Hindi Poem on Tere Dil Mein

अभी नादाँ हु इश्क में, जताऊ कैसे,
प्यार कितना है, तुमसे बताऊ कैसे..

बहुत चाहत है, दिल में तुम्हारे लिये,
तुम ही कहो, तुम्हें अपना बनाऊ कैसे..

जो अगन मेरे दिल में है, तुम्हारे लिये,
वही आग तेरे दिल में भी, जलाऊ कैसे..

Leave a Reply