Sad Shayari – Tarasate The Jo Milane Ko Hamase Kabhi

तरसते थे जो मिलने को हमसे कभी,
आज वो क्यों मेरे साए से कतराते हैं,
हम भी वही हैं दिल भी वही है,
न जाने क्यों लोग बदल जाते हैं।

Tarasate The Jo Milane Ko Hamase Kabhi,
Aaj Wo Kyon Mere Saye Se Katarate Hain,
Hum Bhi Wahi Hain Dil Bhi Wahi Hai,
Na Jane Kyun Log Badal Jaate Hain..

Leave a Reply