Diye Jalaye Ki nahi

वो कहता है कि थाली बजाओ
भाई लोग परातें फोड़ देते हैं

वो कहता है दिए जलाओ
भाई लोग बम पटाखे फोड़ देते हैं

ये परम्परा अनादि काल से चली आ रही है
प्रभु ने कहा था, हनुमान,
मैया सीता का पता लगाकर लाओ
और हनुमान जी लंका फूंक आये थे
प्रभु ने कहा कि संजीवनी बूटी लाओ
हनुमानजी पूरा पहाड़ उठा लाये

आज हमरा कोनो गलती नाही है
हम तो हनुमानजी के भक्त है

Leave a Reply