Special RIP Atal Bihari Vajapyee Tribute Shayari

मौत खड़ी थी सर पर
इसी इंतजार में थी
ना झूकेगा ध्वज मेरा
15 अगस्त के मौके पर
तू ठहर इंतजार कर
लहराने दे बुलंद इसे
मैं एक दिन और लड़ूंगा
मौत तेरे से…
मंजूर नही है कभी मुझे
झुके तिंरगा स्वतंत्रता के मौके पे

कोटि कोटि नमन व् श्रद्धांजलि
भारत रत्न वाजपेयी जी

R.I.P

Leave a Reply