Maharishi Dayanand Saraswati Jayanti Wishes, Quotes & Messages

Maharishi Dayanand Saraswati Jayanti Wishes, Quotes & Messages

सबसे उच्च कोटि की सेवा
ऐसे व्यक्ति की मदद करना है
जो बदले में आपको धन्यवाद कहने में असमर्थ हो।
-महर्षि दयानंद सरस्वती


मानव को अपने पल-पल को आत्मचिन्तन में लगाना चाहिए, क्‍योंकि हर क्षण हम परमेश्वर द्वारा दिया गया समय खो रहे हैं। ~दयानन्द सरस्वती


जिसको परमात्मा और जीवात्मा का यथार्थ ज्ञान, जो आलस्य को छोड़कर सदा उद्योगी, सुख-दुःख आदि का सहन, धर्म का नित्य सेवन करने वाला, जिसको कोई पदार्थ धर्म से छुड़ाकर अधर्म की ओर ना खींच सके, वह पंडित कहलाता है। ~दयानन्द सरस्वती


क्रोध का भोजन विवेक है, अतः इससे बचके रहना चाहिए. विवेक नष्ट हो जाने पर, सब कुछ नष्ट हो जाता है। ~दयानन्द सरस्वती


ईष्या से मनुष्य को हमेशा दूर रहना चाहिए. क्योकि ये मनुष्य को अन्दर ही अन्दर जलाती है और पथ भ्रष्ट कर देती है। ~दयानन्द सरस्वती…

Read More