Love Shayari – Khwahish Poori Kardi

Bina bataye usne na jaane kyun yeh doori kardi,
Bhichhad ke usne mohabbat hi adhuri kardi,
Mere mukaddar mein gum aaye to kya hua,
Khuda ne uski khwahish to poori kar di..

बिना बताए उसने ना जाने क्यूँ यह दूरी करदी,
भिच्छाद के उसने मोहब्बत ही अधूरी करदी,
मेरे मुक़द्दर में गुम आए तो क्या हुआ,
खुदा ने उसकी ख्वाहिश तो पूरी कर दी..

Leave a Reply