Romantic Hindi Shayari

तड़पते हैं न रोते हैं, ना हम फरियाद करते हैं !
सनम की याद में हरदम खुदा को याद करते हैं !!

तुमसे बहुत कुछ कहना है मगर
कभी तुम नहीं मिलते तो कभी अल्फाज नहीं मिलते

दिलों में तुम अपनी बेताबियां लेकर चल रहे हो,
तो जिंदा हो तुम !
नजर में ख्वाबों की बिजलियां लेकर चल रहे हो,
तो जिंदा हो तुम !!

रेत पर नाम लिखने से क्या फायदा,
एक आई लहर कुछ बचेगा नहीं !
तुमने पत्थर सा दिल हमको कह तो दिया,
पत्थरों पर लिखोगे मिटेगा नहीं !!

क्या लिखूं कि वह परियों का रुप होती है ,
या कड़कती ठंड में सुहानी धूप होती है !
वह होती है चिड़िया की चहचाहट की तरह,
या फिर निश्चल खिलखिलाहट !!

बहुत नजदीक होकर भी,
वह इतना दूर है मुझसे !
इशारा हो नहीं सकता,
पुकारा जा नहीं सकता !!

तू खुद की खोज में निकल,
तू किसलिए हताश है !
तू चल तेरे वजूद की,
समय को भी तलाश है !!

मैंने कल सब चाहतों की सब किताबें फाड़ दी !
सिर्फ एक कागज पर लिखा लफ्ज़ “मां” रहने दिया !!

लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती !
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती !!

जब भी कोई मुझसे पूछता है, कि कौन हो तुम !
तो मैं कहता हूं कि,
एक आम आदमी !!

कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है,
कि जिंदगी तेरी जुल्फों की !
नर्म छांव में गुजरने पाती,
तो शादाब हो भी सकती थी !!

किसी मौसम का झोंका था,
जो इस दीवार पर !
लटकी तस्वीर,
तिरछी कर गया है !!

हम ने मोहब्बत के नशे में आ कर,
उसे खुदा बना डाला !
होश तब आया जब उसने कहा,
कि खुदा किसी एक का नहीं होता !!

कुछ दिनों से मेरा आईना मुझे अच्छा लगे !
जब इसे देखूं.. मेरा चेहरा तेरा चेहरा लगे !!

Leave a Reply

%d bloggers like this: