Status for Whatsapp in Hindi Language

Status for Whatsapp in Hindi

अकड़ तोड़नी है उन मंजिलों की, जिनको अपनी ऊंचाई पर गरूर है..

जो नहीं हो सकता, वही तो करना है..

लोग क़दर तभी करते हैं जब उन्हें मुँह लगाना छोड़ दो…..

हम सादगी में झुक क्या गए , तुमने तो हमे गिरा हुआ ही समझ लिया

मैं हूँ bindaas क्योंकि मेरे इरादे हैं High Class

अपनी हैसियत ऐसी की लोग देखके अपनी औकात भूल जाये ….और अपनी शख्सियत ऐसी की लोग देखके खुद को भूल जाये

ना मैं गिरा और ना मेरी उम्मीदों की मीनारें गिरी … पर मुझे गिराने में कई लोग बार – बार गिरे…

हम जलते नही जलाते हैं …कुछ इसी अन्दाज में जिन्दगी बीताते हैं

आतंकवादियों अब तुम्हे जन्नत जाने के लिए हिंदुस्तान आने की ज़रूरत नहीं …. भारतीय सेना ने home delivery शुरू कर दी है। जय हिन्द

हमारे जवान सिर्फ 2km तक अंदर गए और दहशत 200 km तक अंदर गयी …..jai hind ….

surgical operation के नाम पर पोस्टमार्टम कर दिया ये है इंडियन आर्मी… वन्दे मातरम…..Salute to Indian Army

भारत में श्राद्ध ख़त्म …. पकिस्तान में शुरू

पढ़ते क्या हो आंखों में मेरी कहानी? … Attitude में रहना तो आदत है मेरी पुरानी

style में DASHING , जिगर में DARING , दिल में CARING , बस अब लड़की चाहिए जो कर सके हम से MATCHING

अपनी औकात में रहना सीख बेटा… वर्ना जो हमारी आँखों में खटकते है, वो श्मशान में भटकते है

भीड इकट्ठी करके तो किसी को भी हराना आसान है लेकिन मजा तब है जब आपका नाम सुनते ही भीड में भगदड मच जाये

इतने भी प्यारे नही हो तुम बस मेरी चाहत ने तुम्हे सर पर चढा रखा है

मर्द का जिगरा बड़ा होना चाहिए… मूछे तो बिलियों की भी बड़ी होती है

बादशाह हो या मालिक सलामी हम नही करते… पैसे हो या कोई राजकुमारी गुलामी हम नही करते..

मेरे पास जुनून है …. तभी तो तेरा गुरुर मेरे सामने चकनाचूर है

रूठे हुओ को मनाना और गैरो को हसाना हमे पसंद नही

गलत होकर भी खुद को सही साबित करना, उतना मुश्किल नहीं होता, जितना कि, सही होकर खुद को सही साबित करना

लफ्ज़ इन्सान के गुलाम होते हैं , मगर बोलने से पहले … और बोलने के बाद इन्सान अपने लफ़्ज़ों का गुलाम बन जाता है

कुछ लोग मुझे अपना कहते थे … सच में सिर्फ कहते ही थे

बातें तो हर कोई समझ लेता है पर वो इंसान चाहिए जो मेरी ख़ामोशी को समझे

इंसान की ख़ामोशी का मतलब ये है कि वो टूट चूका है

कुछ बातें तब तक समझ नहीं आती जब तक खुद पर न गुजरे

अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है

मेरी माँ ने मुझे माफ़ करना सिखाया है… बदला लेना नहीं…

यूँ गुमसुम मत बैठो ..पराये लगते हो,,,मीठी बातें नहीं है तो चलो झगड़ा ही कर लो…..

आदमी को अमीर नहीं होना चाहिए, बल्कि आदमी  का जमीर होना चाहिए ।।

अपने खिलाफ बातों को अक्सर मैं ख़ामोशी से सुनता हूँ क्योकि जवाब देने का हक़.. मैंने वक़्त को दे रखा है

रात भर जागता हूँ एक एसे सख्श की खातिर… जिसको दिन के उजाले मे भी मेरी याद नही आती..

तेरे होने तक मैं कुछ ना था…. तेरा हुआ तो मैं बर्बाद हो गया

इश्क लिखना चाहा तो कलम भी टूट गयी….ये कहकर अगर लिखने से इश्क मिलता तो आज इश्क से जुदा होकर कोई टूटता नही

तू हजार बार रुठेगी फिर भी तुझे मना लूँगा …तुझसे प्यार किया हे कोई गुनाह नही, जो तुझसे दूर होकर खुद को सजा दूँगा

आज के बाद ” ये रात और तेरी बात ” नहीं होगी

टूट कर चाहा था तुम्हे और तोड़ कर रख दिया तुमने मुझे

ये दुःख , उदासी , आँसुओं को मौत क्यों नहीं आती

जा तुझे तेरे हाल पर छोड़ दिया … इससे बेहतर तेरी सज़ा क्या होगी

दुनिया जीत गयी … दिल हार गया

अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है

मगर वो एक शख्स ही मेरी आखिरी मोहब्बत है….

कहाँ पूरी होती है दिल की सारी ख्वाइशें —- कि बारिश भी हो , यार भी हो …. और पास भी हो

ना रहा करो उदास किसी बेवफा की याद में , वो खुश है अपनी दुनिया में तुम्हारी दुनिया उजाड़ कर
वो उदासी भर लम्हा —- जब उनके पास आपके इलावा सब के लिए टाइम होता है

इंसान की ख़ामोशी का मतलब ये है कि वो टूट चूका है

अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है

कहाँ पूरी होती है दिल की सारी ख्वाइशें —- कि बारिश भी हो , यार भी हो … और पास भी हो

ना जाने क्यों कोसते हैं लोग बदसूरती को…बर्बाद करने वाले तो हसीन चेहरे होते हैं….!!

हर एक चीज़ में खूबसूरती होती है , लेकिन हर कोई उसे देख नहीं पाता।

कदर होती है इंसान की जरुरत पड़ने पर ही, बिना जरुरत के तो हीरे भी तिजोरी में रहते है…!!

अकेले ही गुजरती है ज़िन्दगी …. लोग तसल्लियाँ तो देते हैं पर साथ नहीं।

चेहरे बदल-बदल कर मिलते है लोग मुझसे…. इतना बुरा सुलूक क्यूँ मेरी सादगी के साथ

अपना तो कोई दोस्त नही है, सब साले कलेजे के टुकडे है ।।

लोग भी बड़े अजीब होते है, गलत साबित होने से पहले माफ़ी नहीं मांगते, बल्कि तालुक तोड़ देते है.

दुनिया में सबसे ज्यादा वजनदार खाली जेब ☹ होती है, चलना मुश्किल हो जाता है

तू हमारी बराबरी क्या करेगा पाकिस्तान!! जेम्स बॉन्ड जैसे लोग तो हमारे यहाँ गुटखा बेचते है!

मेरे पिता जी का तो कोई ऐसा दोस्त भी नही जो अमरीश पुरी की तरह ये कह दे..चल इस दोस्ती को रिश्तेदारी में बदल दे !

यदि आपको लगे कि..आपकी इज्जत कम हो गई है..तो तुरंत किसी की लूट लें

मेरी हर गलती, ये सोच कर माफ़ कर देना दोस्तों.. कि तुम कोन से शरीफ़ हो ??

मन में आता है के सब कुछ छोड़ कर सन्यासी हो जाऊ …फिर उस लड़की का ख़याल आ जाता है जो मुझे पति रूप में पाने के लिए 16 सोमवार का व्रत कर रही होगी

खुद के पास गर्लफ्रेंड नही होगी फिर भी दुसरो को गर्लफ्रेंड पटाने ❣के नुस्खे देते है …. ऐसे हैं हमारे दोस्त

हम शरीफ बच्चे है जनाब !! जब तक माँ जागने के लिए न बोले मज़ाल है जो अपनी आँख भी खोल दे

मुझे दो तरह की लड़कियां कतई पसंद नहीं हैं :-
1- मुझसे बात नहीं करने वाली।
2- दूसरे लड़कों से बात करने वाली।

I-Phone 7 लगातार सातवां ऐसा फ़ोन है….जो मेरे पास नहीं है…

दिन – रात यही दुआएँ निकलती है …. कि काश वो उसी की हो जाये, जो ऐसा Status डालते है …..अगर वो मेरी ना हुयी, तो उसे किसी की भी नही होने दूँगा

खुशकिस्मत होते है वो लडके जिनकी girlfriend उनके लिऐ अपने हाथ की नस काट लेती है… हमारी वाली तो हमारे लिऐ अपने नाखुन भी ना काटे

अच्छा लगता है तुम्हारे लफ्जों में खुद को ढूँढना ….इतराती हूँ , मुस्कुराती हूँ और तुममें ढल सी जाती हूँ..

मोहब्बत इतनी ख़ामोशी से करो कि तुम्हारी शादी शोर मचा दे…♥

मुझे ज्यादा कुछ नहीं … बस मेरी शादी के card पर तेरा नाम अपने नाम के साथ चाहिए

बहुत ही खूबसूरत लम्हा था वो …जब उसने कहा था मुझे तुमसे मोहब्बत है और तुमसे ही रहेगी ♥

तुझे जब धड़कनों में बसाया तो … धड़कने भी बोल उठी.. अब मज़ा आ रहा हैं धक-धक करने में ….

कितना प्यार है इस दिल में तेरे लिए, अगर बयां कर दिया तो ……तू नहीं ये दुनिया मेरी दिवानी हो जायेगी

इन आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है …. दिन कोई भी हो लेकिन त्यौहार हो जाता है

मैं तेरे नसीब की बारिश नहीं जो तुझ पर बरस जाऊँ …… तुझे तकदीर बदलनी होगी मुझे पाने के लिए…..

वो मेरी पसन्द के बारे में पूछती है ….. अब क्या कहूँ उस नासमझ को जो अपने बारे में ही पूछती है

अगर शायरी में इश्क लिखता हूँ तो चाहत साँस लेती है…हमारी धड़कनो में खुद तेरी मोहब्बत साँस लेती है…

मिलना है तुझसे बिछड़ने से पहले , पाना है तुझे खोने से पहले , और जीना है तेरे साथ मारने से पहले…

एक धागे के प्रेम में,जैसे मोमबत्ती कतरा-कतरा जलती है,बस ऐसा ही प्यार… वो पगला मुझसे करता है…

शिकायतों की पाई-पाई जोड़कर रखी थी मैंने, उसने गले लगाकर सारा हिसाब बिगाड़ दिया

Leave a Reply

%d bloggers like this: