Talash shayari

तलाश मुझे थी और भटक रहे थे वो,
दिल हमारा था और धड़क रहा था उनका।
प्यार का खेल भी अजीब होता है,
आंसू हमारे थे और सिसक रहे थे वो।

Talash Mujhe Thi Or Bhatak Rahe The Wo
Dil Hamara Tha or Dhadhak Raha Tha Unka
Pyar ka khel bhi Ajib Hota hain
Aasue Hamare the or sisak Rahe the Wo

Leave a Reply