Dard Bhari Shayari – Dard Jab Hadd Se

Jab Kisi Ka Dard Hadd Se Gujar Jata Hai,
To Samandar Ka Pani Aankhon Mein Utar Aata Hai,
Koi Bana Leta Hai Ret Se Aashiyana To,
Kisi Ka Lahron Mein Sab Kuchh Bikhar Jata Hai.

जब किसी का दर्द हड्द से गुजर जाता है,
तो समंदर का पानी आँखों में उतार आता है,
कोई बना लेता है रेत से आशियाना तो,
किसी का लहरों में सब कुच्छ बिखर जाता है.

Leave a Reply