Pyar Bhari Shayari || Pyar Bhari in Hindi Shayari

Pyar Bhari Shayari – तुम्हारी बातें याद आ जाती है बात कुछ और हो रही होती है मेरे होठों पर मुस्कान आ जाती है क्या जवाब दूं मैं लोगों के सवालों का कि क्या बात याद आ जाती है और क्यों हंसी आ जाती है सुनो तुम क्यों पीछा करते हो इस कदर मेरा कि जहां देखो तुम नजर आते हो बातों बातों में तुम्हारी बातें याद आ जाती है सामने आते हो तो चुप रहते हो ख्यालों में अपनी बातें कैसे कर लेते हो मैं तो शोर हूं पर तुम सुकून बंद कर मेरे चेहरे पर कैसे बिखर जाते हो तुम्हारी आदतों की आदत हो गई है मुझे कि तुमसे इतनी मोहब्बत हो गई है

मुझे बातों बातों में तुम्हारी बातें याद आ जाती है ख्याल कुछ भी हो ख्याल तुम्हारा ही होता है सवाल कुछ भी हो जवाब तुम्हारा ही होता है कैसे बयां करूं मैं अपनी मोहब्बत को क्या दोपहर नशा तुम्हारा ही होता है बातों बातों में तुम्हारी बातें याद आ जाती है बातें कुछ और हो रही होती हैं मेरे होठों पर मुस्कान आ जाती है मुझे देखना और बस देखते रहना मेरी शर्म और तुम्हारा यू तकते रहना कुछ भी बहाना करके मुझसे मिलना ही आकर पास बैठ जाना कुछ नहीं कहना ही मुस्कुराना याद आ जाता है

तुम्हारा हर वक्त का पुराना बातों बातों में तुम्हारी बातें याद आ जाती है तुम ही नहीं तुम्हारी हर बात प्यारी लगती है तुम्हारी याद के साथ तुम्हारी हर बात दिल में उतर जाती है कैसे कहूं कि तुम्हारी तस्वीर कितना सताती है तुमसे मिलने को मुझे कितना बेकरार करती जाती है बातों बातों में तुम्हारी बातें याद आ जाती है

Pyar Bhari Shayari

हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा

कर दे नज़रे करम मुझ पर,
मैं तुझपे ऐतबार कर दूँ,
दीवाना हूँ तेरा ऐसा,
कि दीवानगी की हद को पर कर दूँ

आईना देखोगे तो मेरी याद आएगी
साथ गुज़री वो मुलाकात याद आएगी
पल भर क लिए वक़्त ठहर जाएगा,
जब आपको मेरी कोई बात याद आएगी

सोती हुई आँखों को सलाम हमारा
मीठे सुनहरें सपनों को आदाब हमारा,
दिल मे रहे प्यार का एहसास सदा ज़िंदा,
आज का यही है पैग़ाम हमारा।

प्यार तो दिल से होना चाहिये,
किस्मत का क्या है,
वो तो कभी भी बदल सकती है..!!

हँसता हुआ चेहरा तेरा इस दिल को
और भी Romantic बना देता …

Read More