Happy Diwali Wishes in Hindi

Diwali Wishes in Hindi : See here a beautiful collection of Happy Diwali Wishes, Shayari, Status, Images, Greetings, SMS, and Messages in Hindi.

दिवाली/दीपावली हम भारतीयों के लिए एक बहुत ही ख़ास त्यौहार है। इस दिन को पूरे भारतवर्ष में बड़ी ही ख़ुशी और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग आपस में मिठाइयाँ बांटते हैं और एक-दूसरे को दिवाली की ढेरों बधाईयाँ देते हैं।
इसीलिए आज हम इस ख़ास दिन को और भी ख़ास बनाने के लिए लेकर आये हैं प्यार भरे मैसेज, इमेज और शायरी का एक छोटा सा संग्रह। जिसमें आपको दीपावली के लिए एक से बढ़कर एक बेहद ही आकर्षक शुभकामनाएं संदेश देखने को मिलेंगे। जिनका उपयोग आप अपने दोस्तों, परिवारवालों या रिश्तेदारों को दिवाली की प्यार भरी बधाई देने के लिए कर सकते हैं। जिनसे उनकी दिवाली और भी स्पेशल हो जाएगी। आप इन Hindi Diwali Wishes को अपने सोशल मीडिया एकाउंट्स (Facebook, WhatsApp or Instagram) पर भी शेयर कर सकते हैं। उम्मीद है की आपको हमारी ये पोस्ट(Diwali Wishes in Hindi) ज़रूर पसंद आएगी। आपको दिवाली की शुभकामनायें!

Happy Diwali Wishes in Hindi

प्रकाश व खुशियों के महापर्व ‘दीपावाली’ में आपके जीवन में सुख, शांति एवं समृद्धि आये।
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

दीप जगमगाते रहें,
सबके घर झिलमिलाते रहें,
साथ हों सब अपने,
सब यूँ ही मुस्कुराते रहें।
शुभ दिवाली

दिये की रौशनी से सब ॲंधेरा दूर हो जाये,
दुआ है की जो चाहो आप वो खुशी मंजूर हो जाये।
शुभ दिवाली

दिवाली त्यौहार दीप का, मिलकर दीप जलायेंगे।
सजा रंगोली से आँगन को, सबका मन हर्षायेंगे।
बम-पटाखे भी फोड़ेंगे, खूब मिठाई खायेंगे।
दिवाली त्यौहार मिलन का, घर-घर मिलने जायेंगे।
शुभ दिवाली

मुस्कुराते हँसते दीप तुम जलाना,
जीवन में नई खुशियों को लाना,
दुःख दर्द अपने भूल कर, सबको गले लगाना।
शुभ दिवाली

Diwali Wishes in Hindi Shayari

खुशियों का पर्व है दिवाली,
मस्ती की फुहार है दिवाली,
लक्ष्मी पूजन का दिन है दिवाली,
अपनों का प्यार है दिवाली।
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं

जगमग जले ये सुंदर दीप,
चारों तरफ रौशनी ही रौशनी हो,
मेरी है यही दुआ, इस दिवाली पर
होठों पर आपके बस हँसी ही हँसी हो।
शुभ दिवाली

सुख समृद्धि मिले आपको इस दीवाली पर,
दुख से मुक्ति मिले इस दीवाली पर,
माॅं लक्ष्मी का आशीर्वाद हो आपके साथ,
और लाखों खुशियां मिलें इस दीवाली पर..!
शुभ दीवाली !

हर दुआ हो कुबूल,
न जाए कोई खाली,
लक्ष्मी माँ की कृपा रहे,
हो शुभ सबकी दिवाली।
आप सभी को …

Happy Diwali Wishes in Hindi Read More

विक्रम बेताल की छठी कहानी: पत्नी किसकी? बेताल पच्चीसी

पत्नी किसकी? बेताल पच्चीसी की छठी कहानी – Pachisi ki Chhatthi Kahaani

Vikram Betal ki Kahaani

एक और प्रयासों के बाद राजा विक्रमादित्य ने एक बार फिर बेताल को पकड़ लिया। वह उसे जब योगी के पास ले जाने लगे, तो बेताल ने नई कहानी शुरू कर दी।

बहुत पहले धर्मपुर नाम के नगर में गंधर्वसेन नाम का युवक रहता था। गंधर्वसेन की कद-काठी बहुत आकर्षक थी। यही कारण था कि कई लड़कियां उससे विवाह करना चाहती थीं, लेकिन गंधर्वसेन किसी को ध्यान नहीं देता था। वह हर रोजअपने घोड़े पर सवार होकर नगर में निकलता था और तेज गति से नगर को पार करके एक मंदिर की ओर निकल जाता था। यह मंदिर काली देवी का मंदिर था। गंधर्वसेन काली मां का बहुत बड़ा भक्त था। वो हर दिन मां काली की पूजा किया करता था।

एक दिन जब वो मंदिर से लौट रहा था तो उसने नदी के किनारे एक धोबी की लड़की को कपड़े धोते हुए देखा। वह लड़की गंधर्वसेन को बहुत सुन्दर लगी। गंधर्वसेन को उस लड़की से प्यार हो गया और वो दिन रात उसी के बारे में सोचने लगा। उसे लड़की से बात करने का कोई रास्ता नहीं सूझता। एक दिन उसने काली मां के मंदिर में पूजा करते हुए ये प्रतिज्ञा ली कि अगर वो लड़की उसकी हो गयी तो वो काली मां के चरणों में अपना शीश चढ़ा देगा। गंधर्वसेन खाना-पीना भूल चुका था, वो दिन रात उसी लड़की के बारे में सोचता रहता। इसका परिणाम ये हुआ कि गंधर्वसेन बीमार हो गया।

गंधर्वसेन को बीमार देखकर उसके मित्र देवदत्त ने उससे इसका कारण पूछा। गंधर्वसेन ने देवदत्त को अपना सारा हाल बताया। देवदत्त अपने मित्र से बहुत प्यार करता था, इसलिए उसने लड़की को ढूंढने की ठानी। देवदत्त उस लड़की को खोजने में सफल हुआ। देवदत्त ने उस लड़की के पिता से कहा कि अपनी बेटी की शादी गंधर्वसेन से कर दें। लड़की के पिता ने सारी स्थिति का जायजा लिया और अपनी बेटी का विवाह गंधर्वसेन से करा दिया।

विवाह के कुछ दिन बाद लड़की के पिता यहाँ उत्सव हुआ। गंधर्वसेन शादी की ख़ुशी में उस प्रतिज्ञा को भूल चुका था, जो उसने देवी के सामने की थी। लेकिन एक दिन सपने में गंधर्वसेन को उसकी अपनी छाया ने यह बात याद दिलाई। अगले दिन गंधर्वसेन को अपनी गलती का अहसास होता है और वो काली मंदिर में अपनी बलि देने के लिए तैयार हो जाता है। वो अपने मित्र देवदत्त को बुलाता है …

विक्रम बेताल की छठी कहानी: पत्नी किसकी? बेताल पच्चीसी Read More

लस्सी किंग – समर्थ (बच्चों की कहानी) Kids Story in Hindi

लस्सी किंग – Kids Story in Hindi

रतनपुर गांव में समर्थ नाम का एक बच्चा रहता था। उसकी उम्र महज १३ साल की थी। समर्थ इतना छोटा था, लेकिन कई डाकुओं से लड़ने की हिम्मत रखता था। गांव में जब भी डाकू या चोर आता, लोग समर्थ को आगे कर देते। समर्थ की एक ही ताकत थी, लस्सी। गांव में सब उसको लस्सी किंग के नाम से जानते थे। जब लस्सी पीने को नहीं मिलती, तो समर्थ दुःखी हो जाता था। समर्थ का दिमाग काम करना बंद हो जाता था और उसका शरीर भी कमजोर पड़ने लगता था; लेकिन जब उसको लस्सी मिल जाती, वह उत्साहित हो जाता और अपने आप में एक स्फूर्ति महसूस करता।

एक बार समर्थ ने घर की सारी बनाई हुई लस्सी पी ली। मां ने उसको बहुत सुनाया और कहा की अब तूझे लस्सी नहीं मिलेगी। जा चला जा यहां से तू। उस गांव में चंपा रानी की लस्सी बहुत प्रचलित थी। उसको सब रानी की लस्सी के नाम से जानते थे। गांव के बीच एक पीपल का पेड़ था, इसके नीचे बैठकर चंपा रानी लस्सी बेचती थी। उनका घर भी पीपल के पेड़ के पास में ही था। समर्थ चुपके से उनके पास चला गया और जब उसने देखा की चंपा रानी कुछ लेने के लिए घर पे गई है, तब चुपके से आके समर्थ ने सारी लस्सी पी ली और वापस घर चला गया। उसके घर जाने के बाद, चंपा रानी को पता चलते ही, वो तुरंत समर्थ के घर आई और कहा,“ प्रेमवती जी, बाहर निकालिए, अपने लाडले को जरा! देखो, देखो जरा! मेरी सारी लस्सी वो पी गया। अब घर में दही भी नहीं बचा है, मैं कैसे लस्सी बनाऊं अब? बताओ जरा मुझे। अपने लाडले को जरा समझाए और इसको घर पे रस्सी से बांधकर रखो, कुछ दिन। लस्सी के बिना रखो कुछ दिन उसको। ”

प्रेमवती ने एक मजबूत रस्सी से उसको बांध दिया और अपना काम करने लगी। रात को प्रेमवती ने रस्सी खोल दी, लेकिन दो – तीन दिनों तक लस्सी भी उसको नहीं दी। एक कमरे में उसको बंद कर दिया। तीन दिनों के बाद उसको बंद कमरे से बाहर निकाला, लेकिन गांव में किसी को भी लस्सी देने से मना किया। दो – तीन दिन तक लस्सी न पीने से उसका शरीर सुखा पड़ गया और शरीर में पूरी तरह से कमजोरी आ गई। वह बीमार हो गया और तीन दिन के बाद वो घर …

लस्सी किंग – समर्थ (बच्चों की कहानी) Kids Story in Hindi Read More

3 Very Good Moral Stories in Hindi – तीन प्रेरणादायक कहानियां

हमारी जिंदगी में ऐसी बहुत सी घटनाएं होती है जो हमें कोई ना कोई सीख देती है लेकिन हमें से ज्यादातर लोग इन घटनाओं को नजरअंदाज कर देते है। ऐसे में ये good moral stories in hindi आपको और आपके बच्चों को नैतिक मूल्यों को समझने के लिए जरुर पढ़नी चाहिए..

1). हमेशा सोच समझकर बोलना चाहिए – Moral Story in Hindi

एक बार एक किसान और उसके पडोसी के बीच खूब लड़ाई हुई। लड़ाई में किसान ने अपने पड़ोसी को भला बुरा कह दिया, पर जब बाद में उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह एक संत के पास गया और उसने संत से अपने शब्द वापस लेने का उपाय पूछा, संत ने किसान की बात सुनकर उसे ढेरों पंख इकठ्ठा करने को कहा, और उन्हें शहर के बीचो-बीच जाकर रखने का आदेश दिया।

संत की बात मानकर किसान ने पंख शहर के बीचों -बीच रख दिए और दोबारा संत के पास पहुंचा। संत ने अब किसान से उन पंखों को वापस लाने को कहा। लेकिन किसान जब उन पंखों को लेने शहर के बीचों बीच पहुंचा तो वहां से सारे पंख उड़ चुके थे। जिस वजह से किसान को खाली हाथ संत के पास जाना पड़ा।

संत के पास जब किसान पहुंचा तो उसने बताया कि उसके जाने तक सारे पंख उड़ चुके थे। फिर संत ने किसान को समझाया कि इसी तरह एक बार मुंह से निकले शब्दों को भी वापस नहीं लिया जा सकता। इसलिए कभी भी किसी को अपशब्द कहने से पहले सोच लेना चाहिए।

ये थी one of the good moral stories in Hindi.

2). दोस्तों को किसी कमी के कारण नहीं छोड़ना चाहिए – Best Moral Story in Hindi

एक फार्म हाउस में दो घोड़े रहते थे। दूर से देखने पर दोनों घोड़े बिलकुल एक जैसे दिखते थे, लेकिन पास जाने पर पता चलता था कि उनमे से एक घोड़ा अँधा है। पर अंधा होने के बावजूद भी उसे उसके मालिक ने वहां से निकाला नहीं था बल्कि उसे और भी अधिक सुरक्षा और आराम के साथ रखा था।

मालिक ने दूसरे घोड़े के गले में एक घंटी बाँध रखी थी, जिसे अँधा घोड़ा घँटी की आवाज सुनकर उस घोड़े के पास पहुंच जाता और उसके पीछे-पीछे बाड़े में घूमता।

घंटी वाला घोड़ा भी अपने अंधे मित्र की परेशानी समझता, और बीच-बीच में पीछे मुड़कर देखता और इस बात को सुनिश्चित करता कि कहीं अँधा घोड़ा रास्ते से भटक ना जाए।

अँधे …

3 Very Good Moral Stories in Hindi – तीन प्रेरणादायक कहानियां Read More

“असमंजस” स्कूल लव स्टोरी इन हिंदी

-निधि जैन

.          लखनऊ शहर के मशहूर सिनेमा घर मेफेयर के सामने वाला चौराहा उसके ही नाम से प्रसिद्ध था। मेरी स्कूटी अभी उस चौराहे पर पहुँची ही थी कि पुलिस वाले ने हाथ दिखा कर ट्रैफिक रोक दिया। किसी गणमान्य व्यक्ति का काफिला गुजरने वाला था। मैंने घड़ी पर नजर डाली, दोपहर का पौन बज रहा था। गर्म हवा के थपेड़े चेहरे को झुलसा रहे थे।  मई का महीना, उस पर उत्तर-प्रदेश की लू वाली गर्मी। पता नहीं क्या सोच कर मैं भरी गर्मी में स्कूटी उठा कर चल दी। अच्छा खासा प्रदीप ए.सी गाड़ी भेज रहा था। उसमें चली जाती तो क्या बिगड़ जाता, पर हर जगह मेरा स्वाभिमान जो आड़े आ जाता है। पता नहीं अब यहाँ  कितनी देर खड़ा रहना पड़ेगा। हर गुजरते पल के साथ मेरी बेचैनी बढ़ रही थी। इस बेचैनी का कारण गर्मी थी या चौराहे पर खड़े हो कर इंतजार करना या फिर घर से निकलते समय आयुष का फोन। आयुष मेरा पड़ोसी और मेरा सबसे अच्छा दोस्त था। आज पता नहीं फोन पर कुछ अजीब सी बातें कर रहा था। पुरानी बातें दिल से निकल कर दिमाग पर दस्तक देने लगी थीं।

.          उस समय मेरी उम्र करीब पाँच साल थी। एक दिन मैं स्कूल से लौटी तो पापा-मम्मी अपने कमरे में उदास बैठे थे। मैंने पहले कभी उन्हें ऐसे नहीं देखा था। पापा उठ कर कमरे के बाहर चले गये। मैं रोज की तरह माँ को अपनी दिन-भर की कहानियाँ सुनाने लगी। माँ एकदम शांत भाव से मेरी बातें सुनती रही। अचानक उसने मुझे गले से लगा लिया और फफक-फफक कर रो पड़ी। मैंने घबरा कर पूछा, “माँ, रो क्यों रही हो? तुम ही तो कहती हो कि अच्छे बच्चे रोते नहीं।” तभी पापा कमरे में दाखिल हुए, उन्होंने  मुझे आया के साथ कमरे के बाहर भेज दिया। थोड़ी देर बाद माँ-पापा मुसकुराते हुए बाहर आये और ऐसा लगा जैसे सब कुछ सामान्य हो गया।

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

.         सच तो यह था कि कुछ भी सामान्य नहीं था। पापा, माँ को ले कर अस्पताल जाने लगे और मैं स्कूल से आ कर पड़ोस वाली आन्टी के घर। आन्टी का व्यवहार मेरे साथ बहुत ही सख्त और रूखा था। वह न तो मुझसे कोई बात करती और न ही कुछ खाने को देती। तीन-चार दिन बाद ही उन्होंने पापा से कह दिया, “आप अपना कुछ और इंतजाम कर लें। मुझे बच्चे की वजह से बहुत बंधन हो जाता है।” पापा ने मेरी स्कूल …

“असमंजस” स्कूल लव स्टोरी इन हिंदी Read More

कोई भूख के लिए खाता है तो कोई सेल्फी के लिए – Hindi Kahani on Modern Society

मैं हिमाचल के धर्मशाला शहर में रहता हूँ. जिन लोगों को नहीं पता, उन्हें बता दू कि धर्मशाला एक टूरिस्ट प्लेस है. क्यूंकि यहाँ का मौसम काफी ठंडा है, हर साल गर्मियों में लाखों लोग यहाँ घूमने आते है. मेरे घर के पास एक कैफ़े ( Cafe ) है जहाँ मैंने अक्सर कॉफ़ी या जूस पीने जाता हूँ और साथ में अपना लैपटॉप भी ले जाता हूँ ताकि कोई नयी कहानी लिख सकू, काफी शांत जगह पर बना है ये कैफ़े.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

Hindi Kahani on Modern Society

एक दिन शाम के वक़्त मैं उसी कैफ़े में गया और कैफ़े के बाहर एक टेबल पर बैठ कर कॉफ़ी पीते पीते कुछ सोच रहा था कि कही से 2 लड़का और लड़की मेरे पास आये और पैसे मांगने लगे. देख कर लग रहा था कि वो दोनों भाई बहन है, उनके कपडे काफी गंदे थे. हमारे यहाँ धर्मशाला में अक्सर ऐसे मांगने वाले आते रहते है. मैंने पैसे देने को मना कर दिया और उन्हें इग्नोर कर दिया। फिर भी 1 मिनट तक वो मुझसे मांगते रहे लेकिन मैंने ध्यान नहीं दिया.

कुछ समय बाद वो दोनों सड़क पर आते जाते लोगो से पैसे मांगने लगे. उन्हें 2 मिनट तक देखने के बाद मैंने उन्हें आवाज़ लगायी और अपने पास बुलाया.

“मैं पैसे तो नहीं दूंगा लेकिन अगर भूख लगी है तो कुछ खिला देता हूँ” मैंने उन दोनों को कहा.

उन्होंने कैफ़े में लगी मसाला डोसा की तस्वीर की तरफ इशारा किया। मैंने उन्हें कहा जाओ, आर्डर कर दो, मैं पैसे दे दूंगा. जैसे ही उनका मसाला डोसा आया उन्होंने महज़ 2 मिनट में खा लिया। मैंने आज तक इतना भूखा किसी को नहीं देखा था, उन पर दया आ रही थी. “यकीनन उन्होंने काफी देर से कुछ नहीं खाया होगा …..अच्छा किया जो इन बेचारो को खिला दिया ” मैंने मन ही मन सोचा और अपने लैपटॉप पर कुछ लिखना शुरू कर दिया.

दो मिनट बाद मेरा ध्यान सामने से आ रही तीन लड़कियों पर गया. एक दम मॉडर्न लड़कियां, अपने अपने हाथ में iPhone पकडे हुए कैफ़े की तरफ आ रही थी. करीब 15 से 16 साल की लग रही थे वे तीनो लड़कियां और उन्हें देख कर कोई भी अंदाज़ा लगा सकता था कि वे काफी अमीर घर से है.

“भईया….2 पास्ता, एक स्माल पिज़्ज़ा और तीन ऑरेंज जूस” उन लड़कियों में से एक ने कैफ़े के वेटर को आर्डर किया. मैं उन्हें देख नहीं रहा था लेकिन मेरा …

कोई भूख के लिए खाता है तो कोई सेल्फी के लिए – Hindi Kahani on Modern Society Read More

Firaq Gorakhpuri Shayari

Firaq Gorakhpuri Shayari: फ़िराक़ गोरखुरी जी भारत के एक बेहद प्रभावशाली शायर थे। यहाँ पर पढ़िए फ़िराक गोरखपुरी जी की कुछ बेहद ही ख़ास शायरी हिंदी में जो आपको ज़रूर पसंद आएँगी।

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

Firaq Gorakhpuri Shayari

तुम इसे शिकवा समझकर किस लिए शरमा गए
मुद्दतों के बाद देखा था तो आँसू आ गए।

एक मुद्दत से तिरी याद भी आई न हमें
और हम भूल गये हों तुझे ऐसा भी नहीं।

आई है कुछ न पूछ क़यामत कहाँ कहाँ
उफ़ ले गई है मुझको मोहब्बत कहाँ कहाँ।

कुछ इशारे थे जिन्हें दुनिया समझ बैठे थे हम
उस निगाह-ए-आशना को क्या समझ बैठे थे हम।

मैं हूँ दिल है तन्हाई है
तुम भी होते अच्छा होता।

रोने को तो जिंदगी पड़ी है
कुछ तेरे सितम पे मुस्कुरा लें।

न जाने अश्क़ से आँखों में क्यों है आये हुए
गुजर गया जमाना तुझे भुलाये हुए।

बहुत पहले से ही उन क़दमों की आहट जान लेते हैं
तुझे ऐ जिंदगी हम दूर से पहचान लेते हैं।

कम से कम मौत से ऐसी मुझे उम्मीद नही
जिंदगी तूने तो धोके पे दिया है धोका।

मौत का भी इलाज हो शायद
ज़िन्दगी का कोई इलाज नहीं।…

Firaq Gorakhpuri Shayari Read More

वो जो दबी सी आस बाकी है….Love Breakup Bewafai Zindagi !

Bewafai Story in Hindi

मेरा नाम अनु है और ये बात है 4 साल पहले की, मेरी नयी-नयी शादी हुई थी. वैसे तो मेरी arranged marriage थी लेकिन शादी से पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड भी था जिसे मैं बहुत प्यार करती थी, उसका नाम अर्जुन था. शादी के बाद अभी एक महीना ही हुआ था कि मेरे पुराने बॉयफ्रेंड को मेरे ही ऑफिस में नौकरी मिल गयी. मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ा क्यूंकि मेरी शादी हो चुकी थी लेकिन फिर भी पता नहीं मुझे क्या सूझा कि मैंने अर्जुन से बात करनी शुरू कर दी, आखिर हम एक ही ऑफिस में तो थे.

एक दिन मैं ऑफिस के वाशरूम से निकल रही थी कि सामने अर्जुन खड़ा था, वो मेरे करीब आया, आँखों में आँखे डाले मुझे घूर रहा था, वो मेरे और करीब आया और हमने एक दुसरे को Kiss की. उस वक़्त पता नहीं मुझे क्या हो गया था, मैं शायद भूल गयी थी कि मैं शादीशुदा हूँ. कुछ देर इंटिमेट होने के बाद मुझे थोड़ा होश आया और मैंने अर्जुन को एकदम से अपने से दूर धक्का दिया और जा कर अपना काम करने लगी.

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

अर्जुन ने मुझे बहुत समझाया लेकिन मुझे पता था कि शादी के बाद ये गलत है. मुझे इस बात का इतना अफ़सोस हुआ कि मैंने नौकरी छोड़ दी और फिर कभी ऑफिस नहीं गयी.

मुझे ये बात अंदर ही अंदर खाये जा रही थी कि मैंने अपने पति जिसका नाम रोहित है उसके साथ धोखा किया. मैंने शादी के बाद एक दुसरे मर्द के साथ सम्बन्ध बनाये और यही बात मुझे दिन रात परेशान कर रही थी. यूँही 2 महीने बीत गए, मुझे ऑफिस छोड़े अब 2 महीने होने को आये थे और मैंने सोचा क्यों ना मैंने अपने पति (रोहित) को सब सच सच बता दू.

मैंने ठीक समय देख कर रोहित को सब बता दिया. उस दिन रोहित शाम को ऑफिस से घर आये थे, मैं डरी हुई थी लेकिन फिर भी हिम्मत करके उसे कहा “रोहित मुझे माफ़ कर दो”

रोहित: अनु… किस बात की माफ़ी?

वो, मैंने शादी के बाद भी एक लड़के के करीब आ गयी थी लेकिन वो सब एक गलती थी और मैं तुमसे माफ़ी मांगती हूँ. मैं तुम्हे यकीन दिलाती हूँ कि कभी फिर ऐसा नहीं होगा.

रोहित: तुमने मेरे साथ धोखा किया है अनु, मैं घर छोड़ कर जा रहा हूँ।

“नहीं रोहित, प्लीज ऐसा मत करो, वो सिर्फ एक गलती थी, …

वो जो दबी सी आस बाकी है….Love Breakup Bewafai Zindagi ! Read More

Imran Pratapgarhi Shayari

पढ़िए यहाँ पर मोहम्मद इमरान प्रतापगढ़ी जी की कुछ बेहद ही लोकप्रिय शायरी (Imran Pratapgarhi Shayari) जो आपको जरूर पसंद आएँगी।

shayarisms4lovers.in- love shayari, sad shayari, romantic shayari

Imran Pratapgarhi Shayari

अपनी मोहब्बत का यो बस एक ही उसूल है,
तू कुबूल है और तेरा सबकुछ कुबूल है।

हमने सीखा है ये रसूलों से,
जंग लड़ना सदा उसूलों से !
नफरतों वाली गालियाँ तुम दो,
हम तो देंगे ज़वाब फूलों से !!

राह में ख़तरे भी हैं, लेकिन ठहरता कौन है,
मौत कल आती है, आज आ जाये डरता कौन है !
तेरी लश्कर के मुक़ाबिल मैं अकेला हूँ मगर,
फ़ैसला मैदान में होगा कि मरता कौन है !!

हमने उसके जिस्म को फूलों की वादी कह दिया,
इस जरा सी बात पर हमको फसादी कह दिया,
हमने अख़बर बनकर जोधा से मोहब्बत की,
मगर सिरफिरे लोगों ने हमको लव जिहादी कह दिया।

एक बेवफा को ना आये हमारी वफ़ा का यकीन,
हमने कहा की हम मर जायेंगे उसने कहा आमीन।…

Imran Pratapgarhi Shayari Read More

Dard Bhare Alfaaz

Dard Bhare Alfaaz: पढ़िये यहाँ पर कुछ बेहद ही प्रसिद्ध दिल का दर्द बयां करने वाले दर्द भरे अलफ़ाज़ जो आपकी जिंदगी से जुड़े हो सकते हैं।

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi

Dard Bhare Alfaaz

शायद अब कभी लौट ना पाऊं खुशियों के बाजार में,
गम ने ऊंची बोली लगाकर खरीद लिया है मुझे…

कुछ ना बचा मेरे इन दो खाली हाथों में,
एक हाथ से किस्मत रूठ गई,
तो दूसरे हाथ से मोहब्बत छूट गई।

जिंदगी जला दी हमने जैसी जलानी थी,
अब धुंऐ पर तमाशा कैसा और राख पर बहस कैसी!!

गम यह नही की वक्त ने साथ नही दिया,
गम यह है कि जिसको वक्त दिया उसने साथ नही दिया।

टूट कर चाहना और फिर टूट जाना,
बात छोटी है मगर जान निकल जाती है।

बाद तेरे जाने के मर गई ये देह
जो ज़िंदा बचा मेरी रूह में वो था
“तेरे होने का एहसास”

याद आते हैं तो फिर टूट के याद आते हैं
गुजरे हुए लम्हे, बिछड़े हुए लोग..!🖤

कर के बेचैन फिर मेरा हाल ना पूछा
उसने नजरें फेर लीं मैंने भी सवाल ना पूछा…

हर रिश्ते में बस यही गिला है,
हमें कोई हमसा नही मिला है।

अच्छी थी कहानी मगर अधूरी रह गई,
इतनी मोहब्बत के बाद भी दूरी रह गई….🥀…

Dard Bhare Alfaaz Read More