Love Shayari – Ghar aao to sahi

कोई वादा खुद से, निभाओ तो सही..
कभी खुद से खुद को, मिलवाओ तो सही..

तल्खियां लेकर, रोज लोटते हो..
कभी मुस्कुराहटें भी घर, लाओ तो सही..

रौनके भी होगी, महफिलें भी सजेगी..
कभी अपने आशियाने को, सजाओ तो सही..

खिल उठेगी, दिल की हर दर ओ दीवार..
कभी च़राग सा खुद को, जलाओ तो सही..

फांसले भी घटेंगे, नजदीकियां भी बढेगी..
कभी एक कदम ईमानदारी का, बढाओ तो सही..

खुशियां इतनी मिलेगी, दामन छोटा लगेगा..
कभी अपनो के आगे, झोली फैलाओ तो सही..

बहता हुआ मिलेगा, प्यार का समंदर..
कभी प्यासे रहकर…घर आओ तो सही……

Continue Reading

Love Shayari – Teri khushiyo ko

तेरी खुशिओं को सजाना चाहता हूँ,
तुझे देखकर मुस्कराना चाहता हूँ,
मेरी ज़िन्दगी में क्या अहमियत हैं तेरी,
ये लब्ज़ों में नही,पास आकर बताना चाहता हूँ।

Teri khushiyo ko sajana chahti hu,
Tujhe dekh k muskurana chahti hu,
Meri zindagi me kya ahmiyat hai teri,
Ye lafzo me nahi pass aa kar batana chahti hu.…

Continue Reading

Love Shaayri – Mohabbat Kisi Aise Shakhs Ki

मोह्ब्बत किसी ऐसे सख्स की तलाश नही करती
जिसके साथ रहा जाये,
मोह्ब्बत तो ऐसे सख्स की तलाश करती हे
जिसके बगेर रहा न जाये!!

Mohabbat Kisi Aise Shakhs Ki Talash Nahi Karti
Jiske Saath Raha Jaaye..
Mohabbat To Aise Shakhs Ki Talash Karti Hai
Jiske Bagair Raha Na Jaaye!…

Continue Reading