूर सिनेमा घर मेफेयर के सामने वाला चौराहा उसके ही नाम से प्रसिद्ध था। मेरी स्कूटी अभी उस चौराहे पर पहुँची ही थी कि पुलिस वाले ने हाथ दिखा कर ट्रैफिक रोक दिया। किसी गणमान्य व्यक्ति का काफिला गुजरने वाला था। मैंने घड़ी पर नजर डाली, दोपहर का पौन बज रहा था। गर्म हवा के थपेड़े चेहरे को झुलसा रहे थे।  मई का महीना, उस पर उत्तर-प्रदेश की लू वाली गर्मी। पता नहीं क्या सोच कर मैं भरी गर्मी में स्कूटी उठा कर चल दी। अच्छा खासा प्रदीप ए.सी गाड़ी भेज रहा था। उसमें चली जाती तो क्या बिगड़ जाता, पर हर जगह मेरा स्वाभिमान जो आड़े आ जाता है। पता नहीं अब यहाँ  कितनी देर खड़ा रहना पड़ेगा। हर गुजरते पल के साथ मेरी बेचैनी बढ़ रही थी। इस बेचैनी का कारण गर्मी थी या चौराहे पर खड़े हो कर इंतजार करना या फिर घर से निकलते समय आयुष का फोन। आयुष मेरा पड़ोसी और मेरा सबसे अच्छा दोस्त था। आज पता नहीं फोन पर कुछ अजीब सी बातें कर रहा था। पुरानी बातें दिल से निकल कर दिमाग पर दस्तक देने लगी थीं।

.          उस समय मेरी उम्र करीब पाँच साल थी। एक दिन मैं स्कूल से लौटी तो पापा-मम्मी अपने कमरे में उदास बैठे थे। मैंने पहले कभी उन्हें ऐसे नहीं देखा था। पापा उठ कर कमरे के बाहर चले गये। मैं रोज की तरह माँ को अपनी दिन-भर की कहानियाँ सुनाने लगी। माँ एकदम शांत भाव से मेरी बातें सुनती रही। अचानक उसने मुझे गले से लगा लिया और फफक-फफक कर रो पड़ी। मैंने घबरा कर पूछा, “माँ, रो क्यों रही हो? तुम ही तो कहती हो कि अच्छे बच्चे रोते नहीं।” तभी पापा कमरे में दाखिल हुए, उन्होंने  मुझे आया के साथ कमरे के बाहर भेज दिया। थोड़ी देर बाद माँ-पापा मुसकुराते हुए बाहर आये और ऐसा लगा जैसे सब कुछ सामान्य हो गया।

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

.         सच तो यह था कि कुछ भी सामान्य नहीं था। पापा, माँ को ले कर अस्पताल जाने लगे और मैं स्कूल से आ कर पड़ोस वाली आन्टी के घर। आन्टी का व्यवहार मेरे साथ बहुत ही सख्त और रूखा था। वह न तो मुझसे कोई बात करती और न ही कुछ खाने को देती। तीन-चार दिन बाद ही उन्होंने पापा से कह दिया, “आप अपना कुछ और इंतजाम कर लें। मुझे बच्चे की वजह से बहुत बंधन हो जाता है।” पापा ने मेरी स्कूल …

“असमंजस” स्कूल लव स्टोरी इन हिंदी Read More

कोई भूख के लिए खाता है तो कोई सेल्फी के लिए – Hindi Kahani on Modern Society

मैं हिमाचल के धर्मशाला शहर में रहता हूँ. जिन लोगों को नहीं पता, उन्हें बता दू कि धर्मशाला एक टूरिस्ट प्लेस है. क्यूंकि यहाँ का मौसम काफी ठंडा है, हर साल गर्मियों में लाखों लोग यहाँ घूमने आते है. मेरे घर के पास एक कैफ़े ( Cafe ) है जहाँ मैंने अक्सर कॉफ़ी या जूस पीने जाता हूँ और साथ में अपना लैपटॉप भी ले जाता हूँ ताकि कोई नयी कहानी लिख सकू, काफी शांत जगह पर बना है ये कैफ़े.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

Hindi Kahani on Modern Society

एक दिन शाम के वक़्त मैं उसी कैफ़े में गया और कैफ़े के बाहर एक टेबल पर बैठ कर कॉफ़ी पीते पीते कुछ सोच रहा था कि कही से 2 लड़का और लड़की मेरे पास आये और पैसे मांगने लगे. देख कर लग रहा था कि वो दोनों भाई बहन है, उनके कपडे काफी गंदे थे. हमारे यहाँ धर्मशाला में अक्सर ऐसे मांगने वाले आते रहते है. मैंने पैसे देने को मना कर दिया और उन्हें इग्नोर कर दिया। फिर भी 1 मिनट तक वो मुझसे मांगते रहे लेकिन मैंने ध्यान नहीं दिया.

कुछ समय बाद वो दोनों सड़क पर आते जाते लोगो से पैसे मांगने लगे. उन्हें 2 मिनट तक देखने के बाद मैंने उन्हें आवाज़ लगायी और अपने पास बुलाया.

“मैं पैसे तो नहीं दूंगा लेकिन अगर भूख लगी है तो कुछ खिला देता हूँ” मैंने उन दोनों को कहा.

उन्होंने कैफ़े में लगी मसाला डोसा की तस्वीर की तरफ इशारा किया। मैंने उन्हें कहा जाओ, आर्डर कर दो, मैं पैसे दे दूंगा. जैसे ही उनका मसाला डोसा आया उन्होंने महज़ 2 मिनट में खा लिया। मैंने आज तक इतना भूखा किसी को नहीं देखा था, उन पर दया आ रही थी. “यकीनन उन्होंने काफी देर से कुछ नहीं खाया होगा …..अच्छा किया जो इन बेचारो को खिला दिया ” मैंने मन ही मन सोचा और अपने लैपटॉप पर कुछ लिखना शुरू कर दिया.

दो मिनट बाद मेरा ध्यान सामने से आ रही तीन लड़कियों पर गया. एक दम मॉडर्न लड़कियां, अपने अपने हाथ में iPhone पकडे हुए कैफ़े की तरफ आ रही थी. करीब 15 से 16 साल की लग रही थे वे तीनो लड़कियां और उन्हें देख कर कोई भी अंदाज़ा लगा सकता था कि वे काफी अमीर घर से है.

“भईया….2 पास्ता, एक स्माल पिज़्ज़ा और तीन ऑरेंज जूस” उन लड़कियों में से एक ने कैफ़े के वेटर को आर्डर किया. मैं उन्हें देख नहीं रहा था लेकिन मेरा …

कोई भूख के लिए खाता है तो कोई सेल्फी के लिए – Hindi Kahani on Modern Society Read More

वो जो दबी सी आस बाकी है….Love Breakup Bewafai Zindagi !

Bewafai Story in Hindi

मेरा नाम अनु है और ये बात है 4 साल पहले की, मेरी नयी-नयी शादी हुई थी. वैसे तो मेरी arranged marriage थी लेकिन शादी से पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड भी था जिसे मैं बहुत प्यार करती थी, उसका नाम अर्जुन था. शादी के बाद अभी एक महीना ही हुआ था कि मेरे पुराने बॉयफ्रेंड को मेरे ही ऑफिस में नौकरी मिल गयी. मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ा क्यूंकि मेरी शादी हो चुकी थी लेकिन फिर भी पता नहीं मुझे क्या सूझा कि मैंने अर्जुन से बात करनी शुरू कर दी, आखिर हम एक ही ऑफिस में तो थे.

एक दिन मैं ऑफिस के वाशरूम से निकल रही थी कि सामने अर्जुन खड़ा था, वो मेरे करीब आया, आँखों में आँखे डाले मुझे घूर रहा था, वो मेरे और करीब आया और हमने एक दुसरे को Kiss की. उस वक़्त पता नहीं मुझे क्या हो गया था, मैं शायद भूल गयी थी कि मैं शादीशुदा हूँ. कुछ देर इंटिमेट होने के बाद मुझे थोड़ा होश आया और मैंने अर्जुन को एकदम से अपने से दूर धक्का दिया और जा कर अपना काम करने लगी.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

अर्जुन ने मुझे बहुत समझाया लेकिन मुझे पता था कि शादी के बाद ये गलत है. मुझे इस बात का इतना अफ़सोस हुआ कि मैंने नौकरी छोड़ दी और फिर कभी ऑफिस नहीं गयी.

मुझे ये बात अंदर ही अंदर खाये जा रही थी कि मैंने अपने पति जिसका नाम रोहित है उसके साथ धोखा किया. मैंने शादी के बाद एक दुसरे मर्द के साथ सम्बन्ध बनाये और यही बात मुझे दिन रात परेशान कर रही थी. यूँही 2 महीने बीत गए, मुझे ऑफिस छोड़े अब 2 महीने होने को आये थे और मैंने सोचा क्यों ना मैंने अपने पति (रोहित) को सब सच सच बता दू.

मैंने ठीक समय देख कर रोहित को सब बता दिया. उस दिन रोहित शाम को ऑफिस से घर आये थे, मैं डरी हुई थी लेकिन फिर भी हिम्मत करके उसे कहा “रोहित मुझे माफ़ कर दो”

रोहित: अनु… किस बात की माफ़ी?

वो, मैंने शादी के बाद भी एक लड़के के करीब आ गयी थी लेकिन वो सब एक गलती थी और मैं तुमसे माफ़ी मांगती हूँ. मैं तुम्हे यकीन दिलाती हूँ कि कभी फिर ऐसा नहीं होगा.

रोहित: तुमने मेरे साथ धोखा किया है अनु, मैं घर छोड़ कर जा रहा हूँ।

“नहीं रोहित, प्लीज ऐसा मत करो, वो सिर्फ एक गलती थी, …

वो जो दबी सी आस बाकी है….Love Breakup Bewafai Zindagi ! Read More

अर्चना और विवेक – सच्ची दोस्ती की कहानी Best Friendship Short Story in Hindi

Story on True Friendship in Hindi

.           बहुत साल पहले शिवमपुर नाम के गांव में, दो दोस्त रहते थे, एक का नाम था, अर्चना और एक का नाम था, विवेक। अर्चना और विवेक एक ही क्लास में पढ़ते थे। बचपन से ही दोनों, साथ में खेलते, खाना खाते और एक बेहतरीन जिंदगी जी रहें थे दोनों।

Best Friendship Short Story in Hindi

True Friendship Short Story in Hindi

.           अर्चना और विवेक, एक दूसरे से बहुत मस्ती भी करते और एक दूसरे का ध्यान भी बहुत रखते। एक बार, दोनों दोस्त कुछ फल खाने के लिए, जंगल की ओर जाने लगे। अचानक दोनो की नजर, एक बेहद ही खूबसूरत और विशालकाय पेड़ पर पड़ी । जहा ऊपर, मीठे मीठे रसदार फल लगे हुए थे। विवेक को पेड़ पर चढ़ना आता था; वह फ़ौरन पेड़ पर चढ़ गया और मीठे मीठे फल का आनंद लेने लगा और कुछ फल, नीचे अपनी दोस्त को भी ऊपर से दिया । उसके बाद, अचानक विवेक का ध्यान, एक बहुत बड़े फल के ऊपर पड़ा, जो उसे अपनी ओर आकर्षित करने लगा एवं वह फल बाकी सब फल से अधिक बड़ा और उसको देखते ही, विवेक के मुंह में पानी आ गया! उससे नही रहा गया और वो उस फल को पाने के लिए आगे जा रहा था।

.           अचानक, अर्चना ने जोर से आवाज दिया और कहा, “ विवेक, जरा संभलकर! उस फल को छोड़ो। नीचे आ जाओ, वह फल जिस डाली पे है, वह डाली बहुत नाजुक एवं पतली है, तुम गिर सकते हो।” लेकिन विवेक ने अर्चना की बात नही मानी और वो आगे बढ़ने लगा। यहां पर, अर्चना का जी बहुत घबरा रहा था। आखिरकार वही हुआ; जिसका अर्चना को डर था। अर्चना ने एक आवाज सुनी, कुछ टूटने की और पेड़ की ओर देखा। वह आवाज डाली टूटने की थी और डाली टूटते ही, विवेक, नीचे जमीन पर गिर पड़ा।

.             पेड़ बहुत विशालकाय था और विवेक जिस डाली से नीचे गिरा था; वह काफी ऊंचाई पर थी। इसी वजह से, विवेक नीचे गिरते ही, उसके सिर और बदन से खून बहने लगा और विवेक बेहोश हो गया। यह देखकर अर्चना घबरा गई और फुट – फुट कर रोने लगी । अर्चना ने बहुत कोशिश की उसको उठाने की, उसने कहा, “विवेक अपनी आंखे खोलो। है भगवान! यह क्या अनर्थ हो गया। मेरे दोस्त, विवेक की जान बचा लीजिए, भगवान। विवेक, आंखे खोलो ( पानी की बुंदे छिड़कते हुए )। तुम्हे कुछ नही होगा, में तुम्हारे …

अर्चना और विवेक – सच्ची दोस्ती की कहानी Best Friendship Short Story in Hindi Read More

गर्लफ्रेंड के लिए बहुत ही रोमांटिक लव लेटर – Romantic Love Letter in Hindi

Romantic Love Letter in Hindi

अक्सर हमने देखा है कि लड़के अपने दिल की फीलिंग्स को होंठो तक लाने में या तो बहुत शर्म महसूस करते है या सही शब्दों का इस्तेमाल नहीं कर पाते. इसलिए, हम आपके लिए लाये है बहुत ही Romantic Love Letter in Hindi जिससे आप आईडिया लेकर अपने दिल की बात बड़ी आसानी से कह पाएंगे. ये Hindi Love Letter सिर्फ उनके लिए है जो रोमांटिक प्रेम पात्र अपनी गर्लफ्रेंड को भेजना चाहते है. ये लव लेटर इतना रोमांटिक है कि आपकी गर्लफ्रेंड या पत्नी ये खत पढ़ कर सीधा आपको Kiss या Hug करना चाहेगी. तो चलिए पढ़ते है ये रोमांटिक लव लेटर.

romantic love letter in hindi

Dear Neha,

I Love You So Much. जब भी मैं सुबह सोकर उठता हूं मेरे ख्याल में बस तुम होती हो और जब मैं रात को सोता हूं तब भी मेरे ख्याल में बस तुम ही रहती हो. जब तुम मेरे साथ नहीं होती तो मैं अपनी आंखें बंद कर सिर्फ तुम्हारे बारे में सोचता हूं और तब मुझे ऐसा लगता है जैसे तुम मेरे साथ बैठी हो.

जब भी तुम हंसती हो तो मुझे ऐसा लगता है जैसी पूरी कायनात रोशनी से जगमगा रही है. जब भी तुम मेरे पास बैठकर हंसती हो तो कभी-कभी ऐसा लगता है जैसे मेरी धड़कने तेज़ हो गयी हो. आजकल मैं काफी कुछ भूलने लग गया हूं लेकिन एक चीज है जो मैं कभी नहीं भूलता वह है तुम. तुम इतनी खूबसूरत हो और इंटेलिजेंट हो कि मैं कभी-कभी सोचता हूं कि तुम मुझसे प्यार कैसे करने लगी. मैं अक्सर यह सोचता हूं कि मेरे पास ऐसा क्या है जो तुम मुझसे प्यार करती हो. कभी-कभी तो मुझे लगता है कि तुम्हारा मेरी जिंदगी में होना कहीं कोई सपना तो नहीं.

नेहा ….. जब से तुम मेरी जिंदगी में आई हो मुझे प्यार का मतलब पता चल गया है. हमें एक साथ कितना वक्त हो गया लेकिन आज भी जब मैं तुम्हें देखता हूं तो मेरे पेट में जैसे तितलियां सी उठती है. पहले मैं म्यूजिक सुनना बहुत पसंद करता था लेकिन तुम्हारे मिलने के बाद मुझे सिर्फ दो तरह की आवाजें अच्छी लगती है – एक तो जब तुम बोलती हो और दूसरा तुम्हारे दिल की धड़कन.

मैं तुमसे झूठ नहीं बोलूंगा मुझे तुमसे पहली बार प्यार तब नहीं हुआ था जब मैंने तुम्हें देखा था , मुझे तुमसे पहली बार प्यार तब हुआ जब मैंने तुम्हें हंसते हुए देखा था. जब तुम

गर्लफ्रेंड के लिए बहुत ही रोमांटिक लव लेटर – Romantic Love Letter in Hindi Read More

Girlfriend Ko Manane ke Liye Love Letter – लव लेटर से पल में मनाये GF को

Girlfriend ko Manane ke Liye Love Letter

दोस्तों, ज़िन्दगी में प्यार की बहुत अहमियत है. कई लोगों को अपना प्यार बड़ी आसानी से मिल जाता है, कई लोगों को बड़े जतन करने के बाद मिलता है लेकिन कई लोग ऐसे भी होते है जिन्हे अपना सच्चा प्यार मिल नहीं पाता। मेरा नाम ऋषि है और मुझे जब मिताली से प्यार हुआ था, मुझे ऐसा लगता था मैं दुनिया का सबसे खुश लड़का हूँ. फ्रेंड्स, जहाँ प्यार है वहां तकरार भी होती है और ये बिलकुल नार्मल है. इसीलिए हम आपके लिए लाये है Girlfriend ko Manane ke Liye Love Letter.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

अगर आपकी गर्लफ्रेंड आपसे नाराज़ है तो जल्दी से उसे मनाने के लिए एक लव लेटर लिखिए, अपना दिल खोल कर रख दीजिये उसके सामने ताकि उसे एहसास हो जाए कि आप उससे कितना प्यार करते हो. तो चलिए अपनी गर्लफ्रेंड के लिए या उसे मनाने के लिए आप इस लव लेटर का इस्तेमाल कर सकते है. जब मेरी गर्लफ्रेंड मुझसे नाराज़ थी तो मैंने ये लेटर उसे लिख कर दिया था और उसने फ़ौरन मुझे माफ़ कर दिया था.

Dear Mitali,

I Am Sorry….मुझे माफ़ कर देना क्यूंकि मैं तुम पर गुस्सा हुआ. मुझे पता है कि मैंने तुम्हारा दिल दुखाया और मैं तुमसे वादा करता हूँ कि ऐसा दोबारा कभी नहीं होगा. मिताली….जब से तुमने मुझे फ़ोन करना बंद किया है, मुझे ना नींद आती है और ना ही भूख लग रही है, प्लीज वापिस आ जाओ ना.

तुम्हारे बिना रहने की मैं सोच भी नहीं सकता. तुम्हारे बिना मेरी ज़िन्दगी black & white हो गयी है और सिर्फ तुम ही हो जो मेरी ज़िन्दगी में रंग भर सकती हो. मुझे पता है कि तुम मुझसे बहुत नाराज़ हो लेकिन मैं तुमसे प्रॉमिस करता हूँ कि ऐसा फिर कभी नहीं होगा. कई बार ज़िन्दगी हमें ऐसे मोड़ पर ला कर खड़ा कर देती है जो हमने कभी सोचा नहीं था, कई बार गुस्सा आ जाता है लेकिन मिताली प्लीज मुझे एक चांस तो  न…

मैं तुम्हे बताना चाहता हूँ कि मैं चाहे जहाँ भी रहु, कुछ भी करू, मैं हमेशा तुम्हारे बारे में ही सोचता रहता हूँ, मैं हमेशा उस वक़्त के बारे में सोचता हूँ जब तुम मेरे साथ होती हो और कसम से जब तुम मेरे साथ होती हो तो मैं अपने आप को इस दुनिया का सबसे खुश इंसान समझता हूँ.

तुम्हारी आँखें मुझे आसमान के सितारों से

Girlfriend Ko Manane ke Liye Love Letter – लव लेटर से पल में मनाये GF को Read More

2 Beautiful Moral Stories in Hindi – ये मोरल कहानियां ज़रूर पढ़े

Moral Story in Hindi for class 3 on Honesty

Or

Moral Story on Honesty

मनोज और रोहित एक ही क्लास में पढ़ते है. दोनों अच्छे मित्र थे और दोनों का घर भी पास-पास ही था. स्कूल से आने के बाद दोनों इकठ्ठा ही खेलते थे. एक दिन मनोज ने रोहित को खेलने के लिए अपने घर बुला लिया. मनोज के पास कुछ कंचे थे और रोहित के पास बहुत ही स्वादिष्ट टॉफियां. मनोज ने रोहित को कहा “तुम मुझे अगर अपनी टॉफियां दोगे तो मैं तुम्हे अपने सारे कंचे दे दूंगा.”रोहित मान गया लेकिन उसने सबसे स्वादिष्ट और बड़ी वाली टॉफी चालाकी से बचा कर अपने पास रख ली और बाकी मनोज को दे दी. मनोज ने अपने वादे के मुताबिक सभी कंचे रोहित को दे दिए.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

कुछ देर खेलने के बाद दोनों अपने-अपने घर चले गए. रात को रोहित ये सोच रहा था कि जैसे उसने एक टॉफी बचा कर रख ली थी वैसे ही कुछ कंचे मनोज ने भी बचा कर रख लिए होंगे. ये सोचते सोचते उसे पूरी रात नींद नहीं आई.

कहानी का मोरल: ईमानदार को सब ईमानदार लगते है और बेईमान को पूरी दुनिया बेईमान लगती है. इसलिए हमेशा ईमानदारी से रहे क्यूंकि तभी आपका मन शांत रहेगा. 

Moral Story in Hindi on Faith – विश्वास पर खूबसूरत मोरल स्टोरी 

एक व्यक्ति हवाई ज़हाज़ से सफर कर रहा था. उसके बगल में एक 7 से 8 साल की छोटी सी बच्ची बैठी हुई थी. व्यक्ति ये देख कर हैरान था कि एक इतनी छोटी बच्ची हवाई जहाज़ में अकेले सफर कर रही है. उस व्यक्ति ने बच्ची से उसका नाम, उम्र व् वो कौन सी क्लास में है सब पुछा और उस बच्ची ने भी बड़े धैर्य से सब उत्तर दिए. हवाई जहाज़ अब हवा में था, तभी एयर होस्टेस आई और उस बच्ची को कुछ खाने के लिए दिया. वो व्यक्ति ये देख कर बहुत खुश हुआ कि एयरलाइन वाले एक अकेली बच्ची का अच्छे से ख्याल रख रहे है.

वो व्यक्ति लगातार उस बच्ची पर नज़र बनाये हुए था क्यूंकि वो चाहता था कि ये अकेली छोटी बच्ची हवाई जहाज़ में बिलकुल भी ना डरे. तभी आसमान में मौसम खराब हो गया और जहाज़ ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा. जहाज़ में बैठे सब लोग डर रहे थे. कई लोग भगवान से प्रार्थना करने लगे तो कई लोग अपनी सीट को ज़ोर से पकड़ कर बैठे थे.

उस बच्ची के साथ बैठा व्यक्ति …

2 Beautiful Moral Stories in Hindi – ये मोरल कहानियां ज़रूर पढ़े Read More

पत्नी के लिए प्यारी सी लव लेटर – Love Letter for Wife in Hindi

पत्नियां हम पतियों के लिए इतना कुछ करती है और इसलिए ये हमारा फ़र्ज़ है कि हम उन्हें कुछ special होने का एहसास दिलाये. इसीलिए हम आपके लिए लाये है love letter for Wife in Hindi. पत्नी के लिए ऐसा प्रेम पत्र लिखोगे तो आप अपना प्यार का इज़हार भी कर पाओगे और पत्नी को बहुत अच्छा भी फील होगा. आजकल मोबाइल का युग है लेकिन फिर भी लव लेटर की बात ही कुछ और है. एक कागज़ में अपने इमोशंस डाल कर लिखने में जो बात है वो फेसबुक या WhatsApp के मैसेज में कहाँ. अगर आप भी अपनी पत्नी के लिए कोई ख़ास लव लेटर लिखना चाहते है तो इस पत्र से आपको काफी आईडिया मिल जाएगा.

Love letter for wife in hindi

Love Letter for Wife in Hindi

Dear रश्मि ( आपकी पत्नी का नाम ),

आज जब मैं सुबह सो कर उठा तो रोज़ की तरह तुम बिस्तर पर नहीं थी, मुझे पता है कि तुम घर का काम करने के लिए जल्दी उठ जाती हो लेकिन जब भी तुम मुझे उठती हो तो मेरा दिन बहुत अच्छा निकलता है. जब हमारी नयी-नयी शादी हुई थी तो हम दोनों एक साथ उठते थे, साथ में चाय पीते थे और कई बार तो हम सुबह मॉर्निंग वाक के लिए भी जाते थे, कितने प्यारे दिन थे वो, मैं आज भी वो दिन याद करता हूँ और सोचता हूँ कम से कम संडे को हमें इकठ्ठा सुबह की सैर के लिए जाना चाहिए.

रश्मि…मैं हैरान हूँ कि मुझे जो भी चाहिए होता है उसका तुम्हे पहले से कैसे पता चल जाता है. सच में, तुम अंतर्यामी हो. और जब भी तुम मुझे दिन में फ़ोन करती हो जब मैं ऑफिस में होता हूँ तो मेरा दिल करता है कि सब काम छोड़ तुम्हारे पास आ जाऊ. सच में रश्मि, दोपहर जे वक़्त फ़ोन करके तुम्हारा वो पूछना “खाना खा लिया आपने?” मुझे बहुत अच्छा लगता है लेकिन मेरी धर्म पत्नी जी, दोपहर को थोड़ा आराम भी कर लिया करो वरना तुम्हारी कमर दर्द और ज़्यादा बढ़ जायेगी.

रश्मि….तुम मुझे आज भी बिलकुल वैसी ही लगती हो जैसे शादी की पहली रात लग रही थी, उतनी ही सुन्दर और उतनी ही प्यारी. काफी दिन हो गए हमें कही बाहर घूमे को, बहुत जल्द हम तुम्हारी पसंदीदा रेस्टोरेंट में जाएंगे, मुझे पता है तुम्हे वहां का पिज़्ज़ा बहुत अच्छा लगता है. जब हमारी शादी हुई थी तो मैं तुम्हे थोड़ी-थोड़ी देर के बाद मैसेज

पत्नी के लिए प्यारी सी लव लेटर – Love Letter for Wife in Hindi Read More

इमोशनल सच्ची कहानी – खुशियों का कोई सौदा नहीं होता Emotional Sachi Kahani

Emotional Sachi Kahani 
Submitted by Sudha Thakur

मेरा नाम सुधा ठाकुर है और मैं कानपूर में रहती हूँ. मैं एक कास्मेटिक की दुकान चलती हूँ. मेरे पति ने ये दुकान शुरू की थी लेकिन 4 साल पहले उनका देहांत हो गया था इसलिए अब मैं ही ये दूकान चलाती हूँ. दुकान पर एक सेल्स गर्ल भी है जो काफी अच्छा काम करती है और मैं भी उसे बेटी की तरह ही मानती हूँ.

शाम के 7 बजे का वक़्त था कि दूकान पर पति पत्नी आये और वो सेल्स गर्ल से कुछ बाते कर रहे थे. मैंने ज़्यादा ध्यान नहीं दिया। तभी सेल्स गर्ल ने ऊंची आवाज़ में कहा “आप सुबह भी आये थे, मैंने तब भी कहा था कि ये कंगन 1000 रुपये से कम नहीं मिलेंगे, चले जाईये अब”. मैंने जब ये सुना तो मुझे कुछ याद आ गया. मुझे वही वक्त याद आ गया जब मेरी नयी नयी इनके साथ शादी हुई थी. उस वक़्त हमारी फाइनेंसियल हालत ज़्यादा अच्छी नहीं थी. आज भी मुझे याद है मैं और मेरे पति पहली बार घर से बाहर घूमने गए थे और एक दुकान पर मुझे चूडियो का सेट पसंद आ गया था.

khushi kahani

Sachi Kahani in hindi

वो इतनी प्यारी चूडिया थी कि देखते ही मैंने अपने पति को कहा था “कितनी प्यारी चूडिया है, ये ले लू”

उस वक़्त वो चूडियो का सेट 10 रुपये का था.

मेरे पति ने दुकान वाले से पुछा “भाई साहब कितने का है ये चूड़ियों का सेट?”

दुकानदार ने कहा “10 रुपये का”

मेरे पति ने अपना पर्स देखा और कहा “भाई साहब 5 रुपये का दे दो”

दूकानदार ने मना कर दिया था. मैं समझ गयी थी कि इनके पास इतने पैसे नहीं है इसलिए मैंने भी कह दिया “चलिए रहने दीजिये, ये महंगा लगा रहा है”

लेकिन मेरे की आँखों में मेरी इच्छा पूरी ना करने का अफ़सोस मैं साफ़ देख रही थी. मेरे पति ने 3 – 4 बार दुकानदार से मिन्नतें की लेकिन वह नहीं माना.

Sachi Kahani

उस दिन मेरे पति की आँखों में मैंने पढ़ लिया था कि ये मुझसे बहुत प्यार करते है और मेरे लिए कुछ भी कर सकते है. उस दिन के ठीक 2 महीने बाद मेरे पति ने उसी दुकान से मुझे वही चूड़ियों का सेट खरीद का दिया था. मैं समझ सकती थी कि वो इन चूड़ियों को कभी भूले ही नहीं थे, बस उन्हें इस बात का अफ़सोस था कि …

इमोशनल सच्ची कहानी – खुशियों का कोई सौदा नहीं होता Emotional Sachi Kahani Read More

सच्ची प्रेम कहानी Part I – Swapnil

मस्ते आप सभी को , मेरा नाम स्वप्निल है मैं बिलासपुर छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ मैं अपनी सच्ची कहानी यहाँ लिखने जा रहा हूँ क्यूंकि यह मेरी पहली कहानी है तो अगर कोई गलती हो जाये तो माफ़ कीजियेगा.

यह कहानी उस समय की है जब मैं अपने मामाजी के घर गया हुआ था उस समय मेरी मौसी की शादी थी
तो मेरी फॅमिली में मैं मेरी माँ , दीदी , और बड़ा भाई गए थे  मेरे मामाजी का कंप्यूटर सेण्टर है वो कंप्यूटर सिखाते भी हैं .मैं अपने मामाजी के साथ ही उनके सेंटर पर चला जाता था और रात को घर आता था . एक उनके सेण्टर में एक लड़की आई थी उनका नाम गरिमा था वो बहुत ही सादगी से रहने वाली लड़की थी मैंने जब उन्हें पहली बार देखा था तो वो नीले रंग के सलवार सूट में सेण्टर में आई थी. वो उम्र में मुझ से काफी बड़ी थी , मैं आप सभी को गरिमा जी के बारे में बता देता हूँ वो एक सादगी से रहनी वाली , बड़ी बड़ी आखे  , चेहरे पर हलकी सी मुस्कान , बाल अच्छी तरह से बंधे हुए थे , हाथ में एक डायरी
जिसमे वो पोएम लिखा करती थी उन्हें पोएम लिखना बहुत पसंद था . वो अक्सर अपनी ३ सहेलियों के साथ आया करती थी  , उस दिन भी वो अपनी ३ सहेलियों के संत आई थी . तब मैंने उन्हें पहली बार देखा था बहुत ही सुन्दर लग रही थी  फिर जब उनकी क्लास ख़तम हुई तो मेरे मामाजी ने मुझ से कहा की जाओ इनको इनके घर छोड़ आओ और इनसे Hindi Typing वाला पेज ले आना , मैं उनके साथ चला गया उन्हें घर छोड़ के और वो पेज लेकर लौट आया , जब मैं और गरिमा जी घर जा रहे थे तो मुझे अन्दर ही अन्दर अच्छा लग रहा था शायद यह पहली बार था की मैं इतनी सुन्दर लड़की के साथ जा रहा था उनका घर सेण्टर से थोड़ी ही दूर पर था .

मैं रात को घर आ कर बहुत खुस था फिर आगले दिन वो शाम को ४ बजे आयें तो मैं उसी कंप्यूटर पर बैठा था जिसमे वो बैठा करती थी मेरे मामाजी ने कहा की छोटू तू उठ और इनको बैठने दे तो मैं उठ गया और वो अपना काम करने लगीं उस दिन हमारे सेण्टर में इन्टरनेट नही चल रहा था. तो उन्होंने मुझसे कहा …

सच्ची प्रेम कहानी Part I – Swapnil Read More