Maa Shayari || Maa Quotes || Maa Shayari in Hindi

Maa Shayari || Maa Quotes || Maa Shayari in Hindi

Maa Shayari || Maa Quotes –  माँ वह एक शब्द जो एक वाक्यांश में परिभाषित नहीं किया जा सकता है; एक माँ सिर्फ एक व्यक्ति नहीं है जिसने बच्चे को जन्म दिया। एक माँ एक बच्चे की परवरिश करते समय होने वाली भावनाओं, व्यवहारों और बलिदानों के संयोजन का प्रतिनिधित्व करती है

दोस्तों आप सभी ने भी अपने जीवन में कभी ना कभी ये बात जरूर सुनी होगी की भगवान हर किसी के साथ नहीं रह सकता हैं, इसलिए भगवान ने इंसान का ख्याल रखने के लिए माता-पिता को बनाया हैं। हमारे वेद, शास्त्र और ग्रंथों में भी माता पिता को भगवान का रूप बताया गया हैं। माता-पिता का हर इंसान के जीवन में सबसे बड़ा योगदान होता हैं। पिता के धैर्य एवं माँ की ममता की तुलना संसार का कोई भी प्राणी नही कर सकता। माता-पिता ही ऐसे शख्स हैं जो हमारे जीवन की हर छोटी – बड़ी जरूरतों का ध्यान रखने वाले और खूबसूरत इंसान होते हैं

Maa Shayari

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आई,
मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई।।

किसी भी ​मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,
​शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता​।।

मैंने कल शब चाहतों की सब किताबें फाड़ दी,
सिर्फ एक कागज़ पर लफ्जे माँ रहने दिया

ख़ुदा ने ये सिफ़त दुनिया की हर औरत को बख्शी है,​
कि वो पागल भी हो जाए तो बेटे याद रहते है​।।

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये,
चोट लगती है हमें और चिल्लाती है माँ,
हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें,
जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है माँ।।

सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है,
ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है।।

वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,
माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है।।

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,
कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है

सीधा साधा भोला भाला मैं ही सब से सच्चा हूँ,
कितना भी हो जाऊं बड़ा माँ आज भी तेरा बच्चा हूँ

यूँ तो मैंने बुलन्दियों के हर निशान को छुआ,
जब माँ ने गोद में उठाया तो आसमान को छुआ।।

अपनी माँ को कभी न देखूँ तो चैन नहीं आता है,
दिल न जाने क्यूँ माँ का नाम लेते ही बहल जाता है।।

कभी मुस्कुरा दे तो लगता है जिंदगी मिल …

Read More