Alone Shayari || Alone Shayari in Hindi and English

Alone Shayari || Alone Shayari in Hindi and English

Alone Shayari in Hindi and English दोस्तो जब भी आप का दिल टूटता हैं ओर आप अकेला महसूस करते हैं तब आप ये शायरीय जरूर पढे ओर उनको भी जरूर भेजे इनकी वजह से आप अकेला महसूस कर रहे हैं

आज हम आप के लिए Alone Shayari in Hindi and English मे लेकर आए हैं आप इन Alone Shayari को पढ़ के राहत मिलेगी ओर साथ ही साथ Alone Sad Shayari for boyfriend, Alone Shayari in hindi, lonely Shayari in Hindi for girlfriend शायरीय भी आप सभी के लिए share कर रहे हैं

Alone Shayari

यूँ तो हर रंग का मौसम मुझसे वाकिफ है मगर,
रात की तन्हाई मुझे कुछ अलग ही जानती है।

जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,
ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,
हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही,
फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

मेरी पलकों का अब नींद से कोई ताल्लुक नही रहा,
मेरा कौन है ये सोचने में रात गुज़र जाती है…!!!

मोहब्बत मुकद्दर है कोई ख़्वाब नही।
ये वो अदा है जिसमें हर कोई कामयाब नही।
जिन्हें मिलती मंज़िल उंगलियों पे वो खुश है।
मगर जो पागल हुए उनका कोई हिसाब नही।

एक तुम्हीं थे जिसके दम पे चलती थी साँसें मेरी,
लौट आओ कि ज़िंदगी से वफ़ा निभाई नहीं जाती।

एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ,
कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी।

मेरी लिखी किताब मेरे हाथो में देकर,
कहने लगे इसे पढा करो,
मोहब्बत करना सिख जाओगे।

मुझको मेरी तन्हाई से अब शिकायत नहीं है,
मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मोहब्बत नहीं है।

तुम जब आओगे तो खोया हुआ पाओगे मुझे,
मेरी तन्हाई में ख़्वाबों के सिवा कुछ भी नहीं,
मेरे कमरे को सजाने कि तमन्ना है तुम्हें,
मेरे कमरे में किताबों के सिवा कुछ भी नहीं।

तेरा बार बार रूठना मुझे अच्छा लगता है,
पर क्या तुझे भी मेरा मनाना अच्छा लगता है।।

दिल गया तो कोई आँखें भी ले जाता,
फ़क़त एक ही तस्वीर कहाँ तक देखूँ।

बहुत सोचा बहुत समझा,
बहुत ही देर तक परखा,
कि तन्हा हो के जी लेना,
मोहब्बत से तो बेहतर है।

ए ज़िन्दगी एक बार तू नज़दीक आ तन्हा हूँ मैं,
या दूर से फिर दे कोई सदा तन्हा हूँ मैं,
दुनिया की महफ़िल मैं कहीं मैं हूँ भी या नहीं,
एक उम्र से इस सोच में डूबा हुआ हूँ मैं।

अभी …

Read More