Friendship Shayari in Hindi on Umr Bhar Dosti Ka Wada

ज़िन्दगी में किसी मोड़ पर खुद को तन्हा न समझना,
साथ हूँ मैं आपके खुद से जुदा मत समझना,
उम्र भर आपसे दोस्ती करने का वादा किया है,
अगर जिंदगी साथ न दे तो हमें बेवफा मत समझना..

Leave a Reply