Sad Shayari – Bahut ajeeb ho gaye hain yeh rishte

Bahut ajeeb ho gaye hain yeh rishte aajakal,
Sab fursat mein hain par waqt kisi ke paas nahi.

बहुत अजीब से हो गए हैं ये रिश्ते आजकल,
सब फुरसत में हैं पर वक़्त किसी के पास नही।


Wahem se bhi aksar khatm ho hate hain kuchh rishte,
Qasoor har baar galtiyon ka hi nahi hota.

वहम से भी अक्सर खत्म हो जाते हैं कुछ रिश्ते
कसूर हर बार गल्तियों का ही नही होता।

Leave a Reply