best real friendship story in hindi सच्ची और अच्छी दोस्ती की कहानी

दोस्ती इंसान के जीवन के एक बहुत ही खास रिश्ता होता है। इंसान के जन्म होते ही उसके साथ कई रिश्ते जुड़ जाती है।

पर दोस्ती का रिश्ता कोई भी इंसान खुद ही बनाता है। यहाँ पर हमने आपके लिए कुछ अच्छी दोस्ती की कहानी लिखा है।

यह दोस्ती की स्टोरी आपको बहुत ज्यादा पसंद आने वाली है। यह सभी दोस्ती की कहानी सच्ची दोस्ती की कहानी में से एक है। इसको पढ़ने के बाद आप अपने दोस्त को जरूर याद करेंगे।

सच्चे दोस्त की कहानी

real friendship story in hindi
real friendship story in hindi

किसी शहर में सूरज नाम का एक व्यक्ति रहा करता था। इसके पास बहुत ज्यादा धन हुआ करता था। वह अपने पैसो को अपने दोस्तों पर खर्च करना पसंद किया करता था।

सूरज को यह पैसे उसके परिवार से मिला हुआ था। सूरज ने खुद ही यह पैसे नहीं कमाए हुए थे। इसलिए वह अपने दोस्तों पर हद से ज्यादा पैसा खर्च किया करता है।

सूरज के सारे दोस्त मतलबी थे। वह सभी सूरज से पैसो के लिए दोस्ती किये हुए थे। सूरज के दोस्तों में ही एक दोस्त था जिसका नाम दीपक था।

दीपक को सूरज के सभी दोस्त पसंद नहीं किया करते थे। क्योंकि दीपक काफी ईमानदार था। वह सूरज के पैसो को बर्बाद नहीं करता था। दीपक सूरज को भी समय-समय पर बताया करता था कि वह अपने पैसे को इस तरह से बर्बाद न करें।

पर सूरज कहा किसी का सुनने वाला था। सूरज के दोस्त सूरज का कान को भर कर, सूरज और दीपक का दोस्ती ख़त्म करा दिया।

समय बीतता जाता है। अब वह भी समय आ जाता है, जब सूरज का सारा पैसा ख़त्म हो जाता है। धीरे-धीरे सूरज का सारा जमीन भी बिक जाता है।

अब वह कही का नहीं रहता है। उसके खुद के दोस्तों के सामने हाथ फ़ैलाने का समय आ जाता है। सूरज अपने सारे दोस्तों के पास जाता है मदद के लिए। सूरज के कुछ दोस्त साफ मदद करने के लिए मना कर देते है।

तो वही कुछ सूरज के दोस्त कोई मदद भी नहीं करते पर अपशब्द भी कह देते है। साथ ही सूरज के कुछ ऐसे दोस्त भी थे जो कि सूरज को पहचानने से भी मना कर देते है। अब सूरज को दीपक की कही बात याद आ जाती है। फिर वह वापस लोटता है।

सभी दोस्तों से मिलने के बाद सूरज वापस लौट रहा था तो उसे रास्ते में दीपक मिला। दीपक से …

Read More