Dard Bhari Shayari – Majboori Se

Dard Bhari Shayari - Majboori Se

Majboori Jab Koi Juda Hota Hai,
Zaroori Nahi Ki Wo Bewafa Hota Hai,
Dekar Tumhare Aankho Mein Aansu,
Chupke Se Wo Kahin Tumse Bhi Zyada Rota Hai..

मजबूरी जब कोई जुड़ा होता है,
ज़रूरी नही की वो बेवफा होता है,
देकर तुम्हारे आँखो में आँसू,
चुपके से वो कहीं तुमसे भी ज़्यादा रोता है..

Leave a Reply