मेरी चाहत का वजूद – Chahat Shayari

मेरी चाहत का वजूद 

टूट सा गया है मेरी चाहत का वजूद
अब कोई अच्छा भी लगे तो हम इज़हार नहीं करते .

Meri Chahat Ka Wajood

Toot sa gaya hai meri chahat ka wajood
ab koi accha bhi lage to hum izhaar nahi karte.


दस्तूर

चलती हैं दिल के शहर में यूँ उसकी हुकूमतें
बस जो भी उसने कह दिया दस्तूर हो गया….!!

Dastoor

Chalti Hain Dil ke Shehar mein Yun uski Hukumatein
Bas Jo bhi usne Keh diya Dastoor ho Gaya….!!…

Continue Reading

छोड़कर तेरी चाहत पराई लगे दुनिया सारी – तेरे इश्क़ में

बला है इश्क़

कहर है , मौत है , सजा है इश्क़
सच तो यह है बुरी बला है इश्क़
करते सब है पर सब से हारा है इश्क़

Blaa Hai IshQ

Kehar Hai, Mout Hai, Saja Hai IshQ
Sach To Yeh Hai Buri Blaa Hai IshQ
karte sab hai par sab se hara hai ishq


आप की मुस्कुराहट

मेरी किसी खता पर नाराज़ मत होना
अपनी प्यारी सी मुस्कान कभी न खोना
सकून मिलता है देख कर आप की मुस्कुराहट को
मुझे मौत भी आये तो भी तुम मत रोना

Aap ki Muskurahat

Meri kisi khata par naraz mat hona
Apni pyari si muskan kabhi kabhi na khona
Sakoon milta hai dekh kar aap ki muskurahat ko
Mujhe mout bhi aaye to bhi tum mat rona


मेरा इंतज़ार

मुझे भी कोई याद कर रही होगी
अपने सपनो मैं वो मुझे सजा रही होगी
कोई कहे या न कहे मगर…

Continue Reading

ऑंखें तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है – इश्क़ बेवफा

बड़े शौक़ से मर जाएँगे

आओ किसी रोज़ मुझे टूट के बिखरता देखो
मेरी रगो में ज़हर जुदाई का उतरता देखो
किस किस तरह से तुझे माँगा है खुद से हमने
आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो
तेरी तलाश में हम ने खुद को खो दिया है
मत आओ सामने मगर कहीं छुप के मुझे तड़पता देखो
बड़े शौक़ से मर जाएँगे हम मगर वरना
तुम सामने बैठ कर सांसों का तसलसुल टूटता देखो

Bade Shoq Se Mar Jayeinge

Aao Kisi roz Mujhe Toot Ke Bikhrta Dekho
Meri Ragon Mein Zehar Judai Ka Uterta Dekho
Kis Kis Ada Se Tujhe Maanga Hai khuda Se
Aao Kabhi Mujhe Sajdon Mein Sisakta DekHo
Teri Talaash Mein Hum Ne Khud Ko Kho Diya Hai
Mat Aao Saamne Mgar Kahin Chup Ke Mujhe Tarapta Dekho
Bade Shoq Se Mar Jaein gay Hum magar warna
Tum Saamne Baith Kar sansoon Ka Tasalsul Tootta Dekho…

Continue Reading

Tere Har Gam Ko Rooh Me Utar Lun, Shayari

Tere Har Gam Ko Rooh Me Utar Lun,
Zindagi Apni Teri Chahat Me Sanwar Lun,
Mulakaat Ho Tujhse Kuch Is Kadar Meri,
Saari Umr Bas Ek Mulakaat Me Gujar Lun. 1f614 - Tere Har Gam Ko Rooh Me Utar Lun, Shayari

तेरे हर ग़म को अपनी रूह में उतार लूँ,
ज़िंदगी अपनी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाक़ात हो तुझसे कुछ इस तरह मेरी,
सारी उम्र बस एक मुलाक़ात में गुज़ार लूँ। 1f614 - Tere Har Gam Ko Rooh Me Utar Lun, Shayari

Continue Reading

प्यार, मोहबत और चाहत शायरी – Shayari of Love and Romance

चाहत की महफ़िल

ग़म न कर ज़िन्दगी बहुत बड़ी है
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है

 

Chahat Ki Mehfil

Gham Na Kar Zindagi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Hai,
Bas Ek Baar Muskura Kar Tho Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai

 


आप के नाम

मंज़िलों की हर राह आप के नाम ,
मोहब्बत की हर अदा आप के नाम
प्यार भरी हर निगाह आप के नाम
और आज लबों पर आने वाली हर दुआ आपके नाम

Aap Ke Naam

Manzilo ki har sadak aap ke naam
Mohabbat ki har adda aap ke naam
Pyaar bhari har nigah aap ke naam
Aur aaj labon par aaane wali har dua aapke naam

 


प्यार की तड़प

प्यार की तड़प को दिखाया नहीं जाता
दिल में लगी आग को बुझाया …

Continue Reading