Intzaar Shayari – Roti Hui Aankhon Mein

Roti Hui Aankhon Mein Intzaar Hota Hai,
Na Chahte Hue Bhi Pyaar Hota Hai,
Kyon Dekhte Hain Hum Woh Sapne,
Jinke Tutne Par Bhi Unke Sach Hone Ka Intzaar Hota Hai.

रोटी हुई आँखों में इंतज़ार होता है,
ना चाहते हुए भी प्यार होता है,
क्यों देखते हैं हम वो सपने,
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतज़ार होता है.

Leave a Reply