Sad Shayari – Chhupe chhupe se rehte hain sare aam nahi hua karte

Chhupe chhupe se rehte hain sare aam nahi hua karte,
Kuchh rishte jo ehsaas hote hain, benaam hua karte hain.

छुपे-छुपे से रहते हैं सरेआम नही हुआ करते,
कुछ रिश्ते जो एहसास होते हैं बेनाम हुआ करते।


Mulakaate bahut jaruri hain agar rishte nibhane hain,
Lagakar bhul jane se toh poudhe bhi sukh jate hai.

मुलाकातें बहुत जरूरी हैं अगर रिश्ते निभाने हैं,
लगाकर भूल जाने से तो पौधे भी सूख जाते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: