Best Self Respect Shayari in Hindi – आत्मसम्मान शायरी हिंदी में

Self Respect Shayari in Hindi

Self Respect Shayari in Hindi, एक प्रकार की प्रेरक शायरी जो हम आपके लिए इस पोस्ट में ला रहे हैं। आजकल यह एक बहुत ही आम मुद्दा है कि हम अवसाद का सामना कर रहे हैं और इसके लिए सबसे अच्छी दवा है प्रेरणा। अपने जीवन में आपने बहुत से लोगों को प्रेरित किया लेकिन वास्तविकता यह है कि आप दिन-ब-दिन अपने आप को गिरते जा रहे हैं। यदि आप इस मुद्दे का सामना कर रहे हैं तो इस पोस्ट को पढ़ें आप निश्चित रूप से आत्मविश्वास प्राप्त करेंगे। यदि आप इस पोस्ट को पढ़ते हैं तो आप खुद का आकलन कर सकते हैं और जीवन के लिए अपने मूल्यों को भी समझ सकते हैं। Self Respect Quotes आपकी मानसिक क्षति को ठीक करने के लिए एक दवा के रूप में कार्य करता है और साथ ही हम यह भी नहीं चाहते हैं कि हमारे उपयोगकर्ता डीमोटिनेटेड महसूस करें।

shayarisms4lovers.in- New Hindi Shayari on Love, Sad, Funny, Friendship, Bewafai, Dard, GoodMorning, GoodNight, Judai, Whatsapp Status in Hindi


Self Respect Shayari in Hindi font

Aaina me khud ko dekho
Apna keemat aaega najar
Aap khud ki jitni izzat karoge
Log aapko utna hi izzat denge

आईना मे खूद को देखो
आपना किमत आएगा नज़र
आप खुद की जितनी इज्जत करोगे
लोग आपको उतना ही इज्जत देंगै


Paiso keliye nehi
Kaam karo toh iman ke liye
Chahe daulat na kama payo
Par izzat pe koi daag nehi ayegi
Kyki har daag achhe nehi hote

पैसो केलिए नेही
काम करो तो इमान के लिए
चाहे दौलत ना कामा पायो
पर इज्जत पे कोई दाग नेही आयेगी
क्युकी हर दाग आछे नेही होते


आत्मसम्मान शायरी

dhanaraashi ho kitni bhi
Kharid le mujhe kisiki majal nehi
Lekin dekha jab khariddar ko pehli bar
Hum to khud hi beek geye

धनराशी हो कितनी भी
खरिद ले मुझे किसि की मझाल नेही
लेकिन देखा जब खरिद्दार को पेहली बार
हम तो खूद ही बीक गेये


Shayari on Self Attitude | स्वाभिमान शायरी

Har patang ka dastan hai yahi
Aant me jana hai Kachre ke dher me
Phirbhi harbar manjhre badalkar
Udta hai aasman ke uchai me

हर पतंग का दास्ताँ है ऐही
आन्त मै जाना है काचरे के धेर में
फिर भी हरबार मंझरे बदल कर
उदता है आसमान के उचाइ मै


self respect attitude shayari in hindi

Mathe pe Kapte huye hath rakhkar bola
Kuch bhi karo par atmasamman khona nehi
uss baat me kuch aisi takat thi
Jo mujhe jamane bhar ki daulat de di

माथे पे …

Read More