5 Best Places to Visit in Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश के 5 प्रमुख पर्यटन स्थल

आदरणीय पाठक, आज का हमारा संकलन “Places to Visit in Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश में प्रमुख पर्यटन स्थल” खास तौर पर मध्यप्रदेश पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शामिल किया गया है।

आज के हमारे इस संकलन में आप मध्यप्रदेश में घूमने की 10 ऐसी खास जगहों के बारे में पढ़ेंगे जिनके बारे में जानने के बाद आप यही कहेंगे की वाकई में मध्यप्रदेश भारत का हृदय है।


Places to Visit in Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश में प्रमुख पर्यटन स्थल

1. ओरछा | Orchha

ओरछा मध्य प्रदेश राज्य के निवाड़ी जिले में स्थित एक ऐतिहासिक नगर है। ओरछा ऐतिहासिक नगर होने के साथ-साथ एक धार्मिक स्थल और पर्यटन स्थल भी है यहां कई टूरिस्ट और श्रद्धालु आते रहते हैं। बेतवा नदी के किनारे बसा ओरछा नगर राजा राम की नगरी के नाम से प्रसिद्ध है।

ओरछा नगर बुंदेलों के द्वारा 16वीं शताब्दी में बसाया गया एक छोटा सा शहर है। जोगी राजा राम का मंदिर छत्रभुज टेंपल और ऐतिहासिक इमारतों के लिए प्रसिद्ध है। ओरछा शहर पूरा घूमने के लिए कम से कम 2 दिन का समय लगता है।

चूँकि ओरछा मध्य भारत में एक शहर है, इसलिए यहां गर्मी के मौसम में तापमान अधिक होता है। यहां घूमने का सबसे अच्छा समय सितंबर से फरवरी के मध्य होता है। ओरछा का नजदीकी रेलवे स्टेशन झांसी रेलवे स्टेशन है, जहां से टैक्सी या बस द्वारा ओरछा पहुंचा जा सकता है।

ओरछा का सबसे प्रमुख पर्यटन स्थल यहां का भव्य राजाराम का मंदिर है जहां पर सुबह व शाम की आरती बहुत ही दिव्य तरीके से होती है। मंदिर के भीतर फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी पर प्रतिबंध है। मंदिर के बाहर आप फोटोग्राफी कर सकते हैं। पास ही में छत्रभुज मंदिर है, जो भगवान राम की स्थापना के लिए ही बनाया गया था। किंतु किसी कारणवश स्थापना नहीं हो पाई।

छत्रभुज मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। ओरछा में घूमने के लिए ओरछा फोर्ट भी है, जो कि बुंदेलों का किला है। इस किले का निर्माण बुंदेलों के प्रथम राजा, राजा रूद्रप्रताप सिंह ने करवाया था। किले में घूमने के लिए टिकट की आवश्यकता होती है, इस एक टिकट से आप छत्रभुज टेंपल और ओरछा की दूसरे स्थान भी घूम सकते हैं। इसलिए इस टिकट को संभाल कर रखना जरूरी है।

किले के अंदर कैमरा चार्ज और वीडियोग्राफी के लिए अलग चार्ज लगते हैं। किले के अंदर राजा महल, जहांगीर महल और अन्य महल देखने को मिलते हैं। जो ओरछा की ऐतिहासिक …

Read More