प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना | Sansad Adarsh Gram Yojana

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर को ग्रीन इंडिया, क्लीन इंडिया के मकसद से स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की इसके बाद उन्होनें गांवों को स्वच्छ और विकसित बनाने के उद्देश्य से 11 अक्टूबर, 2014 को प्रधानमंत्री सांसद ग्राम योजना – Sansad Adarsh Gram Yojana की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना – Sansad Adarsh Gram Yojana

यह योजना नरेन्द्र मोदी की एक प्रतिष्ठित गांव विकास योजना है जो कि सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और विकास समेत गांवों के पूरे विकास पर आधारित है।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत करीब 2500 गांवों को 2019 तक इस योजना से जोड़े जाना का लक्ष्य है। इस योजना की एक अनोखी और बेहद खास बात यह है कि इसके तहत देश के सभी सांसदों ने एक गांव को गोद लिया और गोद लिए गए गांव में बुनियादी जरूरतों के हिसाब से विकास करवाया।

आपको बता दें कि करीब 800 सांसद हैं अगर हर एक सासंद तीन गांवों को गोद लेता है और गांवों की विकास की जिम्मेदारी लेता है तो 2019 तक 2500 गांवों को कवर करने का प्रधानमंत्री का मकसद पूरा हो सकता है। वहीं इस कार्यक्रम के तहत राज्य सरकारें, ग्राम पंचायतें, अपनी काफी अहम भूमिका निभा रहे हैं।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना का मुख्य लक्ष्य महात्मा गांधी की व्याख्या पर आधारित है।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना के अंर्तगत सांसद को अपने निर्वाचन क्षेत्र से अपनी पसंद के जिले की ग्रामीण इलाके से ग्राम पंचायत का चयन करना होता है। वहीं आपको बता दें कि जिस शहरी निर्वाचन क्षेत्रों में जहां ग्राम पंचायत नहीं है तो उस केस में सांसद आस-पास के ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र से भी ग्राम पंचायत को गोद ले सकता है और उसमें विकास करवा सकता है।

प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना के मुख्य उद्देश्य – Purpose of Prime Minister Sansad Adarsh Gram Yojna

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जो भी ग्राम पंचायत सांसद की तरफ से गोद ली गई हो उसका पूरा विकास करवाए और विकास के काम में तेजी लाए जिससे वहां रह रहे लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके।

  • प्रधानमंत्री सांसद ग्राम योजना का मकसद यह है कि जो भी ग्राम पंचायत सांसद ने चुनी है उस ग्राम पंचायत में रह रह लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाना और ज्यादा से ज्यादा विकास करवाना ताकि ग्राम पंचायत एक आदर्श ग्राम पंचायत बन सके।
  • प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम योजना का मुख्य लक्ष्य गोद ली
Read More

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना | Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana

Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana – प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्धारा शुरु की गई प्रमुख योजनाओं में से एक है। Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana – प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना को एक सामाजिक सुरक्षा योजना के तौर पर लॉन्च किया गया है जो कि अचानक किसी शख्स की मौत और विकलांगता पर इस योजना के तहत बीमा की राशि उपलब्ध करवाती है।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना – Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana

वहीं Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana – प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों को खासकर ग्रामीण इलाके में रहने वाले लोगों को बैंकिंग प्रणाली से जोड़ना है इसके साथ ही इस योजना का मकसद गरीब तबके के लोगों को लाभ दिलवाना भी है।

इसकी शुरुआत 9 मई, 2015 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोलकाता में की थी। जबकि इसकी घोषणा वित्त मंत्री अरूण जेटली ने 28 फरवरी, 2015 को वार्षिक बजट भाषण के दौरान की थी।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है ? – What is the Prime Minister’s Security Insurance Plan?

यह योजना एक तरह की दुर्घटना बीमा योजना है जो कि किसी व्यक्ति की आकस्मिक मौत और विकलांगता पर बीमा कवरेज देती है, आपको बता दें कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना को हर साल रिन्यू करवाना होता है।

वहीं इसकी खास बात यह है कि इस योजना के तहत आवेदनकर्ता को दुर्घटना बीमा पॉलिसी में सिर्फ 12 रुपए का वार्षिक प्रीमियम भी भरना होता है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन व्यक्ति को बीमा पॉलिसी उपलब्ध करवाना है जिनकी मौत दुर्घटना में अचानक हो जाती है या फिर उन लोगों को इस योजना का लाभ दिलवाना है जो रिस्क उठाने का काम करते हैं, और किसी दुर्घटना में अपनी जान गवां बैठते हैं या फिर शारीरिक रूप से अक्षम हो जाते हैं, तो ऐसे में उन्हें आर्थिक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े इसलिए इस योजना की शुरुआत की गई।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की खास बात यह है कि यह दुर्घटना बीमा पॉलिसी बहुत सस्ते दामों पर आवेदकों को उपलब्ध करवाता है, इसके साथ ही इस योजना के माध्यम से विकलांगता की स्थिति में भी वित्तीय मद्द सही ढंग से मिलती है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत सिर्फ उम्र 18 साल से 70 साल तक के लोग ही आवेदन कर सकते हैं लेकिन बशर्ते आवेदक के पास उसका बैंक अकाउंट होना चाहिए जिससे इस योजना के तहत भरा जाना वाला प्रीमियम पॉलिसी …

Read More

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना | Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana

देश के आर्थिक विकास और लोगों को लाभ पहुंचाने के मकसद से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तमाम योजनाएं लॉन्च की उनमें से एक है प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना – Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana जो कि एक तरह की जीवन बीमा पॉलिसी है।

जिसके तहत किसी भी धारक की मौत होने पर 2 लाख रुपए की बीमा राशि दी जाती है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना – Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana ये योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 9 मई 2015 को लॉन्च की थी, जबकि वित्त मंत्री अरूण जेटली ने अपने वित्तीय बजट भाषण में 28 फरवरी 2015 को इसकी घोषणा की थी।

आपको बता दें कि इस योजना के तहत आवेदक को 330 रुपए का प्रीमियम सालाना भरना होगा जिसे हर साल रिन्यू करवाना होता है। वहीं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना – Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana की खास बात यह है कि इसके तहत कोई भी व्यक्ति जीवन बीमा करवा सकता है।

Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना – Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana

इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी हम आपको नीचे दे रहे हैं कि जैसे कि इस योजना से क्या-क्या लाभ हैं, कौन इस योजना के तहत बीमा ले सकता है। इस योजना के लिए आवेदन कैसे करें इसके साथ ही इस योजना के तहत क्लेम कैसे किया जाता है, इसके अलावा इस योजना के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए समेत तमाम जानकारी के बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का उद्देश्य – Purpose of Pradhan Mantri Jyot Jyoti Bima Yojna

इस योजना का मुख्य उद्देश्य मध्यम वर्ग और गरीब लोगों के लिए जीवन बीमा पॉलिसी करवाने का है। यह योजना प्रधान मंत्री जन धन योजना से जुड़ी हुई है।

प्रधानममंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लाभ – Benefits of the Prime Minister Jyoti Jyoti Bima Yojana

  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के तहत जो भी बीमा पॉलिसी धारक होता है। उसकी मौत के बाद नॉमिनी को 2 लाख रुपए का जीवन बीमा दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत अगर पॉलिसी धारक प्रीमियम भरता है तो उसे इनकम टैक्स की धारा 80 C के तहत टैक्स बेनिफिट भी मिलेगा।
  • प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत 1 साल का कवरेज मिलता है साथ ही पॉलिसी धारक की मौत के बाद उनके परिवार वालो को भी 2 लाख रुपये का कवरेज मिलता है।
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का प्रधानमंत्री जन धन योजना
Read More

प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना | Pradhan Mantri Mudra Yojana

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के छोटे व्यापरियों और लघु उद्योगों को वित्तीय सहायता देने के मकसद से प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना की शुरुआत की। इस योजना के माध्यम से छोटे व्यापारी बैंक से लोन लेकर अपना व्यापार बढ़ा सकते हैं साथ ही नया बिजनेस शुरु भी कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना -Pradhan Mantri Mudra Yojana

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 अप्रैल 2015 को इस योजना की शुरुआत की थी। प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना की शुरुआत 20 हजार करोड़ रुपए के कॉर्पस फंड और 3,000 करोड़ रुपए के क्रेडिट गारंटी कॉर्पस के साथ हुई ।

मुद्रा योजना का मुख्य उद्देश – The main purpose of the money scheme

  • मोदी सरकार की मुद्रा बैंक योजना के दो मुख्य मकसद हैं पहला व्यापारियों को आसानी से लोन दिलवाना और दूसरा मकसद है व्यापार के जिए रोजगार सृजन करना।
  • व्यापार के लिए बैंक से लोन पास कराना किसी मुश्किल से कम नहीं था। लोगों को इसके लिए महीनों बैंक के चक्कर लगाने पड़ते थे जिससे ज्यादातर लोग लोन लेने में कतराते थे लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस योजना के जरिए लोगों को आसानी से लोन लेने की सुविधा दी है। जिससे न सिर्फ लोगों में स्वरोजगार का भाव प्रकट हुआ बल्कि उन्हें अपना बिजनेस बढ़ाने में भी काफी सहायता मिली।
  • इस योजना का मुख्य मकसद लघु उद्योगों को बढ़ावा देना है साथ ही नए रोजगार के अवसर प्रदान करना है। आपको बता दें कि भारत सरकार ने पहले भी कई योजनाएं शुरु की हैं जो छोटे व्यापारियों की आर्थिक और तकनीकी मद्द करती हैं। मुद्रा योजना एक तरह से देश के सूक्ष्म क्षेत्र का समर्थन करने के लिए हैं ।
  • मुद्रा योजना के माध्यम से खाद्य सेवा, कारीगरों, विक्रेताओं और शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मुद्रा योजना के तहत बढ़ाया जाएगा ।
  • मुद्रा योजना के तहत आम लोगों के साथ वित्तीय संस्थानों से जोड़े जाने का का भी लक्ष्य है।
  • इस योजना का का उद्देश्य छोटे व्यापारी को अपनी क्षमताओं का विस्तार करने का भी है।
  • इस योजना का मकसद कर्ज लेने वालों को ढांचागत दिशानिर्देश उपलब्ध करवाना भी है।

मुद्रा बैंक योजना में महिलाओं पर फोकस

  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का पूरा नाम माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाईनेंस एजेंसी हैं। मोदी सरकार ने इस योजना के तहत महिलाओं पर अच्छा खासा ध्यान दिया है। जिसकी वजह से लोन लेने वालों में महिलाओं को बढ़ोतरी हुई है।
  • इस योजना की मदत से ज्यादातर महिलाएं आसानी से लोन लेकर अपने बिजनेस को बढ़ावा
Read More

प्रधानमंत्री जन धन योजना | Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana – प्रधानमंत्री जन धन योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अहम उपलब्धियों में से एक है। 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस योजना की शुरुआत की। इस योजना का मकसद हर परिवार को बैंकिंग सुविधाओं का लाभ देना और हर व्यक्ति का बैंक अकाउंट उपलब्ध करवाना था।

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

प्रधानमंत्री जन धन योजना – Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana

क्या है जन धन योजना, इस योजना के क्या-क्या फायदे हैं, इस योजना के लिए ऑनलाइन एप्लाई कैसे करें, कैसे खोले जन-धन खाता, योजना के लिए अहम दस्तावेज समेत तमाम जानकारी इस योजना के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जो कि इस प्रकार है –

क्या है जन-धन योजना ? – What is the Jan-Dhan scheme?

जन धन योजना जिसका मतलब है “सबका साथ-सबका विकास” जी हां इस योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक राष्ट्रीय मिशन की तरह शुरू किया था। जिसका मकसद लोगों को बैंकिंग, बचत और जमा खाता जैसी वित्तीय सेवाएं उपलब्ध करवाना था।

इस योजना के तहत ऐसी आबादी को बैंकिंग सुविधाओं से जोड़ा जा रहा है। जो कि अभी तक बैंकिग सुविधओं का लाभ नहीं ले रहे थे। यह योजना गरीब को ध्यान में रखकर बनाई गई है, जिससे उनमें बचत की भावना का विकास हो सके, अपने भविष्य की सुरक्षा का ख्याल रख सकें और आत्मनिर्भर बन सकें।

जीरो बैलेंस पर खुलने वाले इस खाते में लोगों को RUPAY डेबिट कार्ड उपलब्ध करवाया जाएगा इसके साथ ही एक लाख रुपए तक का दुर्घटना बीमा कवर भी दिया जाता है।

जन धन योजना के उदेश्य – Purpose of Jan Dhan Yojana

  • कमजोर वर्गो और कम आय वर्गो को अलग-अलग वित्तीय सेवाएं जैसे मूल बचत बैंक खाता उपलब्ध करवाने का उद्देश्य।
  • जरूरत के अनुसार कर्ज या ( लोन) की उपलब्धता करवाने का उद्देश्य।
  • विप्रेषण सुविधा, बीमा तथा पेंशन सुनिश्चित करने का उद्देश्य।

जन-धन योजना से लाभ – Jan Dhan Yojana Benefits

  • जमा पर ब्याज मिलेगी।
  • 1 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर करेगा।
  •  न्यूनतम शेष राशि की कोई जरूरत नहीं है।
  • 30,000 रुपए का जीवन बीमा लाभार्थी को उसकी मौत बशर्तें देय होगा।
  • प्रति परिवार केवल एक खाते में 5000 रुपए तक ओवरड्राफ्ट सुविधा मिलेगी।
  • 6 महीने के बाद ओवरड्राफ्ट सुविधा मिलेगी।
  • पेंशन, बीमा उत्पादों तक पहुंच मिलेगी।
  •  रुपे डेबिट कार्ड का फायदा मिलेगा।
  • धन के आदान-प्रदान में आसानी होगी।

जन धन खाता की खास बातें – Special Points of Jan Dhan Account

  • जन धन खाता को जीरो बैलेंस
Read More

आख़िर क्या है मिड-डे-मील योजना?

आख़िर क्या है मिड-डे-मील योजना – What is Midday Meal Scheme

Midday Meal Scheme

Midday Meal – मिड-डे मील भारत सरकार की एक लोकप्रिय योजनाओं में से एक है। यह स्कीम भारत सरकार द्धारा चलाई गई एक ऐसी स्कीम है जिसके तहत सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे छोटी आयु के बच्चों को भोजन मुहैया करवाया जाता है।

सरकार का इस स्कीम का लागू करने का मुख्य उद्देश्य बच्चों को उचित पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाना है ताकि पोषण की कमी की वजह से कोई भी बच्चा कुपोषण जैसी गंभीर बीमारियों का शिकार नहीं हो सके और एक स्वस्थ भारत का निर्माण हो सके इसके साथ ही माता पिता को अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करना है।

जाहिर है कि भारत में पोषण की कमी की वजह से हर साल काफी तादाद में बच्चों की मौत होती है। इसलिए सरकार ने बच्चों को उचित पोषण देने के मकसद से मिड-डे मील योजना – Midday Meal Scheme की शुरुआत की थी।

भारत सरकार द्धारा चलाई जा रही इस स्कीम में सरकारी स्कूल में प्राइमरी और अपर प्राइमरी में 8वीं तक पढ़ने वाले बच्चों को दोपहर में ताजा खाना तैयार कर दिया जाता है। 1995 से शुरू हुई ये योजना पूरे भारत के सभी सरकारी स्कूलों में चलाई जा रही है।

आपको बता दें कि सरकार की इस लाभकारी योजना का लुफ्त हर रोज करोड़ो बच्चे उठाते हैं। इस योजना का मुख्य मकसद बच्चों को पोषण युक्त भोजन उपलब्ध करवाना और आज के पीढ़ी को गंभीर बीमारियों से बचाना है।

मिड-डे मील स्कीम की कब हुई शुरुआत:

देश में औपराचिक रूप से इस योजना की शुरुआत 15 अगस्त, 1995 में की गई थी। आपको बता दें कि पहले पड़ाव में इस स्कीम को 2000 से ज्यादा ब्लॉकों के स्कूलों में लागू किया गया था। वहीं इस स्कीम के सफल होने के बाद साल 2004 में इसे पूरे देश के सरकारी स्कूलों में लागू कर दिया  गया था। और अब ये योजना  समस्त भारत में में चल रही है।

मिड-डे मील स्कीम का मुख्य मकसद – Objectives of Mid day Meal Programme:

सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने और उन्हें नियमित तौर पर स्कूल आने और बच्चों को स्कूल न छोड़ने के लिए प्रेरित करना और बच्चों में होने वाले कुपोषण को दूर करने के लिए यह योजना चालू की गई थी। आइए इस योजना की शुरुआत करने के उद्देश्यों के बारे में और अधिक जानते हैं।

बच्चों को स्कूलों

Read More

क्या है मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना और किसानों के लिए क्यों है जरूरी ?

Soil Health Card Scheme Information

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों को लाभ पहुंचाने के मकसद से कई कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की है। कोई भी वर्ग ऐसा नहीं है जिसे मोदी सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं पहुंच रहा हो। मोदी सरकार की तमाम योजनाओं में से एक है मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना जिसकी आज हम अपने इस लेख में बात करेंगे।

क्या है मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना और किसानों के लिए क्यों है जरूरी? – Soil Health Card Scheme Information

यह योजना भारत सरकार किसानों के भले के लिए लॉन्च की है। दरअसल कई किसान ऐसे भी हैं जो अपने अनुभव से फसल तो उगा लेते हैं लेकिन अच्छी उपज नहीं होने की वजह से उन्हें इसका ज्यादा फायदा नहीं मिल पाता।

क्योंकि कई बार वे जानकारी नहीं होने की वजह से सही फसल का चुनाव नहीं कर पाते, या फिर उन्हें इस बात का अंदाजा नहीं होता कि फसल की अच्छी पैदावार के लिए उनके खेत की  मिट्टी में कौन सी खाद ज्यादा चाहिए या फिर किस खाद का कम इस्तेमाल होगा।

और मिट्टी की उर्वरता शक्ति को बढ़ाने के बारे में भी किसानों की सही जानकारी नहीं होने से वे ज्यादा मुनाफा नहीं कमा पाते जितना कि वे कमा सकते हैं।और तो और कई बार इसकी वजह से उन्हें भारी नुकसान भी झेलना पड़ता है।

जिसको देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों के कल्याण के लिए  फरवरी, 2015 में  मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना लॉन्च की है। इस योजना के तहत सरकार किसानों के लिए एक सोइल कार्ड जारी करती है। जिसके तहत किसान अपने खेत की मिट्टी की टेस्टिंग करा सकते हैं और इसके बाद वे अपने खेत से फसल की अच्छी पैदावार कम लागत में ही प्राप्त कर सकते हैं।

आपको बता दें कि सरकार की तरफ से जारी किए गए सोइल हेल्थ कार्ड में किसानों की जमीन में किस तरह की मिट्टी है, इसकी पूरी जानकारी होती है। इसके साथ ही इस कार्ड में यह भी जानकारी होगी कि अधिकतम लाभ पाने के लिए किसानों को किसी मिट्टी में फसल पैदा करनी चाहिए।

इसके साथ ही इस कार्ड में किसानों के लिए ये भी सुझाव दिए जाएंगे कि अच्छी उपज के लिए किसानों को कौन-कौन से उपाय करना चाहिए।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का इस योजना के तहत  3 साल के अंदर भारत में 14 करोड़ किसानों को यह कार्ड करने का उद्देश्य है।

जिससे किसानों को कम कीमत में अच्छी …

Read More

‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ | Swachhata Hi Seva Movement

Swachhata Hi Seva Movement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छता अभियान ने जहां देश में नई क्रांति ला दी है वहीं देश के हर कोने में लोग आज साफ-सफाई के प्रति जागरूक भी हुए हैं। स्वच्छता अभियान से मिली सफलता के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के मौके पर  स्वच्छता ही सेवा आंदोलन‘ (Swachhata Hi Seva Movement)  के माध्यम से देश के राष्टपिता महात्मा गांधी को सच्ची श्रद्दांजली देंगे।

‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ – Swachhata Hi Seva Movement

पीएम मोदी ने 15 सितंबर से स्वच्छता ही सेवा आंदोलन‘ – Swachhata Hi Seva Movement की शुरुआत करने की घोषणा की है। यह अभियान 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक गांधी जयंती तक चलेगा।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 4 साल पहले गांधी जयंती पर ही स्वच्छता अभियान की शुरुआत की थी और इन 4 सालों में सफाई के प्रति लोग काफी हद तक जागरूक हुए हैं मानो कि स्वच्छता अभियान के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने सफाई के लिए लोगों के मन में एक नई चेतना का विकास किया है।

जिसके तहत हर क्षेत्र के लोगों ने सफाई मिशन में अपना भरपूर सहयोग भी दिया है। दिग्गज नेता, राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता, शैक्षणिक संस्थान, समाज सेवा संस्थान समेत, फिल्म स्टार, बॉलीवुड सभी ने मोदी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने में अहम भूमिका निभाई है। वहीं इसके लिए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने सभी लोगों का धन्यवाद किया और उनकी जमकर प्रशंसा भी की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बापू का ही आशीर्वाद है कि बीते 4 सालों में सभी भारतवासी स्वच्छ क्रांति के दूत बन चुके हैं. देश के हर कोने में समाज के हर वर्ग के लोगों ने स्वच्छ भारत के उनके सपने को पूरे करने के लिए जो भी कर सकते हैं वह सब किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने एक वीडियो के माध्यम से भी लोगों से अपील की है कि सभी लोग ‘स्वच्छता ही सेवा’ आंदोलन का हिस्सा बने साथ ही उन्होनें ‘स्वच्छ भारत’ बनाने की कोशिशों को मजबूत करने की भी अपील की है।

यही नहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने टिव्टर अकाउंट में ‘स्वच्छता ही सेवा आंदोलन’ की शुरुआत करने की बात कही थी उन्होंने कहा, ‘मैं उन लोगों के साथ बातचीत करना चाहता हूं जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन को मजबूत करने के लिए ग्राउन्ड लेवल पर मेहनत से काम किया है’.

आपको बता दें कि स्वच्छता …

Read More