Sahir Ludhianvi – Dil Se Mila Ke Dil

Dil Se Mila Ke Dil Pyar Kijiye!
Koi suhana iqrar kijiye,

O sharmaana kaisa, ghabrana kaisa,
Jeene se pehle mar jaana kaisa,
Aanchlon ki chaaon mein,
Ras bhari fizaon mein,
Is zindagi ko gulzar kijiye,

Dil Se Mila Ke Dil Pyar Kijiye,

Aati baharain, jaati baharain!
Kab se khari hain bandhey qatarain,
Chaa rahi hai bekhudi,
Keh rahi hai zindagi,
Jee ki umangain beidaar kijiye,

Dil Se Mila Ke Dil Pyar Kijiye!

Dil se bhula ke ruswaayion ko,
Jannat bana le tanhayion ko,
Aarzuu jawan hai,
Waqt meherbaan hai,
Dil ko na jane hosheyaar kihjiye,

Dil Se Mila Ke Dil Pyar Kijiye!

दिल से मिला के दिल प्यार कीजिये!
कोई सुहाना इक़रार कीजिये,

ओ शर्माना कैसा, घबराना कैसा,
जीने से पहले मर जाना कैसा,
आंचलों की छाओं में,
रस भरी फ़िज़ाओं में,
इस ज़िन्दगी को गुलज़ार कीजिये,

दिल से मिला के दिल प्यार कीजिये!

आती बहारें, जाती बहारें!
कब से खड़ी हैं बांधे क़तारें,
छा रही है बेखुदी,
कह रही है ज़िन्दगी,
जी की उमंगें बेदार कीजिये,

दिल से मिला के दिल प्यार कीजिये!

दिल से भुला के रुसवाईयों को,
जन्नत बना ले तन्हाईओं को,
आरज़ू जवान है,
वक़्त मेहरबान है,
दिल को ना जाने होशियार कीजिये,

दिल से मिला के दिल प्यार कीजिये!

Leave a Reply