Sanwariya Seth Status

दोस्तों आज हम सांवरिया सेठ के भक्तों के लिए बहुत सुन्दर कलेक्शन Sanwariya Seth Status शेयर करने जा रहे हैं जो की सांवरिया सेठ के भक्तों को बहुत पसंद आएगा और साथ ही ये सभी स्टेटस अपने व्हाट्सप्प ऑर फेसबुक जैसी सोशल साइट्स पर अपडेट भी जरूर करेंगे।

दोस्तों क्या आप जानते हैं की सांवरिया सेठ कौन हैं? और इन्हे सांवरिया सेठ ही क्यों कहा जाता हैं? तो चलिए दोस्तों आज हम आपसे सांवरिया सेठ की एक रोचक कथा भी शेयर करते हैं। दोस्तों सांवरिया सेठ और कोई नहीं बल्कि वही गिरधर गोपाल हैं जिनकी मीरा बाई सदैव पूजा किया करती थी। मीरा बाई अपने गिरधर गोपाल की पूजा मूर्ति रूप में संत महात्माओ के साथ किया करती थी और एक दिन एक संत जिनका नाम दयाराम था, उन्हें जब पता चला की मुग़ल सेना मंदिरो को तोड़ रही हैं तब उन्होंने ये सारी मूर्तियां बागुंड-भादसौड़ा के खुले मैदान में एक वट-वृक्ष के नीचे गड्ढा खोद कर छुपा दी गयी। और इस तरह वक़्त बीतने के साथ एक दिन मंडफिया ग्राम निवासी भोलाराम गुर्जर नाम के ग्वाले को उन्ही मूर्तियों के वहा छुपे होने का सपना आया, और जब उस जगह पर खुदाई की गई तो भोलाराम का सपना सही निकला और वहां से एक जैसी सभी मूर्तियां प्रकट हुईं। इस तरह उनमे से सबसे बड़ी मूर्ति को भादसोड़ा ग्राम ले जाई गई, भादसोड़ा में प्रसिद्ध गृहस्थ संत पुराजी भगत रहते थे। मंझली मूर्ति को वहीं खुदाई की जगह स्थापित किया गया, इसे प्राकट्य स्थल मंदिर भी कहा जाता हैं। सबसे छोटी मूर्ति भोलाराम गुर्जर द्वारा मंडफिया ग्राम ले जाई गई और चौथी मूर्ति निकालते समय खण्डित हो गई जिसे वापस उसी जगह पधरा दिया गया। इस तरह आज सांवरिया सेठ के प्रसिद्ध मंदिर हमारे सामने हैं जंहा हज़ारो की संख्या में भक्त प्रतिदिन दर्शन हेतु आते हैं।

दोस्तों इन्हे सांवरिया सेठ इसलिए कहा जाता हैं, क्युकी गिरधर गोपाल यानी की भगवान् श्री कृष्ण के भक्त सन्यासी नरसी को अपनी बेटी नानी बाई का मायरा काफी जोर शोर से भरना था, पर इतना मायरा भरने के लिए वो सक्षम नहीं थे और अपने भक्त की लाज रखने हेतु श्री कृष्ण ने सांवरे सेठ का वेश धारण कर नरसी जी को दर्शन दिए और उनके साथ मायरा भरने गए, जो की आज तक मिसाल बना हुआ हैं।

आज हम हमारे इस आर्टिकल में सांवरिया सेठ के लाखों भक्तों के लिए सभी तरह के सांवरिया सेठ स्टेटस इन हिंदी शेयर करने जा रहे जैसे की सांवरे शायरी, मोटिवेशनल सांवरिया सेठ कोट्स इमेजेस, 2 Line Sanwariya Seth Hindi Status for Whatsapp, Facebook & Instagram Friends Group, सांवरिया शायरी, Sanwariya Seth ke Attitude aur Bhakti Status in Hindi Language, Shree Sanwariya Ji Ki Shayari, Sawariya Hindi Shayariसांवरिया सेठ शायरी सन्देश आदि।

2 Line Sanwariya Seth Status & Shayari | साँवरिया सेठ स्टेटस

दरबार अनोखा, सरकार अनोखी,
सांवरिया सेठ की हर बात अनोखी।


मेरा छोटा सा हैं संसार सांवरिया,
दर्श देने आ जाओ मेरे भी द्वार ओ सांवरिया।


वादा किया हैं सांवरे ने वो छोड़ेगा ना तेरा हाथ,
ये साँसे जब तक चलेगी तेरी, वो रहेगा तेरे साथ।


दिलदार सांवरियां ने मुझको अपनाया हैं,
रस्ते से उठा करके, सीने से लगाया हैं।


जब कोई नही आता, तब मेरे सांवरियां आते हैं,
मेरे दु:ख के दिनों में वो बड़े काम आते हैं।


फिक्र करता हैं क्यूँ ? फिक्र से होता हैं क्या?
रख भरोसा “सांवरियां” पे, फिर देख होता हैं क्या।


सुना हैं मेरे सांवरिया ने लाखो लोगो की तक़दीर सवारी हैं,
काश वो एक बार मुझे भी कह दे के अब तेरी बारी हैं ।


सांवरियाँ खुद को तुमसे जोड़ दिया, बाकी तुम पर छोड़ दिया।


हे साँवरिया, आपके हृदय में, मुझे उम्रकैद मिले
थक जायें सारे वकील, फिर भी जमानत ना मिले।


सांवरिया के आगे खड़ा हूँ, कर जोड़,
मारो गाडी को संभाले मेरे डाटा रणछोड़।


मेरे सांवरियां, ना जाने कैसा रिश्ता हैं दिल का तुझसे,
धड़कना भूल सकता है- तेरा नाम नहीं।


किस्मत के सहारे मुझे ना छोड़ना मेरे सांवरियां,
मुझे तेरी रहमत के सिवा किसी और पर यकीन नहीं।


दया तू इतनी कर दे मेरे सांवरिया सेठ, की कभी भरोसा टूटे ना,
हमेशा रहे हाथ तेरा मेरे सर पे सदा, तू कभी मुझसे रूठे ना।


आपकी कृपा से बाबा, मेरे जीवन मे आ रही बहुत बधाई हैं,
कोई माने या ना माने तूने हर घड़ी मेरी नैया डूबने से बचाई हैं।


Two Line Sawariya Seth Shayari | सांवरे शायरी और कोट्स

अचानक चौक उठे “नींद’ से हम,
किसी ने शरारत में कह दिया सुनो..सांवरिया सेठ मिलने” आये हैं।


सांवरिया सेठ ने मुझसे पूछा – “तुझे जीने के लिये क्या दूं, श्वांस या याद?”
मैंने कहा:- “श्वांस-श्वांस में आपकी याद”


एक बार सिर्फ गले लग कर रो लेने दो ना मेरे सांवरिया,
इस दुनिया के में अब सिर्फ एक तेरी बाहों का सहारा हैं मेरे सांवरिया।


सांवरिया कितना प्यार हैं तुमसे, वो तुम्हें अपनी शायरी के सहारे बताऊँ
महसूस कर मेरे एहसास को, अब गवाह मैं कहाँ से लाऊँ।


जय श्री सांवरियां सेठ की कहते कहते, यु ही जीवन बिताना हैं
हे सांवरियां सेठ, तुझे छोड़ के अब हमें कभी भी न जाना हैं।


कुछ तो सोचा होगा सांवरियां तुमने हमारे रिश्ते पर,
वरना इतनी बड़ी दुनिया में तुझसे ही इस गरीब की रोज बात क्यों होती।


सब कुछ मिला इस दरबार से, कैसे चुकाऊँ कर्ज सांवरियां का,
बड़ा दयालु मेरा सांवरियां सेठ, गाऊँ गुण सिर्फ सांवरियां नाम का।


नाम आपका पहचान हैं हमारी, जयकारा” आपका “शान” हैं हमारी,
यूँ ही बोलते रहेंगे जय सांवरियां सेठ की ज़िन्दगी भर,
ज़ाहिर सी बात हैं ऐ मेरे सांवरियां सेठ, आप ही में तो बसती हैं “जान” हमारी।


सांवरियां तेरे दरबार से सब कुछ बिन बोले ही तो मिला,
चोखट के बाहर पड़ा था ये दीवना तेरा, पर दुनिया में सहारा सिर्फ तेरी बांहो का मिला।


तेरी सूरत को रूह में उतार लूँ, ज़िन्दगी अपनी तेरी चाहत में संवार लूँ,
दर्शन हो तुम्हारा कुछ इस तरह, “मेरे सांवरिया “ सारी उम्र बस उस एक दर्शन में गुज़ार लूँ।।


मेरे सांवरिया कहते हैं, मत सोच की तेरा सपना क्यों पूरा नहीं होता,
हिम्मत वालो का इरादा, कभी अधुरा नहीं होता, जिस इंसान के कर्म अच्छे होते हैं
उस के जीवन में कभी भी अँधेरा नहीं होता. जय हो सांवरिया सेठ की।


मत करो ऐतबार इस झूठी दुनिया का, वक्त पङने पर ये काम ना आएगी,
एक बार आजमा के देखो मेरे सांवरिया की भक्तों, मुसीबत पङते ही सर पे मोरछङी लहराऐगी।


साँवरे, जख्म हैं कि दिखते नहीं, मगर ये मत समझना की दुखते नहीं,
तेरे बिना जीये जा रहे हैं, माफ कर गुनाह किये जा रहे हैं, उम्मीद हैं साँवरा आएगा, इस लिए साँस लिए जा रहे हैं।


साँवरे चुपके से आकर तुम इस दिल में उतर जाते हो, मेरी साँसों में मधुवन की खुश्बू बनकर बिखर जाते हो,
कुछ यूँ चला तेरे इश्क़ का जादू मेरे प्रियतम मेरे कान्हा, हर पल आठों पहर बस केवल तुम ही तुम नज़र आते हो।


लाखों भटकते हैं, पर वो एक मंजिल दिखलाता हैं, लाखों रोते बिलखते हैं, वो आंसू पोंछने आता हैं,
दिल में उठती जो दुआ, एक पल में ही सुन जाता हैं, वही नूरे-जहाँ, इस दुनिया में “सांवरियां सेठ” कहलाता हैं।


Leave a Reply