Hindi Poem on Daughter | में बेटी हूँ

साथियों नमस्कार, आज हम आपके लिए एक ऐसी कविता “Hindi Poem on Daughter | में बेटी हूँ” लेकर आएं हैं जिसे पढ़कर आपको बेटियों पर गर्व महसूस होगा|


Hindi Poem on Daughter | में बेटी हूँ

जी हाँ! में बेटी हूँ,
जिसके जन्म लेती ही…
माता पिता करने लगते हैं उसके दहेज़ की व्यवस्था|

जी हाँ! में वही बेटी हूँ,
में जनि जाती हूँ लक्ष्मी के रूप में भले…
पर मुझ पर किए जाते हैं अन्याय अनेक|

जी हाँ! में बेटी हूँ,
जिसके लिए नारे लगाए जाते हैं कई…
परन्तु कोख में ही ख़त्म कर दिया जाता है मुझे!
और तो और पढने से भी वंचित रखा जाता है मुझे|

जी हाँ! में वही बेटी हूँ,
पढ़ लिख कर आगे बढ़ना चाहती हूँ में,
समाज की इस व्यवस्था को बदलना चाहती हूँ में|

रचयिता – सपना कुमारी साह


बेटी

चहकतेविहान का आफ़ताब है बेटी,
महकते शाम का महताब है बेटी|

ज़िन्दगी के छंदों का अलंकार है बेटी,
कविता के पन्नों का संस्कार है बेटी|

वत्सल के श्रृंगार का रस है बेटी,
कल के संसार का यश है बेटी||


तुम मेरी सखी बनोंगी ना

सुख में दुःख में संग मेरे रहना,
तुम मेरी सखी बनोंगी ना!

जब में रुठुं, तुम मुझे मानाने आना…
हंस दो न बस एक बार,
बोल-बोल कर मुझको गले लगाना…
बोलो ऐसा करोगी ना,
तुम मेरी सखी बनोंगी ना!!

माँ, आज यह पहनों…आज यह ओढो,
कहकर मुझसे लाड जाताना…
आज यह खाना…आज वह खाना,
अपनी फरमाइशें बताना…
खूब प्यार में करती तुमसे,
तुम भी इतना प्यार करोगी ना ?
तुम मेरी सखी बनोंगी ना||

रचयीता – निभा अम्बुज जैन


अन्याय देखकर आंख उठाती,

नही तो लज्जा का अवतार है।

कितने कष्ट भी उसने झेले,

पर सहनशीलता भरमार है।

टूटने लगता जो कभी हौसला,

तो बनती सच्ची ढार है।

छेड़ो कभी जो राक्षस बनकर,

तो “दुर्गा” सी अंगार है।

रचयिता – प्रिया त्रिपाठी


Hindi Poem / हिंदी कविता

बिल्ली और चुहिया

बिल्ली बोली चुहिया से
क्या मुझे दोस्त बनाओगी?
चुहिया बोली नहीं दीदी,
कभी नहीं बनाऊँगी।
दोस्त बनाकर तुम मुझको,
अपने पास बुलाओगी।
पास अगर मैं आई तुम्हारे,
झट से चट कर जाओगी।

इंद्रधनुष

सात रंगों से मिलके बना है,
इंद्रधनुष का रंग।
बैंगनी, आसमानी, हरा,
पीला, नारंगी, लाल, नीला।
इन्हीं रंगों से मिलके बना है,
रंगों का संसार।
एक से दूजा मिलकर,
बन जाएँ रंग हजार।

डाकिया

देखो एक डाकिया आया,
थैला अपने साथ में लाया।
पहनी है वो खाकी कपड़े,
चिट्ठी कई हाथ में पकड़े।
बॉट रहा है घर-घर में चिट्ठी,
मुझको भी दी लाकर चिट्ठी।
चिट्ठी में संदेशा आया,
शादी में है हमें बुलाया।

टेलीफोन

बड़ा अनोखा टेलीफोन,
आती है आवाज कहाँ से?
जो है मीलों दूर यहाँ से,
उसके बहुत पास होने का!
देता धोखा टेलीफोन,
इस पर छपे हुए नंबर
शायद वे ही हैं जादूगर,
सब वे हाल जान लेने का,
एक झरोखा टेलीफोन।

वर्षा

चम चम चम चम बिजली चमके,
रिमझिम रिमझिम बादल बरसे।
गरज गरज कर करते शोर,
छायी काली घटा घनघोर ।
प्यारी धरती की प्यास बुझाने,
आयी वर्षा में भिगोने।
मैं तो हूँ इसकी दीवानी,
सबसे प्यारी वर्षा रानी।

तितली रानी

तितली रानी इतने सुंदर,
पंख कहाँ से लाई हो?
क्या तुम कोई शहजादी हो?
परी-लोक से आई हो।
फूल तुम्हें अच्छे लगते,
फूल हमें भी भाते हैं।
वे तुम को कैसे लगते जो,
फूल तोड़ ले जाते हैं।

चंदा मामा

चंदा मेरा मामा,
मुझे देख मुस्काता है।
रोज रात चुपके-चुपके,
आसमान में आता है।
आकर लोरी गाता है.
मुझको गले लगाता है।
प्यार से थपकी देकर,
मामा मुझे सुलाता है।

सपना

मुझको नींदिया आती है,
सपने भी दे जाती है।
सपने में जो आती है,
सुंदर परी कहलाती है।
जब वह छड़ी घुमाती है,
मिठाई-खिलौने बनाती है।
तो गड़बड़ हो जाती है,
जब आकर मम्मी जगाती है।

बैंगन राजा

बैंगन राजा कुछ तो बोल,
क्यों लगता है गोल-मटोल।
क्या तेरी मर्जी है बोल,
ना कर अब तू टालमटोल।
कहता झटपट मुझको तोल,
बीच बाजार में यह मत बोल।
खोल के रख दी मेरी पोल,
मैं तो हूँ बस गोल-मटोल।

पिंजरे के अंदर

पिंजरे के अंदर एक तोता,
बैठा-बैठा रोता रहता।

एक दिन एक कौआ आया।
आकर उसको समझाया।
ची-ची करके गिरो धड़ाम,
ऐसा लगे कि मर गए तुम।
बात मान लो मेरी नेक,
मालिक देगा तुमको फेंक।
तभी फुर्र से उड़ जाना,
लड़की अपने घर जाना।

मेरी प्यारी नानी

मेरी प्यारी अच्छी नानी,
सुनाओ ऐसी एक कहानी।
जिसमें …

Poem on Nature in Hindi

साथियों नमस्कार, हिंदी कहानियों, कविताओं की सबसे बड़ी वेबसाइट “हिंदी शोर्ट स्टोरीज़” पर आपका स्वागत है| आज के इस अंक में हम आपके लिए प्रकृति के ऊपर “Poem on Nature in Hindi | प्रकृति पर कविता” कुछ खास कविताओं को लेकर आएं हैं आशा है आपको हमारा यह संकलन बहुत पसंद आएगा| धन्यवाद!

“Poem on Nature in Hindi | प्रकृति पर कविता”

वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी
कहीं मड़ते बादल,
कहीं बरसता पानी,
कभी चलती तेज हवाएं,
कभी बिल्कुल थम जाती,
वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी,
कभी सूरज की रोशनी ,
तेज चिलचिलाती,
घनी अंधेरी रातों में,
चाँद तारे की रोशनी टिमटिमाती,
वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी, 
कहीं काले आसमां,
तो कहीं सफेद का रूप ले लेती,
कहीं फूल मुरझाये,
तो कहीं नयी कलियाँ खिलती प्यारी,
वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी,
कहीं सर्दी में लकड़ियाँ जलती,
कहीं वर्फ से ढकी गालियाँ मिलती,
हर समय, हर छड़,
तू बदलती प्यारी,
वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी, 
कहीं सुबह ओस की बूंदे,
तो कहीं सूरज की किरणें दिखलाती प्यारी,
जंगलों में मोर नाचता,
और आसमां में चिड़ियाँ चहचहाती प्यारी,
वाह प्रकृति तेरी लीला न्यारी, 
 अजय राजपूत (झाँसी)

“Small Poem on Nature | प्रकृति पर कविता”

किसी ने तुझे तू कहा
तो तुझे सारी रात नींद न आई
सोचता हूँ उसने कैसे
ज़िन्दगी दरवाज़े के बाहर
गुजारी होगी

आदमी चाँद पर पहुँच कर
क्या इतराता है
जब आदमी आदमी का ही
पेट भर न सका

आदमी वो है
जिसने चिड़ियों से दाने छीने
आदमी वो है
जिसने बादलों से पेड छीने

कोई पतंगा घर में घुस आया
तो सहन नहीं कर पाता
आदमी पतंगे के घर में घुस आया है
यह सच भी पचा न सका

नदी को कोसता है
की उसका घर बहा ले गई
सच यह है की
आदमी ने नदियों से रास्ता छिना

फिर भी किस बात पर
इतराता है आदमी
किसी का क्या हुआ जो
आदमी आदमी का न हुआ


Mera jana huwa…..for my Barbie doll

Takdeer thi Meri esi ki Mera jana huwa
Bhalai thi dono ki esi ki
Mera jana huwa
Ab samjau to Kese samjau ki dur u hi Nhi hote log Bas
Mera jana huwa
Ab me to nikal aaya dur leke Teri yaad or
Mithi mithi vo Teri baat ki Mese dur mat jana
Lakin dekho fir Bhi
Mera jana huwa
Yaaaaaaar Bas samja Lo Khud Ko Kese Bhi
Ro Mat Bas chahe Jese Bhi
Kyoki…
Aaunga pass tmhare me Vese Bhi
Bas abhi maaf kro
Abhi Na roko or keh do ki
Aakhir Kyu
Tera jana huwa
…………
Nhi Tha koi javab tere is
Saval Ka
Jo Na jata me dur to Hota rishta apna Kamal Ka
Lakin
Fir Bhi Mera jana huwa

Esa Nhi h ki me tuje yaad Nhi krta
Milne Ke liy baat nahi krta
Agar hoti vajah Na Itni badi to shayad me
Khudko tujse u alag Nhi krta……..…

Meli Barbiee Doll – Youe Teddy

For my doll
Vo kehte h Na ki Kon kisko Kitna pyar krta hai
Bas janna jaruri Yhi Hota hai
Ki visvaas Ese me hadd se jadha Hota hai
Kuch esi hi h Meri pyari doll
Jiske paas nhi koi pyare boll
Bas pyar Krti h hadd se jadha
Lakin dimag hai uska abhi aadha

Or nhi to kya
Kehti h pyar Krti to hai
Lakin jtana nhi aata
Par darr Bhi h uske Bina rha nhi jata

Jese me us samundar Ka paani Hu
Jiski Ek Ek bhoond Bhi Kisi Ke naam likhi ja chuki Ho
Bas Ese hi hamara pyar Ho
Ruthe vo to gussa me Ho jaau or
Manana uska Ho
Koi saat de ya Na de par hamara pyar hi ek Sahara Ho
Or
Tu Muje duniya me sabse pyara Ho

Pyar karke Bhi adhura sa lge
Jese barso purana koi pyar h saje
Milne Ka man Hota h usko Bhi
Lakin darti h Apne family se khi
Choti h pyari h fir Bhi mujpar  bhari hai
Jo koi keh de ki Kisi or Ka Hu to koi nhi
Bas gussa nhi dikhati baat toda kam Krti
Hai

Lakin mujse pyar bhot Karti hai
Bas hai Itni c khwaish ki Milna milana jab hoga
to din Raat Bas tera khyal hoga
saat Teri yaade hogi sang Apne Milne ki ajadi hogi

Toda Tum Kuch kehna toda Mera Tum Kuch Sunna
Haatho me haath leke Bas Tum hmesa Ese hi Meri rehna
Itna hi hai Muje ab kehna
Meri Barbiee doll sun Lo
Muje Bas Tumhara ban Ke hi hai rehnaaaa..
Love u bhot Sara………

25 Heartbreaking Instagram Poems About Lost Love

Turn on those sad songs, eat your ice cream, and read some of theses poems to help ease the pain.

Falling in love can be one of the most beautiful things — many people say love makes the world go round. But with love, a lot of time, comes heartbreak. Breaking up is a very confusing time for someone just getting out of a relationship because they feel so many different emotions — from being angry or sad, being in denial, or maybe even trying to beg the other person to take you back — feeling your heart break is painful in every way.

When people get heartbroken they often sit at home eating ice cream and crying, watching Legally Blonde (speaking from personal experience). Others just go out to party to blow off steam.

People handle heartbreak very differently, no matter what happened or how you deal with grief, know your feelings are valid. It is okay to feel this way, everyone has gone through some sort of loss and heartbreak in their life.

Life is not meant to be a fairytale, you will fall down and get hurt every once in a while. When going through heartbreak we think “I am the only one feeling this”, but the truth is you are not. Popular celebrities like Lizzo have gone through heartbreak, and the gorgeous man himself Liam Hemsworth is going through heartbreak as we speak (not sure how Miley can get over him).

If Miley Cyrus can get over Liam Hemsworth, you can too.

Let yourself cry, and be sad; but just know one day you won’t feel this way anymore, some days will be harder than others and then other days you will feel like you are completely free of those emotions.

Just know that one day you will be fine, you won’t feel sad or hurt buy this anymore. Eventually it will get easier, and the memories you have from that person won’t hurt as much. It is okay to feel sad, you will get over this.

So turn on those sad songs, eat your ice cream, and read some of the sad quotes about breaking up and heartbreaking Instagram poems about lost love to help ease your broken heart through the stages of grief.

1. Missing someone is the hardest thing to get over.

“What a terrible thing to do missing someone who hasn’t thought …

Pankaj Mishra Poems in Hindi

मेरी प्यारी पीहू मुस्कुराने लगी है…..!!

फूल सी कोमल ओस सी नाजुक पीहू
रिस्तो की पगडंडियों पर मुस्कुराने लगी है
सुबह अपनी मम्मी से पहले आके
पापा पापा बोल के जगाने लगी है
गुस्सा हो जाती है फिर देखती नही
अपने पापा को देखो सताने लगी है
आफिस से आते ही एक प्यारी सी मिठ्ठी
पापा के दिल को बहलाने लगी है
मेरी दुआओ में शामिल मेरे दिल की धड़कन
मेरी प्यारी पीहू मुस्कुराने लगी है..!!

**************************************************

मेरा हाल ऐ दिल बताता है…..!!

इक़ आईना है , जो मुझ से , मेरा हाल ऐ दिल बताता है
इक़ मैं हु ,जो खुद से ,हर दर्द ऐ दिल छुपता हु
इक़ जख्म है ,जो चीख कर मेरे अश्को को बुलाते है
इक़ लब है, मुस्का के जो हर दर्द को छुपाते है
एक मैं हु जो इश्क़ को दफ़ना चुका हु अंदर तक.
एक आंखे है , हर सख़्श को मेरा हाल ऐ दिल बताती है..!!

******************************************************

तुझको एक दिन जमीं पे लाऊँगा….!!

हिना का रंग हूँ, हाथो में समेट ले मुझको
खुसबू हु फिजाओ में बिखर जाऊँगा
सोख मदहोशी हु छुपा ले मुझको आँखों में
वादा है हँसी बनके लबो पे आऊँगा
तू जीता है मेरी आँखों में हँसी ख्वाब की तरह
जिद है अपनी भी ख्वाब को हकीकत बनाऊँगा
माना की जन्नत की परी है तू
यकीं है तुझको एक दिन जमीं पे लाऊँगा..!!

******************************************************

2 Line Shayari in Hindi Pankaj Mishra

जाते हुए तेरी नजरो का असर, की रात सारी तेरे खवाबो में गुजरी,

लम्हा लम्हा तेरे ना होने की बेचैनी, कतरा कतरा तेरे यादो में गुजरी..!!

********************************************************************

भुला दो तुम मुझे लेकिन इतना याद रखना,

कुछ वादे तुम्हारे हैं जो अब भी अधूरे हैं..!!

******************************************************…

Unsolved problems – Kaali

Yha Na Har Kisi Ko Kuch Na Kuch dikkat hi h
Lakin Kisi Ke pass Bas
Vaktt hi NI h
Ye jo problm h Na isi ne to hme jeena sikhaya h
Solv hone Ke baad Khushi jo de paya h
Kuch log Apni problm sabse share karte h
To Kuch log  na jaane kitne dare Krte h
Or to or Kuch log Bas Khud Ko dusro se compare Krte h
..
Bas hmesa inse dosti rakho
Problm chahe Kuch Bhi Ho
Todi to yar himmat rakho
Kisi se Na Sahi Lakin Apni problm se mohabatt rakho
..
Tum dekhna hongi ek din Ye hal
Jab problm Ke baad aayga Ek nya Kal
To bhot Achha hoga vo or vo Bas Ek pal
Jise jiynge ham harpal
To yaaro gale lgao Apni Har problm se
Family ki Ho ya lover ki suno Bas Apne dill ki
Toda dimag se kaam Lo Lakin kro Apne man ki
Hogi saari problm Sahi
Na Bhi huwi to jaygi kya khi
Aana jo vapis h
Ek nai problm banke Dena jo aapko h
Ek nai tension banke
Isliy toda Socho Tum Bhi
Samjdaar banke
Jo Na hoti Itni tension to kya aage aate nay dost banke
Ab dosti ki pehchan inhi se h
Or
Jeena Bhi Bas inhi se h…

Jaan dhoka hun mai – Nitya

Haste…muskurate…
Pyare gane gun gunate…

Mujhe jina hai ….
Apne har gam bhula k….

Apne dard chupa v lun…
Roo kr har gum bhula v dun..

Lekin.. mere karan ek koi or v roo rha hai …
Koi or nhi ..wo mera behad apna hai….
Jiski aankhein kavi nam na ho…
Ki duayien mangti hun…
Wo shaks mere wjh se tadap rha hai…
Iss dard me kese jiun ..

Mujhe jina hai…
Lekin uske pyar k sath…
Uski narajgi.. mai…kese sahun…uske aansu pr toh mera dil dahel jata hai…
Usko khud hi rula kr…
Khud khus kese rahun…
Mai glat hun…
Mai behad buri hun…
Lekin sachi … usse behad mohabbat v krti hun…

Aaj andhere me baith kr …
Zindagi k andhero se chupp rhi hun  …
Andheri raat k baad v…
Ummid ki kiran ko nhi …
Mai tapte suraj ko nihar rhi hun…
Kese btau khud ki gltiyon pr aaj mai … ro v nhi paa rhi hun…

Lekin afsos sbse jyada isi chij ka hai… mai apne jaan ko akela kr rhi hun… uski ummidon ko ek ek kr tod ti jaa rhi hun….

Or khud ko uske beintehaan nafrat k kabil bnate jaa rhi hun……

Uske Bina – Deepak

Uske bna chup-2 rhna acha lgta h ,

khamoshi s drd ko shna acha lgta h.

jiski yad m ansu brste h,

Uske samne kuch na khna acha lgta h.

Milkr usse alag na ho jau drta rhta hu,

isliy bs dur hi rhna acha lgta h.

Janta hu k chahat m sirf ansu milte h ,

kuch b ho ab is zaher ko pina acha lgta h.

Ji chahe sb khusiya lakr usko de du ,

uske pyar m sb kuch khona acha lgta h.

Uska milna na milna kismat ki bat h ,

pal-pal uski yad m rona acha lgta h.

Uske bna sb khusiya ajib si lgti h,

ro-ro kr uski yad m sona acha lgta h……

bas acha lagta h…..!!!!!!!…