उदयगिरि – Udayagiri Caves

दोस्तों नमस्कार, क्या आप जानते हैं उदयगिरि गुफाएं “Udayagiri Caves” क्यों इतना प्रसिद्द है। भारत देश अपनी पुरातन संस्कृतियों और संस्कारों के लिए विश्व-विख्यात है। भारत देश में ऐसे कई मंदिर और शिवालय हैं जो देश-विदेश में अपनी छाप छोड़े हुए हैं।

लेकिन क्या आप यह जानते हैं की मंदीरों के अलावा भारतीय पुरातत्व की एक खास कड़ी “गुफाएं” भी हैं। जी हाँ, और इसी कड़ी में आज हम आपको उदयगिरि के बारे में बताने जा रहें हैं जो अपनी आप में भारतीय पुरातत्व का अनूठा संगम हैं। आइये जानते हैं उदयगिरि Udayagiri Caves के बारे में…


उदयगिरि – Udayagiri Caves

Udayagiri Caves
Udayagiri Caves

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में में स्थित उदयगिरि की गुफाएं कई ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहरों के लिए प्रसिद्ध है। यह विदिशा से मात्र 7  किलोमीटर दूर और राजधानी भोपाल से 58 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। उदयगिरि की गुफाएं भारत के सबसे महत्वपूर्ण पुरातात्विक स्थल है और भारतीय पुरातात्विक सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित स्मारक है।

यह गुफाएं विदिशा से 6 किलोमीटर दूर बेतवा और वेश नदी के बीच में स्थित है इन गुफाओं में भारत के कुछ प्राचीनतम हिंदू मंदिर और हिंदू भगवान के चित्र सुरक्षित हैं। उदयगिरि को पहले “निचैगिरी” के नाम से भी जाना जाता था। कालिदास ने भी इसे इसी नाम से संबोधित किया है। 10 वीं शताब्दी में जब विदिशा धार के परमारो के हाथ में आ गया तो राजा भोज के पौत्र उदयादित्य ने अपने नाम से इस स्थान का नाम उदयगिरि रख दिया। 


टाइमिंग व फीस 

यदि आप उदयगिरि की गुफाओं को घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो इससे पहले उसकी टाइमिंग के बारे में जान लेना अति आवश्यक है।

उदयगिरि गुफाएं सुबह 9:00 बजे से लेकर शाम तक 6:00 बजे तक खुली रहती है इस दौरान आप सभी यहां घूमने आ सकते हैं।

उदयगिरि गुफा में एंट्री या घूमने के लिए कोई भी शुल्क नहीं देना पड़ता है।


उदयगिरि का निर्माण

4th से 6th शताब्दी के बीच गुप्त काल जब पत्थरों को काटकर इन गुफाओं को बनाया गया तो उन पर कुछ जानकारियां भी उकेर दिया गया। उनके दी गई आज यही अभिलेख हमें गुप्त काल के शासकों चंद्रगुप्त द्वितीय और कुमारगुप्त के बारे में हमारी समझ बढ़ाते हैं। गुप्त काल के शासन में एक स्थायत्व था, माना जाता है कि कला और शिल्प गुप्त शासकों की काफी दिलचस्पी थी उनके शासन के दौरान निर्माण की तकनीक में भी काफी विकास हुआ।

आइए जानते हैं इन गुफाओं

Read More