Latest Sensitive Narazgi Bhari Shayari

Badal Diye Hai Ab Humne Naraaz Hone Ke Tarike
Ruthne Ke Bajaye Bas Ab Halke Se Muskura Dete Hai

बदल दिए है अब हमने नाराज़ होने के तरीके
रूठने के बजाये बस अब हलके से मुस्कुरा देते है

Leave a Reply