Two step verification kya hai

हेलो दोस्तों, आज हम बात करेंगे tow step verification के बारे में 2 स्टेप वेरीफिकेशन क्या होती है और यह किस प्रकार काम करती है और tow step verification क्यों जरूरी है इन सभी बातों पर हम विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे |

सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि tow step verification क्या होती है|जब भी हम कोई चीज सिक्योरिटी रीजन के लिए खोलते हैं तो या फिर मंजूरी देते हैं तो वह एक बार और हम से मंजूरी मांगी है किसी और तरीके से इसी चीज को tow step verification कहते हैं |

सीधे तौर पर अगर कहा जाए तो एक ही काम को करने के लिए दो बार मंजूरी मांगना अलग अलग तरीके से ताकि कोई और गलत इस्तेमाल ना कर सके इस चीज का सिर्फ इसका मालिक इसका इस्तेमाल कर सकें इसी चीज को tow step verification कहा जाता है |

हम सभी लोगों ने बैंक व्हाट्सएप जीमेल फेसबुक अकाउंट में tow step verification के सिक्योरिटी जरूर देखी होगी और बहुत से लोगों ने उसे ऑन करके भी रखा होगा इसलिए शायद याद कोई ऐसा इंसान होगा जिसे इसके बारे में ना पता हो |

 क्यों जरूरी है

आज के जमाने में इंटरनेट से लोग अलग-अलग प्रकार की जानकारियां हमेशा हासिल करते रहते हैं और बहुत से लोग तो इंटरनेट से बहुत सारे क्राइम भी कर देते हैं | जैसे किसी दूसरे इंसान की पर्सनल लाइफ में दखल अंदाजी देना |

इंटरनेट से ही किसी के बैंक से पैसे निकालना या फिर चोरी कर लेना ऐसी वारदातें हमें आए दिन देखने को मिलती हैं इसीलिए tow step verification बहुत जरूरी है ताकि अगर पहली कड़ी कोई तोड़ ले तो दूसरी कड़ी तोड़ने के लिए उसे हमारी मंजूरी की जरूरत पड़े तो हम उसे नहीं देंगे और हम बच जाएंगे |

बहुत कुछ करते हैं जैसे कि ऑनलाइन शॉपिंग नेट बैंकिंग और जीमेल अकाउंट को यूज करना लेकिन हमें ध्यान से सोचना चाहिए क्या यह सिर्फ तरीका है हमारे इस्तेमाल करने का या नहीं |

 काम करने का तरीका

अब जैसा कि हम सभी लोगों ने जान लिया है कि tow step verification क्या होती है और यह हमारे लिए कितनी जरूरी है बिना tow step verification के तुम हमारा बहुत संस्थान भी हो सकता है लेकिन थोड़ा बहुत सतर्क हमें भी रहना चाहिए |

अब हम यह जान लेते हैं कि tow step verification काम किस प्रकार करता है|अगर आपने कोई गवर्नमेंट का फॉर्म भरा होगा जिसमें आपने अपनी जीमेल अकाउंट और मोबाइल नंबर भरा होगा और गलती से वह फोन किसी और के हाथ लग जाए तो वह आपके जीमेल अकाउंट और मोबाइल नंबर को वर्क है आपके अकाउंट से पैसे निकाल सकता है लेकिन यह सब तब संभव था जब tow step verification नहीं थी |

लेकिन आज tow step verification है अगर कोई सभी डिटेल्स भर लेता है और ओके करता है तो एक मैसेज आता है जो आपके मोबाइल नंबर पर बजेगा उस मैसेज के अंदर 4 अंकों का एक पासवर्ड होता है जो पासवर्ड उस आदमी को पता लगे तभी वह पेमेंट का आदान प्रदान कर सकता है |

इस पासवर्ड को वन टाइम पासवर्ड कहते हैं जिसे सामान्य भाषा में ओटीपी भी कहा जाता है तो आप समझ लीजिए कि जो यह ओटीपी है वही tow step verification का कार्य के लिए करती है |

जब भी आपके जरूरी चीजों पर tow step verification एक्टिवेट होती है तो उस पर दिया गया आपका मोबाइल नंबर पर ओटीपी आता है |

Two step verification एग्जांपल

हमने बहुत ही जगह पर tow step verification देखा होगा जैसे कि हमारे व्हाट्सएप पर हमारे फेसबुक अकाउंट पर या फिर जीमेल अकाउंट पर भी अब एक लेटेस्ट उदाहरण के तौर पर हम समझ लेते हैं यदि आपके मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप पर tow step verification नहीं किया होगा तो आपका व्हाट्सएप कोई भी हैक कर सकता है वह भी बहुत ही आसानी से |

जिससे वह आपकी फोटो भी देख सकता है और किसी को कोई भी मैसेज भी कर सकता है वह किसी को भी कोई भी गलत मैसेज कर देगा लेकिन उसका परिणाम आपको ही भुगतना पड़ेगा |

अगर  आपके व्हाट्सएप के ऊपर tow step verification ऑन नहीं है तो आप उसे जरूर ऑन कर लीजिए सबसे पहले आप अपने व्हाट्सएप अकाउंट को खोलिए उसको खोलने के बाद जब आप बाई तरफ  सबसे ऊपर देखेंगे तो आपको तीन बिंदिया दिखाई देंगे उन पर जब आप क्लिक करेंगे तो आपको एक सेटिंग्स का ऑप्शन दिखाई देगा |

जिसके बाद आपको अकाउंट वाले ऑप्शन में क्लिक करना है जब सेटिंग की ऑप्शन खुल जाए तो आपको अकाउंट वाले ऑप्शन के ऊपर क्लिक करना है उसके बाद आपको tow step verification वाले ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर आपको टच करना है फिर आपको 6 अंकों की pin भरने को कहेगा जिसको आपने भर देना है |

इसके बाद आपको वही पासवर्ड दोबारा भरने को कहेगा आपको दोबारा भर देना है पासवर्ड आप अपनी मर्जी मुताबिक रख सकते हैं  जब आप इसके अंदर pin भर देंगे तो नेक्स्ट करने पर आपको यह मेल आईडी भरने को कहेगा फिर आप अपनी ईमेल आईडी भी इसमें भरत दीजिएगा व्हाट्सएप के अंदर आपकी tow step verification ओके हो जाएगी |

Tow step verification के फायदे

इसका सबसे पहला फायदा तो यही है कि नॉर्मल के मुकाबले और को इसमें ज्यादा एडवांस सिक्योरिटी देखने को मिल जाती है |

यदि किसी को आपका पासवर्ड पता भी लग जाता है तब भी आपको टेंशन लेने की कोई बात नहीं है होती बिना आपकी मर्जी के वह आपका अकाउंट नहीं ओपन कर पाएगा क्योंकि उसका  वन टाइम पासवर्ड तो आप ही के पास रहेगा |

नुकसान

इसका केवल एक ही नुकसान है अगर आपके मोबाइल के अंदर की सिम जिस पर आपका वन टाइम पासवर्ड आता है वह कहीं खो जाती है तो फिर आप को काफी नुकसान भरना पड़ सकता है क्योंकि उस सिम से आदमी वन टाइम पासवर्ड भर के कुछ भी कर सकता है |

%d bloggers like this: