Ye dil bura hi sahi par sare bazar, Shayari

Ye dil bura hi sahi par sare bazar to na kaho,
Aakhir tumne bhi isme kuchh din gujare hai.

ये दिल बुरा ही सही पर सरे बाज़ार तो ना कहो,
आखिर तुमने भी इसमें कुछ दिन गुजारे है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: