Sad Shayari – Teri yaad mein beqraar hai dil

Teri yaad mein beqraar hai dil,
Phir dhokka khane ko tyaar hai dil,

Ab yahan kisi ka guzar nahi hota,
In dino ik ujda hua dyaar hai dil,

Rota hai to ankhon se khoon rista hai,
Kisi ki mohabbat mein giraftar hai dil,

Kuch deir teri yaad se gafil ho gya tha,
Ab to har pal rehta behdaar hai dil,

Teri judai mein ro-ro ke yeh haal hai,
Ab asghar ki tarah rehta beemar hai dil…

– M. Asghar Mirpuri

तेरी याद में बेक़रार है दिल,
फिर धोखा खाने को तैयार है दिल,

अब यहाँ किसी का गुज़र नही होता,
इन दिनों इक उजड़ा हुआ दयार है दिल,

रोता है तो आँखों से खून रिसता है,
किसी की मोहब्बत में गिरफ्तार है दिल,

कुछ देर तेरी याद से गाफिल हो गया था,
अब तो हर पल रहता बेहदार है दिल,

तेरी जुदाई में रो-रो के यह हाल है,
अब असग़र की तरह रहता बीमार है दिल…

– म. असग़र मीरपुरी

Leave a Reply