प्यार, मोहबत और चाहत शायरी – Shayari of Love and Romance

चाहत की महफ़िल

ग़म न कर ज़िन्दगी बहुत बड़ी है
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है

 

Chahat Ki Mehfil

Gham Na Kar Zindagi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Hai,
Bas Ek Baar Muskura Kar Tho Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai

 


आप के नाम

मंज़िलों की हर राह आप के नाम ,
मोहब्बत की हर अदा आप के नाम
प्यार भरी हर निगाह आप के नाम
और आज लबों पर आने वाली हर दुआ आपके नाम

Aap Ke Naam

Manzilo ki har sadak aap ke naam
Mohabbat ki har adda aap ke naam
Pyaar bhari har nigah aap ke naam
Aur aaj labon par aaane wali har dua aapke naam

 


प्यार की तड़प

प्यार की तड़प को दिखाया नहीं जाता
दिल में लगी आग को बुझाया …

Continue Reading

तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब – उर्दू शायरी फूल गुलाब का

तुझे पल भर को भी भूल जाने की कोशिश कभी कामयाब न हुई 
तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब थी जो हवा चली तो महक उठी
बन के गुलाब

बन के गुलाब कांटे चुभा गया एक शख्स
हुआ चिराग तो घर ही जला गया एक शख्स

तमाम रंग मेरे और सारे ख्वाब  मेरे
फ़साना था के अफसाना बना गया एक शख्स

मैं किस हवा में उड़ूँ किस फ़िज़ा में लहराऊँ
दुखों के जाल हर जगह बिछा गया एक शख्स

इश्क़ में किसी के भुला रखा था इसे
मिले वो ज़ख़्म के फिर याद आ गया एक शख्स

खुला यह राज़ की आईना जहाँ है दुनिया
और इस जहाँ में मुझे तमाशा बना गया एक शख्स

Ban Ke Gulab

Ban ke Gulab kante chubha gaya ek shakhs
Hua Chirag to ghar hi jalaa gaya ek shakhs

Tamam rang mere aur sare khawab mere
Fasana tha ke afasana bana gaya ek shakhs

Main kis hawa …

Continue Reading

पैगाम-ऐ-मोहब्बत शायरी

यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी

यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी
होंट खुले मगर कोई बात न हो सकी
मेरी खामोश निगाहें हर बात कह गई
और उनको शिकायत है के बात न हो सकी

Yun Mile ke Mulakaat Na Ho Saki

Yun mile ke Mulakaat na ho Saki
Hont khulay Magar koi Baat Na Ho Saki
Meri Khamosh Nigahen Har Baat keh gai
Aur Unko Shikayat Hai ke Baat Na Ho Saki


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं 

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं
झुकी निगाह को इक़रार कहते हैं
सिर्फ पाने का नाम इश्क़ नहीं
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं

Dil ki  Awaaz ko Izhaar Kehte Hain

Dil ki aawaz ko izhaar kehte hain
jhuki nigah ko iqrar kehte hain
sirf paane ka naam ishq nahin
kuch khone ko bhi pyar kehte hain

 


हम भी मोहब्बत करके गुनेहगार हो गए 

हम भी मोहब्बत …

Continue Reading

धुआं जब मेरे होंटों से निकल कर तेरा अक्स बनाता है….

मैं सिगरेट को हथेली पर

मैं सिगरेट को हथेली पर
उलट कर खाली करता हूँ

फिर उस में डाल कर यादें
तुम्हारी खूब मलता हूँ

ज़रा सा ग़म मिलाता हूँ
हथेली को घूमता हूँ

बसा कर तुझ को सांसो में
में फिर सिगरेट बनता हूँ

लगा कर अपने होंटों से
मोहब्बत से जलाता हूँ

तुझे सुलगा के सिगरेट में
मैं तेरे कश लगाता हूँ

 

धुआं जब मेरे होंटों से
निकल कर रक़्स करता है

मेरे चारों तरफ कमरे में
तेरा अक्स बनता है

मैं उस से बात करता हूँ
वो मुझ से बात करता है

यह लम्हा बात करने का बड़ा
अनमोल होता है

तेरी यादें तेरी बातें
बड़ा माहोल होता है …!!!!

 

Main Cigarette Ko Hatheli Par

Main Cigarette Ko Hatheli Par
Ulat Kar Khali Karta Hoon

Phir Us Mein Daal Kr Yaadein
Tumhari Khoob Malta Hoon

Zara Sa Gham Milata Hoon
Hatheli Ko Ghumata Hoon

Basa Kar …

Continue Reading

अपनी गली में अपना ही घर ढूँढ़ते हैं लोग – फ़राज़

टूट कर  चाहेगा  मुझे

सोचा था के वो बहुत टूट कर  चाहेगा  मुझे “फ़राज़”
लेकिन “चाहा ” भी हम ने और टूटे भी हम

Toot Kar  Chahayga

SOCHA Tha ke wo bahut toot kar  CHAHAYGA  mujhe  “FARAZ”
Lekin “Chaha” bhi Humne aur toote bhi  HUM


शहर

अपनी गली में अपना ही घर ढूँढ़ते हैं लोग
यह कौन शहर का नक़्शा बदल गया

Shehar

Apni gali mein apna hi ghar dhoondte hain log,
Yeh kaun shehar ka naqsha badal gaya…

Continue Reading

तेरा इंतज़ार तेरी जुस्तजू – शायरी

तेरा इंतज़ार

इतना ऐतबार तो अपनी धड़कनों पर भी हमने न किया ;
जितना आपकी बातों पर करते हैं ;
इतना इंतज़ार तो अपनी साँसों का भी न किया ;
जितना आपके मिलने का करते हैं !

 

Tera Intezar

Itna Aitbaar To Apni Dhadkanon Par Bhi Humne Na Kiya;
Jitna Aapki Baaton Par Karte Hain;
Itna Intezar To Apni Saanson Ka Bhi Na Kiya;
Jitna Aapke Milne Ka Karte Hain!

 


आँखों में इंतज़ार होता है

रूठी हुई आँखों में इंतज़ार होता है ;
न चाहते हुए भी प्यार होता है ;
क्यों देखते हैं हम वो सपने ;
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतज़ार होता है !

Aankhon Mein Intezar Hota Hai

Ruthi Hui Aankhon Mein Intezar Hota Hai;
Na Chahte Hue Bhi Pyar Hota Hai;
Kyun Dekhte Hain Hum Wo Sapne;
Jinke Tutne Par Bhi Unke Sach Hone Ka Intezar Hota Hai!


तेरी आँखो 
Continue Reading

फ़राज़ की दिल फरेब उर्दू शायरी – Erratic collection of Fazar Shayari

किसी से जुदा होना

किसी से जुदा होना अगर इतना आसान होता “फ़राज़”
जिस्म से रूह को लेने कभी फरिश्ते न आते

 

Kissi Se Juda Hona

Kissi Se Juda Hona Agar Itna Asan Hota “FARAZ”
Jism Se Rooh Ko Leney Kabhi Farishtay Na Aate


प्यासे गुज़र जाते हैं

तू किसी और के लिए होगा समंदर-ऐ -इश्क़ “फ़राज़”
हम तो रोज़ तेरे साहिल से प्यासे गुज़र जाते हैं

 

Piyase Guzaar Jate Hain

Tu kisi aur ke liye hoga samander-ae-ishq “Faraz”
hum to rooz tere sahil se piyase guzaar jate hain


मिले तो कुछ कह न सके

हम उन से मिले तो कुछ कह न सके “फ़राज़”
ख़ुशी इतनी थी के मुलाक़ात आँसू पोंछते ही गुज़र गई

 

Milay To Khuch Keh na Sakay

hum un se milay to khuch keh na sakay “Faraz”
khushi itni the ke mulaqaat ansoo ponchtay hi guzaar gai


इश्क़ का नशा

कुछ इश्क़ का …

Continue Reading

Happy Birthday to You – जन्मदिन मुबारक

जन्मदिन मुबारक

शमा में अगर नूर न होता ,
तनहा दिल इतना मजबूर न होता
हम आपको खुद जन्मदिन मुबारक देने आते
यदि आपका आशियाना इतनी दूर न होता ..

आपको जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई


आपकी सालगिरह – एक वादा

आपकी सालगिरह पर यह वादा करते है
हम तुम होंगे कभी न जुदा यह इरादा करते है
जीवन भर साथ चलेंगे यह एक वादा करते है
एक दूसरे के प्यार में जान भी देंगे यह इरादा रखते है


 Candle and Cake

I Wish That For Each Candle On Your Cake
May You Receive An Extra Reason To Smile.

Happy Birthday To You..


Happy Birthday

Every Second , Every Minute, Every Hour And Every Day In My Life
These Are The Only Times I Think About You.

Happy Birthday..


आपको जन्मदिन की बधाई

लम्हा दर लम्हा आपके होठों पे मुस्कान रहे
गम के काले बादल आप  से कोसो दूर

Continue Reading

इश्क़ का इम्तिहान – Two Lines Hindi and Urdu Shayari

जब भी ख़्याल आता है

कुछ तो था जो आज भी जेहन से गुजरता है
उदास कर जाता है जब भी ख़्याल आता है

Jab Bhi kyal Ata hai

kuch to tha jo ajj bhi jehan se gujrta hai
udas kar jata hai jab bhi kyal ata hai


जब तक़दीर तू ही लिखता है

क्यों मिलाता है दो दिलो को ऐ खुदा
जब तक़दीर तू ही लिखता है तो मिलाता क्यों है

 

Jab Taqdeer tu hi Likhta hai

kyon milata hai doo dilo ko ae khudaa
jab taqdir tu hi likhta hai to milata kyon hai


जो खो गया वो मोहबत

न कर तौबा मोहबत की ही तो जीत होती है
जो खो गया वो मोहबत जो पा लिया वो मुक़दर

 

Jo kho gaya wo mohabat

Na kar tauba mohabat ki hi to jeet hoti hai
Jo kho gaya wo mohabat jo pa liya wo muqadar


इश्क़ का

Continue Reading

गुरूर तो होना था उनको हमारी मोहब्बत की शिद्दत देख कर

इश्क़ का रोग था

कैसे मुमकिन था किसी और वसीले से इलाज ….
इश्क़ का रोग था , जहर के पीने से गया ..!!

Ishq ka Rog Tha

kaise Mumkin tha kisi aur waseelay se elaaj….
Ishq ka rog tha, zehar ke peene se gaya..!!


मोहब्बत की शिद्दत

गुरूर तो होना था उनको हमारी मोहब्बत की शिद्दत देख कर
मगर वो इस गरूर की सोच में हमारी कीमत भूल गए …

Mohabbat Ki Shiddat

Guroor to hona tha unko hmari mohabbat ki shiddat dekh kar
Magar wo is  ki Guroor soch men hamari kimat bhol gye……

Continue Reading